कायस्थ समाज का राष्ट्रीय अधिवेशन 17-18 दिसंबर को उदयपुर में

कायस्थ समाज का राष्ट्रीय अधिवेशन 17-18 दिसंबर को उदयपुर में

कायस्थ समाज का राजनीतिक उत्थान है अधिवेशन का उद्देश्य-डॉ. बी.पी. भटनागर

 
golbal kayasth conference

उदयपुर 14 दिसंबर 2022। कायस्थ समाज के संगठन ग्लोबल कायस्थ कांफ्रेंस (जीकेसी) की ओर उदयपुर में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्देश्य कायस्थ समाज का राजनीतिक उत्थान है। इसके साथ कायस्थों में आंत्रप्रोन्योरशिप का विकास करना भी इस अधिवेशन में चर्चा सत्र का विषय रहने वाला है। 

भारत के संविधान से लेकर रक्षा, राजनीति और प्रशासन में अतुलनीय योगदान देने वाला कायस्थ समाज सामाजिक पार्थक्य के दौर से गुजर रहा है। इन बिन्दुओं पर चर्चा करने के लिए अधिवेशन में नेपाल के पूर्व उप प्रधानमंत्री बिमलेंद्र निधि, जदयू राष्ट्रीय सचिव एवं प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद, सिने कलाकार अंजन श्रीवास्तव और संगीतकार दीप श्रेष्ठ भी शिरकत करेंगे। यह जानकारी जीकेसी स्वागत समिति के संरक्षक डॉ. बी.पी. भटनागर ने प्रेसवार्ता को सम्बोधिक करते हुए कही।

जीकेसी ग्लोबल महासचिव अनुराग सक्सेना ने बताया कि इस अधिवेशन में देश भर से कायस्थ समाज के 250 प्रतिष्ठित लोगों के उपस्थित रहने की संभावना है। इसके अलावा समाज के स्थानीय सदस्य भी इसमें भाग लेंगे। यह कार्यक्रम हिरणमगरी सेक्टर-4 स्थित अटल सभागार में होगा। इस दो दिवसीय अधिवेशन के प्रथम दिन सभी कार्यक्रम अटल सभागार में होंगे। 

वहीं, दूसरे दिन 18 दिसम्बर को दोपहर दो बजे अटल सभागार से एक शोभायात्रा निकाली जाएगी। यह शोभायात्रा अटल सभागार से प्रारम्भ होकर चित्रगुप्त सभा भवन, राणावत पोल्ट्री फार्म, पूजा बेकरी, जैन मंदिर, नारायण सेवा संस्थान, मेनारिया गेस्ट हाउस, 100 फीट रोड सेक्टर-3 (चन्द्रशेखर आजाद मार्ग), माली कॉलोनी, उदयापोल, सूरजपोल, बापू बाजार, देहलीगेट, अश्विनी बाजार, हाथीपोल, चेटक सर्कल, शिक्षा भवन चौराहा, काला किंवाड़, फतहसागर, यूआईटी सर्किल, सहेलियों की बाड़ी, देवाली मार्ग होकर प्रताप गौरव केन्द्र पहुंचेगी।

प्रेस वार्ता के आरम्भ में जीकेसी के जिलाध्यक्ष डॉ. सरोज कुमार अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि जीकेसी अपने राजनीति उद्देश्य की प्राप्ति के लिए सितम्बर 2023 में दिल्ली के रामलीला मैदान में शक्ति प्रदर्शन करने जा रही है। इसमें देश भर से एक लाख से अधिक प्रतिनिधियों को शामिल करने का प्रयास किए जा रहा है। कायस्थों में राजनीतिक और व्यावसायिक कौशल आए इसके लिए जीकेसी प्रयासरत है। व्यावसायिक कौशल विकसित करने और कायस्थ बंधुओं को व्यवसाय में सहयोग करने के उद्देश्य से चित्रांश चैम्बर ऑफ कॉमर्स का गठन किया गया है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal