महाशिवरात्री पर प्रभु महाकालेश्वर का हुआ विशेष श्रृंगार

महाशिवरात्री पर प्रभु महाकालेश्वर का हुआ विशेष श्रृंगार

गंगा घाट पर हुई आरती

 
mahashivratri

उदयपुर। सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर में आज आशुतोष भगवान श्री महाकालेश्वर की प्रातःकाल से सेवा पूजन शुरू हुआ। दर्शनार्थी ने प्रातः 4 बजे से प्रभु श्रीमहाकालेश्वर को सभाभवन में स्थापित घट के माध्यम से जलाभिषेक किया। इसके पश्चात प्रातः 9.15 बजे महादेव का सहस्त्रधारा जलाभिषेक हुआ। 

प्रन्यास सचिव चन्द्रेशखर दाधीच ने बताया कि महाशिवरात्री पर परम्परागत रूप से ओगडी माई की धूणी, गणपति, भैरव व भोलेनाथ मंदिर पर ध्वजारोहण किया गया। दाधीच ने बताया कि ध्वजारोहरण में विधि-विधान से पूजा अर्चना कर भोग प्रसाद धराया गया।

श्री महाकालेश्वर अन्न यज्ञ सेवा समिति के नटवरलाल शर्मा ने बताया कि महाशिवरात्री के अवसर पर 11 क्विंटल सिगारी चिवडा का प्रसाद वितरण किया गया जिसे के.जी पालीवाल, के.के. पालीवाल, द्रुप्रदसिंह के सानिध्य में प्रातःकाल से ही प्रसाद वितरण किया गया। 

shivratri

प्रन्यास के विनोद कुमार शर्मा, अनिल चौधरी ने बताया कि इस बार राज्य व केन्द्र सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन के अनुसार मंदिर परिसर में धार्मिक स्थलों पर दर्शन हेतु छूट होने से बडी संख्या में दर्शनार्थियों ने दर्शन का लाभ लिया जिसके लिए ट्रस्ट द्वारा विशेष रूप से छाया पानी की व्यवस्था की गई। जगह जगह सेनेटाईजर की मशीन लगाई गई, कार्यकर्ताओं ने दर्शनार्थियों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया। दर्शनार्थियों के विधिवत् दर्शन करने के लिए विशेष व्यवस्था के तहत् स्त्री- पुरूष की व्यवस्था अलग अलग कतारों में रखी गई।।

यतीन्द्र दाधीच, महिपाल शर्मा, शेषमल सोनी के सानिध्य में इस बार मंदिर परिसर में विशेष आकर्षक झांकिया सजाई गई। जो दर्शनार्थियों की मनमोहक रही। जिसमें मुख्य आकर्षक का केन्द्र 32 फीट की श्वेत वर्ण चन्द्रधारक महादेव की प्रतिमा थी। प्रतिमा के पास बनाए पाण्डाल में शिवभक्तों ने महादेव के भजनों पर नृत्य कर भावविभोर हुए। 

shiratri
महाशिवरात्रि पर श्री नांदेश्वर महादेव का विशेष श्रृंगार

प्रन्यास सचिव चन्द्रशेखर दाधीच ने बताया कि सहस्त्रधारा अभिषेक के बाद 12.15 बजे महाआरती की गई आरती के पश्चात्  प्रभु महाकालेश्वर का विशेष श्रृंगार धरा भोग धराया गया। सायंकाल आशुतोष भगवान महाकालेश्वर की महाआरती की गई। मंदिर प्रशासक श्रीमती दीक्षा भार्गव के सानिध्य में सायं 6 बजे गंगा घाट पर पर 108 दीपकों के संग आरती की गई। रात्रि 9 बजे से से प्रातः काल तक महादेव की चारों प्रहर की पूजा अर्चना की गई।पंडित महेश एनं शर्मा के सानिध्य में गौ-माता को लपसी का भोग धराया गया।

कार्यक्रम में शंकरलाल कुमावत, पुरूषोत्तम जीनगर, चतुर्भुज आमेटा, चन्द्रवीर सिंह राठौड, योगेशगिरी गोस्वामी, ओम नन्दवाना, ओम सोनी,  स्कन्ध पण्ड्या आदि का विशेष सहयोग रहा।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा आज महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्री पर घोष के संघ मंदिर परिक्रमा पथ पर पथ संचलन किया गया। ट्रस्ट मीडिया प्रभारी ने गोपाल लोहार ने सभी दर्शनार्थियों व कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया जिन्होंने ट्रस्ट द्वारा की गई व्यस्थाओं के अनुरूप दर्शन कर सहयोग प्राप्त किया। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal