होम क्वारेंटाइन को लेकर कलक्टर ने दिए महत्त्वपूर्ण निर्देश

होम क्वारेंटाइन को लेकर कलक्टर ने दिए महत्त्वपूर्ण निर्देश
 

अन्य राज्यों या जिलों से आने वाले स्थानीय लोगों को करना होगा होम क्वारेंटाईन
 
होम क्वारेंटाइन को लेकर कलक्टर ने दिए महत्त्वपूर्ण निर्देश
घर से नहीं निकल सकेंगे होम क्वारेंटाईन व्यक्ति
 

उदयपुर, 27 अप्रेल 2020। राज्य सरकार के निर्देशानुसार अन्य राज्यों अथवा जिलों से अपने मूल जिले में आने वाले व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से 14 दिवस के लिये होम क्वारेन्टाइन किया जाना आवश्यक है। जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने इस संबंध में समस्त उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी व ब्लॉक मुख्य चिकित्साधिकारी को महत्त्वपूर्ण निर्देश जारी किए हैं।

इन निर्देशों के तहत सभी उपखण्ड अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में वर्तमान में वाहर रह रहे सभी प्रवासी व्यक्तियों की यथासंभव पूरी सूचना संधारित करेंगे। जो प्रवासी वापस आ रहे हैं उनके संबंध मे यह सूचना पहले से रखी जाए कि वे जहाँ से आ रहे हैं वहाँ उनके साथ रहने वालों या आस-पास के क्षेत्र में कोई कोरोना रोगी तो नहीं पाये गये हैं ? यदि कोरोना पॉजिटिव पाये गये स्थान/क्षेत्र से कोई व्यक्ति आ रहा है तथा वो घर के लिये रवाना हो गया है तो संबंधित उपखण्ड अधिकारी, ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से समन्वय स्थापित करके उस व्यक्ति को एम्बुलेन्स के माध्यम से हाई-वे से ही पिकअप करके जाँच के लिये महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय, उदयपुर लाने की व्यवस्था करेंगे।

उन्होंने कहा है कि इसी प्रकार यदि ऐसा व्यक्ति निजी वाहन के माध्यम से आता है तो ऐसे वाहन को भी आईसोलेटेड स्थान पर खड़ा करवा वाहन को ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की टीम के माध्यम से पूर्ण रूप से सेनेटाईज करवाने के बाद ही वाहन, वाहन स्वामी के परिवार को संभलवाना होगा। यदि कोई ऐसा व्यक्ति गांव में आ जाता है जिसको आस-पास के क्षेत्र में कोई पॉजीटिव प्रकरण अथवा केस नहीं रहा है तो ऐसे व्यक्ति को होम क्वारेन्टाईन की समस्त प्रक्रियाओं की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जानी है। यह भी सूचना एकत्रित कर संधारित की जाएं कि प्रवासी व्यक्ति रवाना होने वाले स्थान से कब रवाना हुआ, उसने किस-किस साधन का उपयोग किया तथा मार्ग में वह कहाँ-कहाँ रूका तथा किन-किन लोगों से सम्पर्क में आया है ?

घर से नहीं निकल सकेंगे होम क्वारेंटाईन व्यक्ति

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार व्यक्ति जिस घर में वह होम आईसोलेटड रहेगा उस घर के सभी व्यक्ति होम क्वारेन्टाईन रहेंगे। 14 दिन के लिये उनको जिस सामग्री की आवश्यकता है, वह सामग्री स्थानीय पंचायत/कार्मिकों द्वारा उनके दरवाजे की चोखट पर रख दी जायेगी। किसी भी सूरत में ऐसे घर का कोई भी निवासी बाहर नहीं निकलना चाहिये। उस घर के पड़ौसी व्यक्ति तथा सबसे नजदीक किराणे की दुकान को भी इसकी जानकारी दी जायें, जिससे अवहेलना होने पर वे इसकी सूचना निगरानी दल को तत्काल देंगे। जहाँ पर ऐसा कोई व्यक्ति होम क्वारेन्टाईन की पालना नहीं करता है उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाकर उसे स्थानीय संस्थागत क्वारेन्टाईन में स्थानान्तरित कर दिया जावें।

जिस व्यक्ति को महाराणा भुपाल राजकीय चिकित्सालय, उदयपुर जाँच के लिये भेजा जाता है तथा टेस्ट नेगेटिव आने पर होम क्वारेंटाईन किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि किसी भी परिस्थिति में किसी भी प्रवासी व्यक्ति को स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अथवा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर नहीं भेजा जाना है। जो भी व्यक्ति होम क्वारेन्टाईन में है, स्वास्थ्य विभाग की स्थानीय टीम पूर्व निर्धारित प्रक्रिया अनुसार उसकी स्क्रीनिंग करेगी। यदि कोई लक्षण पाया जाता है तो उसे महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय, उदयपुर में जाँच हेतु स्थानान्तरित किया जायेगा।

यह सुनिश्चित कर ले कि किसी भी होम क्वारेन्टाईन व्यक्ति को किसी भी दुकान, रिश्तेदार के घर, पंचायत भवन, राजीव गांधी सेवा केन्द्र इत्यादि किसी भी सार्वजनिक या निजी स्थान पर जाने नहीं दिया जायें। जब भी किसी संदिग्ध व्यक्ति को टेस्टिंग के लिये भेजने की आवश्यकता पड़ती है तो उसे संदिग्ध व्यक्तियों के लिये निर्धारित एम्बुलेन्स में ही भेजा जाएं। यदि विशेष परिस्थितियों में कोई अन्य एम्बुलेन्स उपयोग में लेने की आवश्यकता पड़ती है तो उसके लिये संबंधित कार्मिक द्वारा ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारीसे पूर्व अनुमति ली जायेगी तथा अन्य वाहन के चालक भी पीपीई पहनेंगे तथा उस वाहन का सेनिटाईजेशन एम.बी. हॉस्पीटल, उदयपुर द्वारा किया जायेगा।

कलक्टर ने कहा है कि दिए गए समस्त निर्देशों को समस्त पटवारी, ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम रोजगार सहायक, एएनम., आशा सहयोगी, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, अध्यापकों, पीईईओ., कन्ट्रोल रूम स्टाफ, सभी निगरानी दल के प्रशासनिक/सामाजिक सदस्यों, मौजिज व्यक्तियों, राजकीय कार्मिकों (गाँव में कार्यरत एवं निवासरत) के ध्यान में पालना हेतु लायेंगे। सभी गाँवों में लाउड स्पीकर के माध्यम से व बड़ी जगहों पर स्थायी लाउड स्पीकर के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करेंगें। अगर होम क्वारेन्टाईन वाला व्यक्ति घर से बाहर जाता है तो वह कई लोगों में संक्रमण फैला सकता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal