बेदला नदी में 25 वर्ष पूर्व प्रकट हुए "प्रकटेश्वर महादेव" का भव्य प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव 8 मई रविवार को

बेदला नदी में 25 वर्ष पूर्व प्रकट हुए "प्रकटेश्वर महादेव" का भव्य प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव 8 मई रविवार को

व्य शोभा एव कलश यात्रा,सप्तधान संग्रहण सहित कई भव्य आयोजन करेंगे श्रद्धालुओं को आकर्षित

 
bedla mandir

उदयपुर शहर से सटा ऐतिहासिक बेदला गाँव आगामी 4 मई से 8 मई तक श्रद्धालुओं की अटूट आस्था का केंद्र बनने जा रहा है । मौका है प्रकटेश्वर महादेव मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह का । दरअसल आज से करीब 25 वर्ष पूर्व सन 1998 की नागपंचमी के दिन एक शिवलिंग का प्राकट्य बेदला नदी की खुदाई के दौरान हुआ था । इसके बाद से प्रकटेश्वर महादेव गाव के अस्पताल चौक में श्रद्धालुओं की प्रगाढ़ आस्था के रूप में विराजित है । 

25 वर्ष पूर्व शिवभक्तों ने इस शिवलिंग को अस्पताल चौक में बने एक चबूतरे पर स्थापित कर दिया था, इसके बाद वर्ष 2015 में क्षेत्र के युवाओं ने महादेव के लिए एक भव्य मंदिर निर्माण की रचना की । युवाओं की मेहनत और लगन के बाद सफेद मार्बल के खंडों से बना यह मंदिर अब पूर्णतया सम्पूर्ण हो चुका है । इस मंदिर के निर्माण की लागत करीब 12 से 14 लाख रुपये है,जिसे शिवभक्तों और भामशाओ के सहयोग से पूरा करवाया गया । 

सूरजकुंड के महान संत अवदेशानंद जी करेंगे पूर्ण आहुति

मन्दिर निर्माण समिति के अध्यक्ष सुरेश सेन ने बताया कि आगामी 4 मई से 8 मई तक पांच दिवसीय भव्य प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव महादेव मंदिर प्रांगण में आयोजित होगा । इस कार्यक्रम में पूर्ण आहुति के लिए कलयुग में साधना की नवीन छवि को कायम रखने वाले सुरजकुंड के सन्त अवदेशानंद जी का आगमन होगा । अवदेशानंद जी 7 मई शाम को बेदला गाव में पधारेंगे जहाँ उनका पुष्पवर्षा से भव्य स्वागत किया जाएगा । इसके पश्चात उनका चरण प्रक्षालण कार्यक्रम होगा । 

पाँच दिवसीय आयोजन में दिखेगी पौराणिकता की झलक

कार्यक्रम के सयोंजक प्रताप सिंह राठौड़ ने बताया कि इस महोत्सव के अंतर्गत दर्जनों भर अनूठे कार्यक्रमो का आयोजन होगा,जो कि हमारे पैराणिक रीति-रिवाज, मान्यताओं और परम्पराओ से लबरेज होंगे । राठौड़ ने बताया कि इन कार्यक्रमो के माध्यम से आने वाली पीढ़ी को इस तरह के धार्मिक आयोजनों से रूबरू करवाने का प्रयास किया जाएगा । 

कार्यक्रम के आकर्षण नन्दी द्वारा स्थापित शिवलिंग को निकाला जाएगा,शिवलिंग के अन्न वास के लिए घर-घर से सप्तधान मंदिर प्रांगण में बड़ा पात्र लगाकर इकठ्ठा किया जाएगा,पुलिस बैंड से माँ गंगा को न्योता, झांकी मय शोभायात्रा, पारंपरिक परिधानों में सर्वसमाज की महिलाओं की कलशयात्रा, अलग अलग घरों से 56 भोग के व्यंजनों का भोग,संगीतमय सुंदरकांड,कलशयात्रा पर जगह जगह ड्रोन से पुष्प वर्षा और इस्कॉन टेम्पल की टीम द्वारा सत्संग आदि है । 

देशी एव विदेशी फूलों की सजावट से सजेगा बाबा का दरबार

कार्यक्रम के सह-सयोंजक चंद्रशेखर गहलोत ने बताया कि शिवभक्त लव श्रीमाली के सहयोग से देशी एव विदेशी पुष्पो से इस मंदिर को सजाया जाएगा । इसके अलावा 9 मई सोमवार को शिवलिंग और मन्दिर को आकर्षक तरीके से सजाया जाएगा,जिसके दिन भर दर्शन होंगे । सचिव फतहलाल शर्मा ने बताया कि 5 दिवस के इस आयोजन के तहत गाव के सभी मन्दिरो एव देवरो के भगवान को निमंत्रण दिया गया है।  वही अलग अलग जगहों के करीब 21 पंडित इस प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को सफल बनाने के लिए लगेंगे । 

पाँच दिवसीय इस कार्यक्रम की श्रृंखला में 8 मई को महंत अवदेशानंद जी के सानिध्य में प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन होगा । जिसमें मन्दिर में शिवलिंग,शिखर पर ध्वजादंड,कलश, त्रिशूल और नाग को स्थापित किया जाएगा । इसके पश्चात महाप्रसाद का आयोजन किया जाएगा, जिसमे करीब 6 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था भामशाहो के सहयोग से की गई है । 

इस आयोजन को सफल बनाने के लिए लगातार समिति के सदस्यों द्वारा कार्य किया जा रहा है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह को सफल बनाने के लिए उपाध्यक्ष अनिल शर्मा, पंकज शर्मा, शशिकांत शर्मा, दिनेश सेन, उदयलाल शर्मा, संदीप बारबर, विक्रम सिंह सोलंकी, सुरेंद्र भोई, युगल किशोर बारबर, यश शर्मा, आदित्य सेन और हर्ष शर्मा प्रयासरत है । 

इस आयोजन को लेकर गांव के हर समाज के लोगो मे खुशी एव उत्साह का माहौल देखा जा रहा है । वही गाँव के लोग भी कार्यक्रम की सफलता के लिए तन-मन-धन से सहयोग कर रहे है।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal