अपनी आठ मांगों को लेकर दांडी यात्रा हुई स्थगित, राजस्थान सरकार रज़ामंद हुई मांगो को लेकर

अपनी आठ मांगों को लेकर दांडी यात्रा हुई स्थगित, राजस्थान सरकार रज़ामंद हुई मांगो को लेकर

शमशेर भालू खान चुरु से यात्रा के लिए पैदल निकले उदयपुर पहुंचे

 
अपनी आठ मांगों को लेकर दांडी यात्रा हुई स्थगित, राजस्थान सरकार रज़ामंद हुई मांगो को लेकर

आज सभी आंदोलनकारी सीएम आवास के लिए जयपुर रवाना

राज्य में उर्दू भाषा और विभिन्न मांगो को लेकर चुरु से पैदल उदयपुर पहुंची दांडी यात्रा की राजस्थान सरकार ने सभी मांगों को लेकर राज़ी हो गई है। शमशेर भालू खान ने राजस्थान सरकार से अपनी आठ मांगो लेकर चुरु से उदयपुर तक पैदल यात्रा की थी। उदयपुर में होटल आमंत्रा में बैठक होने के बाद राजस्थान सरकार आंदोलनकारियों की सभी मांगो को लेकर सहमती जताई।

इस दौरान बैठक सरकार की ओर से वार्ता में राज्य वक्फ बोर्ड के चेयरमेन डॉ खानू खान बुधवाली मौजूद रहे। वहीं आज सभी आंदोलनकारी सीएम आवास के लिए जयपुर रवाना होगें। आंदोलनकारियों ने सामाजिक संगठनों और पैराटीचर्स के समर्थन का शुक्रिया अदा किया। सरकार ने आंदोलनकारियों की सभी मांगो पूरा कर दिया है इसलिए यात्रा उदयपुर में स्थगित कर दी गई।

सरकार इन सभी मांगो पर भी देगी ध्यान

  • कक्षा 6 से 8 तक के लिए उर्दू अध्यापक का पद सृजन पर भी सहमति बनी। इसके लिए उस कक्षा में उर्दू पढ़ने वाले विद्दार्थियों 10 या उससे अधिक होने पर ही अध्यापक नियुक्त किया जाएगा। वहीं कक्षा 9 और 10 में यह संख्या 15 या उससे अधिक होगी।
  • शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा से चर्चा कर मदरसा के संविदा कर्मियों के नियमितिकरण पर चर्चा होगी।
  • अल्प भाषा प्रकोष्ठ के बारे में जिला अलपसंख्यक कल्याण अधिकारी और कार्यक्रम अधिकारी की ओर से निदेशालय को वार्षिक रिपोर्ट भिजवाए जाएगी।
  • सभी डाइट में उर्दू के पद स्वीकृत नहीं है, उसे वित्त विभाग को भिजवाया जाएगा।
  • महाविद्दालय में उर्दू के पद रिक्त नहीं है, ऐसे में नवीन पद के सर्जन को लेकर प्रस्ताव भेजा जाएगा।
  • शाला दर्पण पोर्टल पर वर्तमान में तृतीय भाषा के प्रस्ताव मांगे गए है। निदेशालय की ओर से 24 नवंबर तक इसे अपडेट किया जाएगा।
  • माध्यम के प्राथमिक स्तर के स्कूलों को फिर से संचालित करने को लेकर भी चर्चा हुई।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal