हैंडलूम धागे से बने विभिन्न परीधान आकर्षण का केंद्र बने

हैंडलूम धागे से बने विभिन्न परीधान आकर्षण का केंद्र बने

नगर निगम प्रांगण में चल रहा हैंडलूम एवं हेण्डीक्राफ्ट प्रदर्शनी मेला 
 
हैंडलूम धागे से बने विभिन्न परीधान आकर्षण का केंद्र बने

उदयपुर 8 फरवरी 2020 । नगर निगम प्रांगण में चल रहे हैंडलूम एवं हेण्डीक्राफ्ट प्रदर्शनी मेले में हैंडलूम धागे से बने विभिन्न परीधान आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। 

प्रदर्शनी संयोजक त्रिभुवन चौबीसा ने बताया कि महिला पुरुष बच्चे हर उम्र, हर वर्ग के लिए हैंडलूम धागे से हाथ से निर्मित परिधान यहां खूब बिक रहे हैं।  अभी सर्दी में खादी, ऊन और कोटन के परिधानों के साथ ही गर्मी के सीजन के लिए लखनवी कपड़े से निर्मित परिधान यहां खूब बिक रहे हैं। ढेर सारी वैरायटी में 2 साल से लेकर 55 साल तक की उम्र के महिला पुरुष के हैंडलूम परिधान आकर्षण का केंद्र बन रहे हैं।

चौबीसा ने बताया कि रोजाना इस्तेमाल में आने वाले परिधानो के साथ ही शादियों और पार्टियों के लिए भी विशेष डिजाइन किए परिधान उपलब्ध है। जो सुविधा अनुसार महिला पुरुष पहन सकते हैं। यह परिधान डेढ़ सो रुपए से लेकर ₹5000 तक उपलब्ध है। यहां पर महाराष्ट्र, उत्तराखंड और ऋषिकेश कोटन से बनाए परिधान जिनमें सूट,कुर्ते काफी बिक रहे हैं। प्रदर्शनी में कैप, नाइट सूट, काटन लेगी, सिफोन, प्लाजो, कॉटन के गाउन उपलब्ध है। इनमें खासकर हरियाणा और पानीपत के बने परिधान भी लोकप्रिय हो रहे हैं। 

बच्चों के लिए खासकर न्यू बेबी के लिए उनका पूरा सूट उपलब्ध है जिनमें उनके शूज, कैप, जर्सी, लेगी शामिल है। यह ₹100 से ₹1000 तक की रेंज में उपलब्ध है। इनके साथ है महिलाओं के लिए फ्रॉक कुर्ता, सूट कुर्ते, हैंडलूम दुपट्टे, कोटन के जैकेट, साड़ी, प्लाजो, सूट पीस इत्यादि सर्दी और गर्मी दोनों सीजन मैं काम आने वाले परिधान उपलब्ध है। 

गर्मी के सीजन में पहनने के लिए लखनवी कपडे के परिधान जो कि काफी हल्के और महिम होते हैं वह कोटन, चिकन वर्क मे उपलब्ध है। यह ₹300 से ₹4000 तक की रेंज में है। उनके साथ ही साड़ियां,लखनवी कपडे के परिधान महिलाओं में खास आकर्षण का केंद्र बने हुए है। यहां पर जयपुर बुटीक डिजाइन, अनारकली, हैंड ब्लॉक प्रिंट, डाबू प्रिंट आज भी लोकप्रिय हो रहे हैं।  कश्मीरी वर्क में कॉटन, कुर्ती महिला और बच्चों के लिए उपलब्ध है। सूट पीस, प्लाजो सूट, फ्लोर लेम्प, कुर्ती आदि काफी पसंद की जा रही है।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal