गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन


गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन

गीतांजली इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्निकल स्टडीज, डबोक के मैकेनिकल विद्यार्थियों द्वारा लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन जिला कलेक्टर बिष्णु चरण मल्लिक, पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह, नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग, गीतांजली ग्रुप के वाइस चेयरमेन कपिल अग्रवाल

 
UT WhatsApp Channel Join Now

गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन

गीतांजली इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्निकल स्टडीज, डबोक के मैकेनिकल विद्यार्थियों द्वारा लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन जिला कलेक्टर बिष्णु चरण मल्लिक, पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह, नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग, गीतांजली ग्रुप के वाइस चेयरमेन कपिल अग्रवाल, झील हितैषी नागरिक मंच के सदस्य हाजी सरदार मोहम्मद एवं झील विकास प्राधिकरण के सदस्य तेज शंकर पालीवाल द्वारा स्वरुप सागर झील में सुबह 11 बजे हुआ। झीलों को साफ सुथरा रखने के लिए एवं स्वच्छ भारत अभियान के तहत इस बोट का निर्माण किया गया है।

इस कार्यक्रम में उदयपुर जिला कलेक्टर बिष्णु चरण मल्लिक ने कहा कि झीले उदयपुर शहर की जीवन रेखा है। आज पूरा उदयपुर शहर पर्यटन, आर्थिक एवं पेयजल के लिए पूरी तरह से झीलों पर निर्भर है। समाज में दो प्रकार के लोग है, एक वो जो झीलों के संरक्षण के लिए हमेशा खड़े रहते है तथा दूसरे वो जो सफाई से कोई तालुकात नहीं रखते है। ऐसे लोगों की मानसिकता को बदलना होगा। झील प्रेमियों की प्रेरणा से ही इस लेक क्लीनिंग बोट को गिट्स द्वारा निर्माण कराया गया है। इस बोट में जो भी कमियां होंगी उसको दूर करके इसका उन्नयन संस्करण अगले महीने में लाॅन्च होगा।

गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन

नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग ने कहा कि झीलों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने का कार्यक्रम शुरु हो चुका है जो जल्द ही पूरा कर लिया जायेगा। गीतांजली ग्रुप के वाइस चेयरमेन कपिल अग्रवाल ने कहा कि झीलों की सफाई की दिशा में इस लेक क्लीनिंग बोट का निर्माण उदयपुर वासियों के लिए छोटा तोहफा है। हम सदैव उदयपुर के हित में कार्य करेंगे।

गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन

मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभागाध्यक्ष डाॅ दीपक पालीवाल ने बताया कि गिट्स के छात्रों द्वारा बनाए गए 3डी प्रिन्टर के उद्घाटन के मौके पर उदयपुर कलेक्टर बिष्णु चरण मल्लिक ने एक विडीयो दिखाकर कहा था कि हमें भी ऐसी एक लेक क्लीनिंग बोट चाहिए जो पूरी तरह से प्रदूषण रहित हो तथा मशीन चलाने वाले का कचरा निकालने के साथ साथ ही उसका व्यायाम भी हो जाए। तत्पश्चात् इस मशीन पर काम शुरु हुआ। दो तीन मीटिंग के फलस्वरुप उदयसागर में ट्रायल करने के बाद यह मशीन गिट्स में बनकर तैयार हुई।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

इस मशीन की खासियत यह है कि मशीन पूरी तरह गार्बेज सामग्री से मिलकर बनी है जिसका कुल खर्च लगभग 35000 रुपये आया है। प्रारंभिक तौर पर यह मशीन झील में तैरते प्लास्टिक, बोतल व कचरा संग्रहण के लिए बनाई गई है। अगले चरण में मशीन का उन्नत संस्करण जो कि पूरी तरह स्वचालित होगा जो झील के अंदर घास को जड़ से हटा पाने में सक्षम होगा। इस जन जागरुक कार्यक्रम में वित्त नियंत्रक बीएल जांगिड़ सहित सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, पूरा गिट्स परिवार व उदयपुर शहर के झील प्रेमी उपस्थित थे।

गिट्स विद्यार्थियों द्वारा निर्मित लेक क्लीनिंग बोट का उद्घाटन

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal