आजीवन खुश रहने की खुशियां रिलेशनशीप में मिलती है, बाहर नहीं: मेहता

आजीवन खुश रहने की खुशियां रिलेशनशीप में मिलती है, बाहर नहीं: मेहता
 

लायन्स क्लब अन्तर्राष्ट्रीय प्रान्त तृतीय का संभागीय अधिवेशन ‘उड़ान‘ आयोजित 
 
 
आजीवन खुश रहने की खुशियां रिलेशनशीप में मिलती है, बाहर नहीं: मेहता

उदयपुर 1 मार्च 2020 । मोटीवेशनल स्पीकर एवं लायन्स क्लब के पूर्व प्रान्तपाल महाराष्ट्र से आये लायन पंकज मेहता ने कहा कि जीवन भर मनुष्य खुशिंया प्राप्त करने के लिये अनजानी राह पर चलते हुए जी तोड़ मेहनत करता है, भाग दौड़ करता है लेकिन उसे खुशियां नहीं मिलती है। उसे यह पता नहीं होता है कि आजीवन खुश रहने की खुशियां बाहर नहीं सिर्फ रिलेशनलशीप में मिलेगी। रिलेशनशीप में विश्वास करना होगा।

वे आज लायन्स क्लब अरावली की मेजबानी में मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानन्द सभागार में आयोजित लायन्स क्लब अन्तर्राष्ट्रीय प्रान्त तृतीय के संभागीय अधिवेशन ‘उड़ान‘ में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि मृत्यु शैय्या पर पड़े इंसान को 5 बातों का अफसोस होता है कि यदि जीवन को वह अपनी शर्तो पर जी पाता,काश इतना काम न करते हुए अपने बच्चों को बड़ा होते हुए खुश महसूस कर पाता,यदि उसमें इतनी ताकत होती है कि वह अपने इमोशन व फिलिंग को जाहिर कर पाता,काश दोस्तों के साथ समय व्यतीत कर पाता और खुश रहने के लिये कुछ कर पाता। यदि इंसान जीवन में इन पांचो बातों को अमल में ला पाता है कि तो वह आजीवन खुश रह सकता है।  

मेहता ने कहा कि भूखों को भोजन कराने या मरीजों को पांच केले बांटने से सेवा कार्य नहीं होते है। वह आपका कर्तव्य है, सेवा नहीं। जूनून के साथ की जाने वाली सेवा होती है। सेवा वह होती है जिसके करने से आपके रोंगटे खड़े होते हो। वर्तमान में बच्चों का ध्येय सिर्फ धन कमाना या प्रसिद्धी पाना ही रह गया है। उन्हें सेवा से कोई मतलब नहीं है। हमें अपने बच्चों में सेवा का सही अर्थ डालना होगा। इससे पूर्व संभाग के तीनों जोन चेयरमेन लायन विजय जैन, लायन अखिलेश जोशी व लायन जितेन्द्र सिसोदिया ने अपने अपने जाने के तहत आने वाले लायन्स क्लबों द्वारा किये गये सेवा कार्यो की रिपोर्ट पेश की। रिजन चेयरमेन लायन श्याम नागौरी ने कहा कि निःस्वार्थ भाव से की गई सेवा भविष्य में सद्कर्मो में सहयोग करती है। किसी के लिये खुदा नहीं मनुष्य बन कर कार्य करने पर सभी को खुशी हासिल होती है। हमें अपने माता-पिता को समय देना चाहिये क्योंकि जिस दिन समय आपके पास होगा लेकिन माता-पिता नहीं होंगे।

उप प्रांतपाल प्रथम लायन संजय भण्डारी ने संभाग के तहत आने वाले सभी 9 लायन्स क्लबों का आव्हान किया कि वे अपने सेवा कार्यो में निरन्तरता बनायें रखें ताकि पीड़ितों की सेवा निर्बाध गति से की जा सकें।

इस अवसर पर स्मारिका संपादक लायन किरण जैन ने अधिवेशन की स्मारिका का सभी अतिथियों के हाथों विमोचन कराया। प्रारम्भ में लायन्स क्लब अरावली के अध्यक्ष लायन नरेश सरणोत ने स्वागत उद्बोधन दिया। इस अवसर पर कथक आश्रम की बालिकाओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में संभाग 3 के अन्तर्गत आने वाले सभी लायन्स क्लबों द्वारा बैनर प्रजेन्टेशन दिया गया। कार्यक्रम स्थल के बाहर लायन्स क्लबों द्वारा वर्ष पर्यन्त किये गये सेवा कार्यो की फोटो प्रदर्शनी लगायी गई। समारोह में क्लब सचिव अरूण डूंगरवाल, पूर्व मल्टीपल कोन्सिल चेयरमेन अरविन्द चतुर, पूर्व प्रान्तपाल आर.एल.कुणावत, आलोक पगारिया, उर्मिला नागौरी सहित अनेक सदस्य व सदस्यांए मौजूद थी। लायन रेखा जैन ने ध्वज वंदना प्रस्तुत की।  
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal