राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर ढीकली में बालिकाओं की कार्यशाला

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर ढीकली में बालिकाओं की कार्यशाला

"बालिकाए अनमोल होकर देश की धरोहर उन्हें बचाना और पढ़ाना हमारा नैतिक दायित्व" - डॉ बामनिया

 

PCPNDT सेल द्वारा राजकीय मॉडल पब्लिक रेजिडेंशियल स्कूल ढीकली मे राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष में कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें सीएमएचओ डॉक्टर शंकर एच बामनिया तथा सदस्य के रूप में प्रधानाचार्य श्रीमती डिंपल घोगरा, पंकज जोशी, चिन्मय भट्ट, पीसीपीएनडीटी कोर्डिनेटर श्रीमती मनीषा भटनागर उपस्थित रहे। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शंकर एच बामनिया ने बच्चियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी  को हमेशा आगे बढ़ने के प्रयास करते रहना चाहिए ,प्रयास करने से ही जीवन में सफलता मिलती है। बालिकाए अनमोल होकर देश की धरोहर उन्हें बचाना और पढ़ाना हमारा नैतिक दायित्व हैं

डा बामानिया ने बताया कि चिकित्सा एवं शिक्षा के क्षेत्र के साथ ही हवाई जहाज चलाने और अंतरिक्ष के महत्वपूर्ण मिशन में महिलाएं देश  के विकास में बराबर भागीदारी निभा रही। लिंगानुपात के बारे में के बारे में भी जानकारी दी गई ।उनके द्वारा मेधावी 10 छात्राओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

श्रीमती मनीषा भटनागर द्वारा बच्चियों को सरकार द्वारा संचालित मुखबिर योजना तथा पीसीपीएनडीटी एक्ट तथा सोनोग्राफी मशीन का किस तरह गलत उपयोग होता है। मुखबिर योजना में दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि 3 लाख रूपये में से मुखबिर गर्भवती महिला एवं सहयोगी को दी जाती है बताया गया।

प्रधानाचार्य श्रीमती डिंपल घोगरा द्वारा बताया गया कि सरकार ने बालिका भ्रूण हत्या रोकने के लिए मजबूत कानून बना हुआ है। कविता के माध्यम से बालिकाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरणा दी गई ।इ स कार्यक्रम में स्कूल की 350 छात्राऐं तथा राकेश, विक्रम पाल तथा राधा गमेती उपस्थित रहे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal