State childrens litterateur tomorrow in Udaipur

प्रदेश के दिग्गज बाल साहित्यकार कल उदयपुर में

प्रदेश के दिग्गज बाल साहित्यकार कल उदयपुर में

बाल साहित्य के विधागत लेखन पर दो दिवसीय सम्मेलन

 
baal

उदयपुर, 4 नवंबर। राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर और सलिला संस्था, सलूंबर के संयुक्त तत्वावधान में राजस्थान कृषि महाविद्यालय में बाल साहित्य के विधागत लेखन पर 6 सत्रों में संगोष्ठी होगी और विशेष विशेषज्ञों द्वारा पत्रवाचन प्रस्तुत किए जाएंगे।

इसका उद्घाटन शनिवार 5 नवंबर की सुबह 11 बजे प्रसार शिक्षा निदेशालय के सभागार में पूर्व सांसद, रघुवीर सिंह मीणा और महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति, डॉ अजीत कुमार कर्नाटक के आतिथ्य में होगा। विशिष्ट अतिथि दी अरबन को-ऑपरटिव बैंक लि. के चेयरमैन फिदा हुसैन सफी, जयपुर के प्रबोध कुमार गोविल, गीतकार किशन दाधीच होंगे। कार्यक्रम की संयोजिका डॉ विमला भंडारी ने बताया कि उद्घाटन सत्र का संचालन कवियत्री शकुंतला सरूपरिया करेंगी, जबकि आभार राजस्थान साहित्य अकादमी के सचिव बसंतसिंह सोलंकी जताएंगे।

पहले दिन दो पत्रवाचन संगोष्ठी

डॉ विमला भंडारी ने बताया कि सम्मेलन के पहले दिन दो पत्रवाचन संगोष्ठी होगी। दोपहर 3 बजे से 4 बजे तक समकालीन बाल कथा साहित्य का वर्गीकरण, पत्रवाचन की पहली संगोष्ठी होगी। श्रीगंगानगर के डॉ के. के. आशु पत्रवाचन करेंगे। इस सत्र के मुख्य अतिथि बाल वाटिका के संपादक डॉ भेरूलाल गर्ग भीलवाड़ा एवं अध्यक्षता चित्रा फाउंडेशन, आकोला के राजकुमार जैन श्राजनश् करेंगे।

कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि कांकरोली की कुसुम अग्रवाल, अजमेर की अनीता शर्मा होंगी। सत्र का संचालन हाड़ी रानी कॉलेज, सलूम्बर के हिंदी व्याख्याता डॉ पंकज वीरवाल करेंगे। मध्यांतर पश्चात विविधता भरे बाल उपन्यास विषय पर पत्रवाचन 4.30 बजे आरंभ होगा जो 5.30 बजे तक चलेगा। विषय विशेषज्ञ दौसा के डॉ अंजीव अंजुम से  पत्रवाचन करेंगे। संगोष्ठी सत्र के मुख्य अतिथि बीकानेर की संगीता सेठी और टाबर टोली के संपादक हनुमानगढ़ के दीनदयाल शर्मा अध्यक्षता करेंगे। तारानगर, चूरू के किशोर कुमार निर्वाण विशिष्ट अतिथि होंगे। इस सत्र का संचालन केकड़ी, अजमेर की विमला नागला करेगी।

सम्मेलन के दूसरे दिन 6 नवंबर को प्रातः 9.30 बजे से 10.30 बजे तक पत्रवाचन संगोष्ठी का तीसरा सत्र सम्पन्न होगा। आत्मकथात्मक बाल साहित्य विषय पर विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रकाश तातेड़ सहसंपादक, बच्चों का देश प्रस्तुत करेंगे। मेड़ता सिटी के चित्र पहेली रचनाकार चांद मोहम्मद घोसी और अध्यक्षता डूंगरपुर के दिनेश पंचाल करेंगे। विशिष्ट अतिथि के तौर पर रायपुर के डॉ सत्यनारायण श्सत्यश् मंच रहेंगे। इस सत्र का संचालन साहित्यकार आशा पांडे ओझा करेंगी। तत्पश्चात चौथा सत्र, पुस्तक समीक्षा का सत्र होगा जिसमें सम्मेलन में लोकार्पित होने वाली पुस्तकों की समीक्षा प्रस्तुत होगी। संगोष्ठी के अंतिम सत्र की मुख्य अतिथि उदयपुर की साहित्यकार मंजु चतुर्वेदी तथा अध्यक्षता मोहनलाल सुखाडि़या विश्वविद्यालय के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ नीतू परिहार होंगी। विशिष्ट अतिथि के तौर पर डॉक्टर अखिलेश पालरिया एवं उषा सोमानी मंचासीन होंगे।

विभिन्न विधाओं की पुस्तकों-पत्रिकाओं का होगा लोकार्पण

दो दिवसीय सम्मेलन में विभिन्न विधाओं की पुस्तकों-पत्रिकाओं का लोकार्पण होगा। सलिला संस्था की वार्षिक पत्रिका सलिल प्रवाह का लोकार्पण होगा।  जिसकी समीक्षा तरुण कुमार दाधीच करेंगे। विमला भंडारी की यात्रा वृतांत पर लिखी पुस्तक सौराष्ट्र में सोमनाथ लोकार्पित होगी एवं इसकी समीक्षा तारानगर चूरू के विश्वनाथ भाटी करेंगे। अजमेर के डॉक्टर अखिलेश पालरिया द्वारा लिखित आत्मकथा विद्या की पुस्तक, जो भुला ना सका का लोकार्पण किया जाएगा एवं इसकी समीक्षा जयपुर की डॉ आशा शर्मा करेंगी। चित्तौड़ की उषा सोमानी की बाल कथा विधा की पुस्तक, मस्ती की पाठशाला की विमला भंडारी करेंगी। कांकरोली की कुसुम अग्रवाल की लिखी बाल उपन्यास विधा की पुस्तक,  किस्से जंगल के एवं राजकुमार श्राजनश् द्वारा संपादित साहित्यिक पत्रिका साहित्य गुंजन का लोकार्पण किया जाएगा। इस वर्ष की पत्रिका सलिल प्रवाह वरिष्ठ बाल साहित्यकार कुसुम अग्रवाल पर केंद्रित की गई है।
 

मध्यान्ह बाद दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक समापन समारोह आयोजित होगा। जिसके मुख्य अतिथि मोहनलाल सुखाडि़या विश्वविद्यालय उदयपुर के कुलपति प्रोफेसर आई.वी. त्रिवेदी होंगे और अध्यक्षता राजस्थान साहित्य अकादमी के अध्यक्ष डॉ दुलाराम सहारण करेंगे।  विशिष्ट अतिथि के अतिरिक्त महानिदेशक एवं संयुक्त शासन सचिव (प्रशिक्षण) एचसीएम रीपा, जयपुर के टीकम बोहरा अनजाना, युगधारा के संस्थापक डॉ ज्योतिपुंज, बीकानेर के हरीश बी शर्मा, जोधपुर के सत्यदेव सवितेंद्र होंगे। सत्र का संचालन भीलवाड़ा की साहित्यकार रेखा लोढ़ा करेंगी। कार्यक्रम का प्रतिवेदन मधु माहेश्वरी प्रस्तुत करेंगी। सलिला संस्था के सभी सदस्य द्वारा संस्था गीत गायन एवं जगदीश भंडारी द्वारा आभार की रस्म पश्चात राष्ट्रगान के बाद विसर्जन होगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web