शिल्प हाट में खरीददारी, मंच पर आदिम व लोक कलाओं ने रंग जमाया

शिल्प हाट में खरीददारी, मंच पर आदिम व लोक कलाओं ने रंग जमाया

शिल्पग्राम उत्सव दिन-3
 
शिल्प हाट में खरीददारी, मंच पर आदिम व लोक कलाओं ने रंग जमाया
‘‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’’ की थीम पर आयोजित उत्सव के तीसरे दिन कार्यक्रम की शुरूआत गुजरात के चोरवाड़ अंचल की श्रमिक महिलाओं द्वारा कार्य के दौरान अपने कार्य को गति देने के लिये किया जाने वाले नृत्य ‘‘टिप्पणी’’ से हुई। हाथ में लकड़ी की टिप्पणी लिये जमीन को पीट कर समतल बनाने की प्रक्रिया को सुंदर ढंग से दर्शाया। कार्यक्रम में महाराष्ट्र की कोंकणा जन जाति के कलाकारों ने देवी उपासक नृत्य ‘‘सौंगी मुखवटे’’ दिखाया। गुजरात और महाराष्ट्र के सीमावर्ती वनांचल में रहने वाले कलाकारों इस प्रस्तुति में शेर की अठखेलियाँ दर्शकों को खूब रास आई।

उदयपुर, 23 दिसम्बर 2019 । पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से आयोजित दस दिवसीय ‘‘शिल्पग्राम उत्सव-2019’’ में सोमवार को हाट बाजार में दिन भर खरीददारी चलती रही तथा शाम को रंगमंच पर सौंगी मखौटे, टिप्पणी व घूमर ने आंचलिक कलाओं के रंगों से उत्सव को आदिम व लोक रंग से सराबोर कर दिया।

‘‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’’ की थीम पर आयोजित उत्सव के तीसरे दिन कार्यक्रम की शुरूआत गुजरात के चोरवाड़ अंचल की श्रमिक महिलाओं द्वारा कार्य के दौरान अपने कार्य को गति देने के लिये किया जाने वाले नृत्य ‘‘टिप्पणी’’ से हुई। हाथ में लकड़ी की टिप्पणी लिये जमीन को पीट कर समतल बनाने की प्रक्रिया को सुंदर ढंग से दर्शाया। कार्यक्रम में महाराष्ट्र की कोंकणा जन जाति के कलाकारों ने देवी उपासक नृत्य ‘‘सौंगी मुखवटे’’ दिखाया। गुजरात और महाराष्ट्र के सीमावर्ती वनांचल में रहने वाले कलाकारों इस प्रस्तुति में शेर की अठखेलियाँ दर्शकों को खूब रास आई।

इस अवसर पर किशनगढ़ से आई नृत्यांगनाओं ने राजस्थान के रजवाड़ों की महिलाओं द्वारा किया जाने वाला घूमर नृत्य में राजस्थान की सौम्य संस्कृति को दर्शाया। 

इस अवस पर असम का ढाल थुंगड़ी में बांसुरी व ढोल की थाप पर असमी नृत्यांगनाओं ने हाथ में ढाल और तलवार ले कर नृत्य में शोर्य गाथा का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। इस अवसर पर कोरियोग्रफ कार्यक्रम भी दर्शाया गया। कार्यक्रम में अलवर के भपंग कलाकार ने लोक गीत से अपनी परंपरा को दर्शाया। इसके अलावा कालबेलिया नृत्य व त्रिपुरा का लेबांग बुमिनी नृत्य लुभावनी प्रस्तुति रही।

इससे पूर्व दोपहर में शिल्पग्राम के हाट बाजार में विभिन्न क्षेत्रों में लोगों ने कलात्मक वस्तुओं की खरीददारी । इनमें दर्पण बाजार में लकड़ी के फर्नीचर, कलात्मक फोटो फ्रेम, काॅटन बेडशीट, मिट्टी के कलात्मक पाॅट्स, आर्टिफिशियल ज्वैलरी, वूलन कारपेट, बनारसी साड़ियां, विभिन्न प्रकार के परिधान, काॅटन साडियाँ, जूट के बैग्स, मोजड़ी, कोल्हापुरी चप्पल, फुलकारी काम, कच्छी शाॅल, बाड़मेरी पट्टू व जैकट्स आदि की दूकानों पर लोगों ने खरीददारी की। 

मेले में परिवार और दोस्तों के साथ लोगों ने विभिन्न स्टाॅल्स पर आइसक्रकीम, हरियाणा का जलेबा, पकौड़ों, दाल बाटी चूरमा, मक्की की पापड़ी, राब आदि का आनन्द उठाया। इसके अलावा लोगों ने ऊँट की सवारी, बैलगाड़ी की सवारी कर सेल्फी खींच कर सोशल मीडिया पर शेयर किया।


 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web