फ़र्ज़ी पावर ऑफ़ अटॉर्नी से बुज़ुर्ग का मकान हड़पने का आरोपी गिरफ्तार

फ़र्ज़ी पावर ऑफ़ अटॉर्नी से बुज़ुर्ग का मकान हड़पने का आरोपी गिरफ्तार

फर्जी पावर ऑफ अटार्नी से सहेली नगर निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग जयंती प्रसाद पुत्र रामस्वरूप माथुर का मकान हड़पने और धोखाधड़ी के मामले में फरार वांछित आरोपी गुलाब सिंह पुत्र गंभीर सिंह झाला को अम्बामाता थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

 

फ़र्ज़ी पावर ऑफ़ अटॉर्नी से बुज़ुर्ग का मकान हड़पने का आरोपी गिरफ्तार

फर्जी पावर ऑफ अटार्नी से सहेली नगर निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग जयंती प्रसाद पुत्र रामस्वरूप माथुर का मकान हड़पने और धोखाधड़ी के मामले में फरार वांछित आरोपी गुलाब सिंह पुत्र गंभीर सिंह झाला को अम्बामाता थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

अम्बामाता थानाअधिकारी चेनाराम पाचारा ने बताया की प्रार्थी जयन्ती प्रसाद पुत्र राम स्वरूप माथुर (70) निवासी सहेली नगर ने न्यायालय के माध्यम से मामला दर्ज कराया था जिसमें जयंती प्रसाद ने रमेशचन्द्र जोशी पुत्र रूमलाल जोशी निवासी बेदला, गोविन्द माथुर पुत्र श्यामलाल माथुर निवासी गणगौर घाट, गम्भीर सिंह पुत्र जय सिंह झाला निवासी सहेली नगर, गुलाब सिंह पुत्र गम्भीर सिंह झाला निवासी सहेली नगर पर भू माफियाओं से मिलकर फर्जी पावर ऑफ अटार्नी बनाकर मकान हड़पने का आरोप लगाया।

इसमें परिवादी के नाम के फर्जी हस्ताक्षर कर परिवादी के बजाय कोई फर्जी आदमी खड़ा कर अभियुक्तों ने फर्जी मुख्तियारनामा आम बना दिया व उसके बाद परिवादी के नाम से गोविन्द माथुर के नाम 30 जनवरी 1997 की तारीख का फर्जी विक्रय पत्र बनाया व एक अन्य विक्रय पत्र अहमद अली व सरीन के नाम का बनाया।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

उक्त पूरी साजिश इसलिए की गई क्योंकि अभियुक्त जानते है की पीडि़त बुजुर्ग अकेले रहते हैं। उनकी पत्नी मध्यप्रदेश में नौकरी करती हैं और इनकी कोई सन्तान भी नही है। प्रकरण में रमेश चन्द्र व गम्भीर सिंह को पूर्व गिरफ्तार किया गया था। शेष अभियुक्त गुलाब सिंह लम्बे समय से फरार चल रहा था। राजस्थान हाईकोर्ट जोधपुर से अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद गुलाब सिंह फरार हो गया था।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal