आलोक संस्थान ने विश्व को लोकार्पित की ‘महाराणा प्रताप-द फर्स्ट फ्रीडम फाईटर’ फिल्म

आलोक संस्थान ने विश्व को लोकार्पित की ‘महाराणा प्रताप-द फर्स्ट फ्रीडम फाईटर’ फिल्म

आमजन देख सकेंगे अब इस फिल्म को निःशुल्क

 
a

पूरे विश्व तक पहुंचेगी प्रताप की गाथा

महाराणा प्रताप द फर्स्ट फ्रीडम फाईटर फिल्म के निर्माता-निर्देशक और आलोक संस्थान के निदेशक डॉ. प्रदीप कुमावत आचार्य श्यामलाल कुमावत सभागार, आलोक संस्थान, सेक्टर-11 में पत्रकार सम्मेलन में एक महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए पिछले 7 सालों से जिस फिल्म के राइट्स किसी को नहीं दिये उस फिल्म को आज उन्होंने पूरे विष्व को मेवाड़ की एक सौगात बताते हुए विष्व के सभी लोगों के लिए लोकार्पित कर दी।

उन्होंने कहा कि हमारा जो इस फिल्म से जुड़ाव था हम चाहते थे कि यह फिल्म जन-जन तक पहुंचे। बीच में कोरोनाकाल के बाद इस निर्णय पर पहुंचे कि इस फिल्म को जन-जन तक निःशुल्क पहुंचाया जाए जो कि एमएक्स प्लेयर पर अब निःशुल्क स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध है। हर व्यक्ति एमएक्स प्लेयर डाउनलोड कर सकता है जिसके लिए किसी प्रकार का पैसा नहीं देना होता है इसलिए हमने अन्य किसी प्लेटफॉर्म या ओटीटी प्लेटफॉर्म पर न देकर हमने यह फिल्म सीधे तौर पर एमएक्स प्लेयर को दे ही है जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस फिल्म को देख सकेंगे।

डॉ. कुमावत ने फिल्म से जुड़े अनेक प्रसंगों के बारे में बताया कि महाराणा प्रताप का कार्य कितना कठिन है। उन्होंने बताया कि महाराणा प्रताप फिल्म पर काम करते हुए करीब 7 सात तक गहन शोध की और उस शोध के पश्चात इस फिल्म को बनाने में अनेक कठिनाइयों का सामना किया। जहां तकनीकी दृष्टि से भी चुनौती थी वहीं दूसरी ओर हमने इस फिल्म को बनाया तो हमें 52 ऐसी दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ा जिसमें स्वयं का हाथ टूटने से लेकर कईं यादें जुड़ी हुई हैं। उन्होंने कहा कि मुम्बई अनुभव के रूप में बुरा रहा। सुना था कि मुम्बई में इस प्रकार की कोई चीटिंग नहीं होती लेकिन हमें मुम्बई में ऐसे अनेक धोखेबाज लोगों का सामना करना पड़ा जिन्होंने न सिर्फ हमें लूटा वरन हमें अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ा।

उन्होंने इस अवसर पर प्रसंगवश उन बातों का भी जिक्र किया जिसमें अनेक ऐसी बातें थी जो फिल्म के संगीत से भी जुड़ी हुई हैं। महान गायक जगजीत सिंह से लेकर भूपेन्द्र, शैल हाड़ा, साधना सरगम जैसे गायकों ने इस फिल्म में गीत गाए हैं। डॉ. प्रेम भण्डारी ने इसमें संगीत दिया है वहीं नारायणसिंह सिसोदिया ने महाराणा प्रताप की केन्द्रीय भूमिका निभाई है।

उन्होंने कहा कि इन दिनों पीरियड फिल्म का चलन है और अभी कल ही सम्राट पृथ्वीराज चौहान रीलिज हुई है उसके आधार पर अब ऐसी फिल्मों को देखने का चलन भी बढ़ेगा और हमारी ओर से यह सम्पूर्ण विश्व को मेवाड़ की गौरव महाराणा प्रताप की गाथा का हम विश्व को लोकार्पित करने जा रहे हैं। हमें गर्व है कि हमने यह फिल्म बनाई हमें इसका कोई पैसा प्राप्त नहीं हुआ लेकिन हमें यह संतोष है कि यह फिल्म आमजन देख सकेगा। इस अवसर पर डॉ. प्रेम भण्डारी, नारायण सिंह सिसोदिया, कुलदीप चतुर्वेदी ने भी सम्बोधित किया।

इस अवसर पर आलोक संस्कार विजन के एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर निश्चय कुमावत ने स्वागत किया। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि फिल्म किस तरह महत्वपूर्ण रही है। प्रतीक कुमावत एवं मनमोहन भटनागर ने फिल्म के तकनीकी पक्ष को देखा। इस अवसर पर बैनर का लोकार्पण भी किया गया। फिल्म में कईं स्थानीय कलाकारों को भी अभिनय का मौका दिया गया। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web