टमाटर की आसमान छूती कीमतों से वेज थाली 28% हुई महंगी

टमाटर की आसमान छूती कीमतों से वेज थाली 28% हुई महंगी

Veg Thali पर महंगाई की मार!
 
veg thali

Tomato Price Hike: चावल-आटा-दाल और सब्जियों में खासकर टमाटर की बढ़ती कीमतों के कारण जुलाई 2023 में जून के मुकाबले घर पर ‘शाकाहारी थाली’ (Veg Thali) और नॉन-वेज थाली तैयार करने की लागत बढ़ गई है।

सोमवार को रेटिंग एजेंसी क्रिसिल (CRISIL) के मंथली इंडीकेटर के मुताबिक,वेज थाली की कीमत में जून की तुलना में जुलाई महीने में लगातार शाकाहारी थाली की कीमत में उछाल देखने को मिला है। जहा 28% की बढ़ोतरी हुई है, उसमें 25 फीसदी केवल टमाटर का योगदान है।

महंगाई की मार वेज थाली पर 

क्रिसिल इनपुट कीमतों के आधार पर घर पर थाली तैयार करने की औसत लागत की गणना करता है। आमतौर पर एक वेज थाली में रोटी, सब्जी जिसमें टमाटर, आलू और प्याज़ के अलावा चावल, दाल, दही, और सलाद को शामिल किया जाता है। नॉन-वेज थाली के लिए दाल की जगह चिकन को शामिल किया जाता है। क्रिसिल के मुताबिक, जून के मुकाबले जुलाई में टमाटर की कीमतें जहां 233% बढ़ी है, वहीं प्याज की कीमतें 16% और आलू की कीमतें 9% बढ़ी है। वहीं मसालों की कीमत औसतन 28% तक बढ़ी हैं।

ऐसा निकाला जाता है थाली का रेट 

क्रिसिल भारत वर्ष के सभी दिशाओं में खाने पीने की चीजों की कीमतों के आधार पर घर में एक थाली की औसतन कीमतों को कैकुलेट करती है। इससे आम आदमी के खर्च में आ रहे बदलाव का पता लगता है। इसके अलावा अनाज, दाल, सब्जी, मसाले, खाने के तेल, ब्रॉइलर यानि चिकन और रसोई गैस के चलते थाली की कीमत में आ रहे बदलाव का पता भी इस डेटा के जरिए लगता है।

एवरेज कंज्यूमर्स के लिए चुनौतियां

औसत भारतीय कंज्यूमर के लिए, टमाटर (Tomato) और शाकाहारी थालियों की बढ़ती कीमतें बड़ा फाइनेंशियल बोझ साबित हुईं। आवश्यक वस्तुओं की कीमतें बढ़ने के साथ, मासिक बजट को मैनेज करना और पौष्टिक आहार बनाए रखना कई परिवारों के लिए काफी मुश्किल हो गया।



 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal