6 से 14 वर्ष तक की 300 प्रतिभाओं ने फुटबाॅल मैच में दिखाएं हुनर


6 से 14 वर्ष तक की 300 प्रतिभाओं ने फुटबाॅल मैच में दिखाएं हुनर

फुटबाॅल खेल के प्रति आस पास के ग्रामीण क्षेत्र में लगाव और गुदडी के लालों में कमी नही है, देबारी स्थित जिंक स्मेल्टर स्टेडियम पर शनिवार सुबह का नज़ारा फुटबाॅल प्रेमियों के जोश और उमंग से भरा था। यहां आयोजित मूल्यांकन शिविर में ना सिर्फ आस पास के क्षेत्र एवं उदयपुर के गावों के 300 फुटबाॅल प्रतिभाओं बल्कि देबारी स्मेल्टर के उच्चाधिकारियों और कर्मचारियों ने भी फुटबाॅल मैच में अपने हुनर दिखा दर्शको का दिल जीत लिया। हिन्दुस्तान जिंक द्वारा द फुटबाॅल लिंक के सहयोग से विगत दिसंबर माह से देबारी एवं मई माह से उदयपुर के 14 केन्द्रों पर नियमित फुटबाॅल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण में नियमित रूप से खेल की बारिकियों और तकनीक का प्रशिक्षण हिन्दुस्तान जिंक द्वारा द फुटबाॅल लिंक के कुशल प्रशिक्षकों द्वारा दिया गया, जिसका मूल्यांकन शिविर आयोजित कर खेल के प्रति बच्चों की समझ को आंका गया।

 
UT WhatsApp Channel Join Now
6 से 14 वर्ष तक की 300 प्रतिभाओं ने फुटबाॅल मैच में दिखाएं हुनर

फुटबाॅल खेल के प्रति आस पास के ग्रामीण क्षेत्र में लगाव और गुदडी के लालों में कमी नही है, देबारी स्थित जिंक स्मेल्टर स्टेडियम पर शनिवार सुबह का नज़ारा फुटबाॅल प्रेमियों के जोश और उमंग से भरा था। यहां आयोजित मूल्यांकन शिविर में ना सिर्फ आस पास के क्षेत्र एवं उदयपुर के गावों के 300 फुटबाॅल प्रतिभाओं बल्कि देबारी स्मेल्टर के उच्चाधिकारियों और कर्मचारियों ने भी फुटबाॅल मैच में अपने हुनर दिखा दर्शको का दिल जीत लिया।

हिन्दुस्तान जिंक द्वारा द फुटबाॅल लिंक के सहयोग से विगत दिसंबर माह से देबारी एवं मई माह से उदयपुर के 14 केन्द्रों पर नियमित फुटबाॅल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण में नियमित रूप से खेल की बारिकियों और तकनीक का प्रशिक्षण हिन्दुस्तान जिंक द्वारा द फुटबाॅल लिंक के कुशल प्रशिक्षकों द्वारा दिया गया, जिसका मूल्यांकन शिविर आयोजित कर खेल के प्रति बच्चों की समझ को आंका गया।

इस मौके पर देबारी जिंक स्मेल्टर के उच्चाधिकारियों ने भी आपस में मैत्री मैच खेल कर वहां मौजूद खिलाडियों का उत्साहवर्धन किया। यूनिट हेड मनोज नशीन ने कहा कि ग्रामीण प्रतिभाओं को आगे लाने की यह पहल निश्चित तौर पर खिलाडियों को तराशने में कामयाब होगी और आने वाले कुछ वर्षो में हम इन खिलाडियों को देश और राज्य का नाम रोशन करते देखेगें।

सामुदायिक जुड़ाव के तहत् खिलाड़ियों के परिजन और देबारी जिंक स्मेल्टर के अधिकारियों और कर्मचारियों की भी इसमें भागीदारी रही। हिन्दुस्तान जिंक और द फुटबाॅल लिंक द्वारा इन खिलाड़ियों का नियमित प्रशिक्षण चलाया जाएगा जिसके बाद इन्हें एफ क्यूब परीक्षण हेतु चयन प्रक्रिया में भाग लेने का अवसर मिल सकेगा। इन खिलाडियों की हिन्दुस्तान जिंक जावर में शुरू होने वाली फुटबाॅल अकादमी में चयन से पहले की इस प्रक्रिया में बच्चों ने गति, सोचने समझने और प्रतिक्रिया की शक्ति एवं बाॅल पासिंग की तकनीक का बखुबी प्रदर्शन किया। सभी खिलाडियों को मेडल प्रदान किये गये।

इस मौके पर द फुटबाल लिंक से हेड कोच आवासिय फुटबाॅल अकादमी सुरेश कटारिया, रोहित पाराशर, संजीब महापात्रा, देबारी जिंक स्मेल्टर से वित्त प्रमुख जितेन्द श्रीमाली,वाणिज्य प्रमुख श्याम चौधरी, लीड सीएसअर बुद्धिप्रकाश पुष्करणा, सीएसआर अधिकारी जरनेन फातीमा, एचआर अधिकारी रजनी शर्मा, आकांक्षा द्विवेदी, परिधी कुमावत पूर्व राष्ट्रीय फुटबाॅल खिलाडी वाचस्पती त्रिपाठी एवं दयाल त्रिपाठी, सीएसआर कोर्डिनेटर सहित खिलाड़ी, अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal