तीन वर्षों के बकाया पुरस्कार देगी राजस्थान साहित्य अकादमी

तीन वर्षों के बकाया पुरस्कार देगी राजस्थान साहित्य अकादमी

प्रांत के साहित्यकारों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय

 
Rajasthan Sahitya acdemy
अकादमी की गौरवशाली परंपरा की निरंतरता में यह महत्वपूर्ण कदम :डॉ सहारण
 

उदयपुर 22 जनवरी 2023 । राजस्थान साहित्य अकादमी द्वारा गत तीन वर्षों के बकाया पुरस्कार शीघ्र ही कार्यक्रम आयोजित कर दिए जाएंगे। यहाँ गत तीन वर्ष के अध्यक्ष विहीन समय के पुरस्कार बकाया थे। दो साल तो विज्ञप्ति ही जारी नहीं की जा सकी जबकि एक साल विज्ञप्ति जारी कर किताबें मांगी गई और मांगी गई किताबें आलमारी में बंद रही।

हाल ही में 13 जनवरी को अकादमी अध्यक्ष डॉ दुलाराम सहारण की कला एवं संस्कृति मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला से सिविल लाइन्स स्थित जयपुर निवास पर मुलाकात हुई। इस दौरान उन्होंने विभाग के शासन उपसचिव को तुरंत स्वीकृति हेतु पत्र अग्रेषित किया। पालना में शनिवार 21 जनवरी को अकादमी अध्यक्ष-सचिव बैठक में स्वीकृति की विधिवत सूचना उच्च स्तर से प्राप्त हुई।

अकादमी अध्यक्ष डॉ सहारण ने बताया कि संवेदनशील, साहित्य-संस्कृति के प्रति समझ और रुचिवान, अधिकतम देने के प्रति कृत संकल्पित राज्य के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की भावना के अनुरूप अकादमी भी प्रांत के साहित्यकारों के अधिकतम सम्मान के प्रति गतिशील हो सकेगी। इस स्वीकृति के बाद गत तीन वर्ष (2019-20, 2020-21, 2021-22) के पुरस्कार भी इस साल अकादमी देगी। जल्दी ही विज्ञप्ति जारी कर उसी वर्ष के क्रम में प्रविष्ठियां मांगी जाएंगी और 31 मार्च से पहले-पहले समारोह आयोजित कर एक साथ चारों वर्ष (इस वर्ष 2022-23 और बकाया तीन वर्ष) के पुरस्कार दिए जाएंगे।

अकादमी अध्यक्ष नियुक्ति में हुए विलंब को भरने और प्रांत के साहित्यकारों के सम्मान के प्रति आगे आने के लिए सहारण ने राज्य के मुख्यमंत्री गहलोत, कला साहित्य एवं संस्कृति मंत्री डॉ कल्ला का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि इस स्वीकृति का महत्वपूर्ण पक्ष यह रहेगा कि अकादमी की गौरवशाली परंपरा की निरंतरता में यह कदम होगा और प्रांत का साहित्य सम्मानित-पुरस्कृत होगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web