64वें राष्ट्रीय स्कूल खेल (कूडो) 2018-19 का सम्मान समारोह

64वें राष्ट्रीय स्कूल खेल (कूडो) 2018-19 का सम्मान समारोह

कूडो मुख्यालय राजस्थान (उदयपुर) ने 64 वें राष्ट्रीय विद्यालयी खेलकूद 2018-19 के अन्तर्गत स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ़ इण्डिया द्वारा सागर (मध्यप्रदेश) में सम्पन्न कूडो नेशनल चैम्पियनशिप 2018-19 में 6 स्वर्ण पदकों सहित 47 पदकों पर कब्जा कर राजस्थान के स्कूली खेलों में इतिहास बनाने वाले राष्ट्रीय खिलाड़ियों को आज बीकानेर में आयोजित एक समारोह में सम्मानित किया।

 

64वें राष्ट्रीय स्कूल खेल (कूडो) 2018-19 का सम्मान समारोह

कूडो मुख्यालय राजस्थान (उदयपुर) ने 64 वें राष्ट्रीय विद्यालयी खेलकूद 2018-19 के अन्तर्गत स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ़ इण्डिया द्वारा सागर (मध्यप्रदेश) में सम्पन्न कूडो नेशनल चैम्पियनशिप 2018-19 में 6 स्वर्ण पदकों सहित 47 पदकों पर कब्जा कर राजस्थान के स्कूली खेलों में इतिहास बनाने वाले राष्ट्रीय खिलाड़ियों को आज बीकानेर में आयोजित एक समारोह में सम्मानित किया।

कूडो एसोसियेशन ऑफ़ राजस्थान के सचिव रैन्शी प्रीतम सेन ने बताया कि समारोह में उन सभी खिलाड़ियों को सम्मानित किया जिन्होेंने इस प्रतियोगिता में पदक प्राप्त किये। इस प्रतियोगिता के लिये 17 एवं 19 वर्ष के आयु वर्ग में 9-9 भार वर्गों एवम् 14 वर्ष में 10-10 वजन वर्गों में 56 खिलाड़ियों का चयन कर 8 सदस्यीय प्रशिक्षकों एवम् मैनेजर क नेतृत्व में यह मुकाम हासिल करना बहुत बड़ी चुनौती थी। इस चुनौती को स्वीकार कर अन्तर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण एवम् कूडो इन्टरनेशनल फेडरेशन ऑफ़ इण्डिया के उत्तरी भारत निदेशक रैन्शी राजकुमार मेनारिया के नेतृत्व में रैन्शी प्रीतम सैन (बीकानेर), सैन्सई विपाश मेनारिया (उदयपुर), सैन्सई गोविन्द प्रजापत एवम् राजकुमार बांगड़ (जोधपुर), सैन्सई सोनिका सैन (बीकानेर), शान्दाए दीपक सैन (बाड़मेर), सैन्सई अनिल एवं सुभाष (अलवर), शान्दाए शाहरूख खान (धौलपुर), शान्दाए नारायण प्रजापत (सिरोही) सहित 10 प्रशिक्षकों की टीम के अथक प्रयासों ने राजस्थान को तीसरे ही वर्ष 64वें राष्ट्रीय खेलों में कूडो खेल का राष्ट्रीय उपविजेता बना दिया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष 2017-18 के राष्ट्रीय खेलों में कूडो ही नहीं अन्य समस्त खेलों के कुल पदकों का 25 प्रतिशत मेडल अकेले कूडो खेल ने योगदान कर राजस्थान को पदक तालिका में ऊंचा उठा लिया। देश के सर्वोच्च सम्मान राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित एवम् अन्र्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त रैन्शी राजकुमार मेनारिया के नेतृत्व में राजस्थान कूडो एसोसियेशन का गठन 2013-14 में उदयपुर मुख्यालय पर सम्पन्न हुआ और पांच वर्षों की इस यात्रा में राज्य ने राष्ट्रीय ही नहीं अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर अपनी ख्याती बनाई। भारतीय टीम का नेतृत्व राजस्थान के उभरते कूडो फाईटर सैन्सई विपाश ने किया।

सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अलवर (अध्यक्ष कूडो बीकानेर) देवेन्द्र कुमार बिश्नोई ने कहा कि सन् 2000 से बीकानेर में आत्मरक्षा की कला के रूप में हमने 40000 से अधिक बालिकाओं को आरम्भिक प्रशिक्षण दिया। अब खेल के रूप में इसका उपयोग बच्चों के कैरियर को भी सपोर्ट करेगा।

मुख्य अतिथि के साथ ही समारोह में नगेन्द्र सिंह, श्रीमती संजू राठौड़, श्रीमती किरण कंवर, श्रीमती नीलम जौहरी ने विशिष्ठ अतिथियों के रूप में मौजूद थे। जिन्होंने बालक-बालिकाओं को माल्यार्पण व अभिनन्दन प्रतीक चिन्ह भेंट कर उत्साहवर्द्धन किया। समस्त अतिथियों, खिलाड़ियों ने एकजुट हो कूडो जैसे राष्ट्रीय खेल को राजस्थान के नियमित स्कूली खेलों में शामिल करने की पुरजोर अपील की ताकि राजस्थान भी अन्य राज्यों की तरह राष्ट्रीय पायदान में उच्च स्थान बना सके। समारोह का संचालन ज्योतिप्रकाश रंगा ने किया एवम् धन्यवाद कूडो राजस्थान के अध्यक्ष श्री राजकुमार मेनारिया ने किया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal