वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम का दरबार हाॅल में शुभारम्भ

वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम का दरबार हाॅल में शुभारम्भ

सिटी पैलेस में दो दिवसीय वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम के आरम्भ में महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन, उदयपुर के मुख्य प्रशासक भूपेन्द्र सिंह आउवा ने फतह प्रकाश पैलेस के ऐतिहासिक दरबार हाॅल में ‘इतिहास’ ट्रस्ट की संस्थापक निदेशक स्मिता वत्स, ट्रेनर राजकुमार सिंह व मुमताज आलम का परिचय प्रस्तुत करते हुए प्रोग्राम का शुभारम्भ किया। इसके साथ ही आउवा ने सिटी पैलेस म्युजियम, उदयपुर का संक्षिप्त ब्यौरा प्रस्तुत किया।

 

वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम का दरबार हाॅल में शुभारम्भ

उदयपुर 24 जुलाई 2019 । सिटी पैलेस में दो दिवसीय वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम के आरम्भ में महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन, उदयपुर के मुख्य प्रशासक भूपेन्द्र सिंह आउवा ने फतह प्रकाश पैलेस के ऐतिहासिक दरबार हाॅल में ‘इतिहास’ ट्रस्ट की संस्थापक निदेशक स्मिता वत्स, ट्रेनर राजकुमार सिंह व मुमताज आलम का परिचय प्रस्तुत करते हुए प्रोग्राम का शुभारम्भ किया। इसके साथ ही आउवा ने सिटी पैलेस म्युजियम, उदयपुर का संक्षिप्त ब्यौरा प्रस्तुत किया।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत चलने वाली ‘इतिहास’ ट्रस्ट की संस्थापक निदेशक स्मिता वत्स ने बताया कि इस ट्रेनिंग का मुख्य उद्देश्य कौशल विकास योजना को आगे बढ़ाना है। यह संस्था दो वर्ष से इतिहास सम्बन्धी जानकारियों को प्रदान कर रही है, इनका उद्देश्य गौरवमय भारतीय इतिहास से अधिक से अधिक लोगों को रूबरू करवाना है।

अब पढ़ें उदयपुर टाइम्स अपने मोबाइल पर – यहाँ क्लिक करें

इस प्रोग्राम के प्रथम दिन फतह प्रकाश पैलेस के ऐतिहासिक दरबार हाॅल में उपस्थित लगभग 140 गाइड्स के साथ चर्चा करते हुए ट्रेनर राजकुमार सिंह व आजम ने गाइडिंग में इतिहास की महत्वपूर्ण व दमदार भूमिका को समझाया। ट्रेनरों ने बताया भारतीय इतिहास विदेशी इतिहास से ज्यादा श्रेष्ठ रहा है। ट्रेनर ने समझाया कि पर्यटकों के सम्मुख ऐतिहासिक जानकारियों प्रस्तुत करते हुए गाइडिंग की जानी चाहिये ताकि हर स्थल की महत्ता को पर्यटक भी अच्छे से समझ सके।

वार्षिक गाइड ओरिएंटेशन प्रोग्राम का दरबार हाॅल में शुभारम्भ

इतिहास की संस्थापक निदेशक स्मिता वत्स ने बताया कि भारत में सभी पर्यटल स्थलों पर भारतीय पर्यटकों संख्या ही अधिक होती है जबकि विदेशी पर्यटक 20 प्रतिशत के लगभग होते है। विदेशी पर्यटकों को यहां रूझाने में हमें भी समय के साथ चलते हुए जरूरत के अनुसार गाइडिंग में प्रयुक्त होने वाले इंटरनेशनल लेवल के साधनों का प्रयोग करना चाहिये ताकि टूरिज्म इण्डस्ट्री का लेवल इन्टरनेशनल स्टैण्डर्ड की ओर अग्रसर हो। टूरिस्ट इण्डस्ट्री तब और अधिक बढ़ेगी जब गाइडिंग के साथ-साथ पर्यटकों की सेफ्टी पर भी हमारा ध्यान हो। ‘इतिहास’ नेे ट्रेनिंग में कैसे टूरिज्म इण्डस्ट्री का लेवल इन्टरनेशनल स्टेण्र्ड का हो? दुनिया के सारे देशों की विरासतों से ज्यादा हमारे देश की विरासतें है और उनका अलग-अलग इतिहास फिर हमारा टूरिज्म कम क्यों है? जैसे विषयों पर विस्तार से चर्चा हुई।

दोपहर भोज के बाद सिटी पेलेस म्यूजियम का भ्रमण करते हुए ‘इतिहास’ के ट्रेनरों ने गाइड्स के साथ म्यूजियम के विभिन्न स्थलों पर विस्तार से सवाल-जवाब किये।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal