महिला शक्ति आत्मरक्षा केंद्र का शुभारम्भ

महिला शक्ति आत्मरक्षा केंद्र का शुभारम्भ 
 

 
महिला शक्ति आत्मरक्षा केंद्र का शुभारम्भ
योजना का उद्देश्य महिलाओ और युवतियों को अत्याचार, छेड़छाड़, घरेलु हिंसा, यौन उत्पीड़न, चैन स्नेचिंग, एसिड अटैक एवं प्रतिकूल परिस्थितियों से निबटने और उनके आत्मविश्वास में वृद्धि कर उन्हें स्वयं की सुरक्षा हेतु आत्मनिर्भर बनाना है। 
 

उदयपुर 1 जनवरी 2020 । महिलाओ एवं लड़कियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने एवं उन्हें आत्मरक्षा हेतु सशक्त बनाने व अपने अधिकारों, कानूनों के बारे में सजग करने और महिलाओ के खिलाफ होने वाली हिंसा में कमी लाने के उद्देश्य से आज महिला शक्ति आत्मरक्षा केंद्र का शुभारम्भ किया गया। 

उदयपुर संभाग की आई जी आईपीएस श्रीमती विनीता ठाकुर और जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चंद्र विश्नोई के मुख्य आतिथ्य में एक समारोह के रूप स्थाई प्रशिक्षण केंद्र सामुदायिक भवन पुलिस लाइन परिसर में आयोजित किया गया। 

योजना का उद्देश्य महिलाओ और युवतियों को अत्याचार, छेड़छाड़, घरेलु हिंसा, यौन उत्पीड़न, चैन स्नेचिंग, एसिड अटैक एवं प्रतिकूल परिस्थितियों से निबटने और उनके आत्मविश्वास में वृद्धि कर उन्हें स्वयं की सुरक्षा हेतु आत्मनिर्भर बनाना है। 

कार्यक्रम के दौरान पुलिस के जवानो और ब्लैक बेल्टधारी कराटे प्रशिक्षक मांगीलाल द्वारा आत्मरक्षा की तकनीक का डेमो दिया गया। प्रशिक्षण के लिए 13 साल के ऊपर समस्त लड़किया एवं महिलाए निःशुल्क आवेदन कर सकती है। इस योजना के तहत स्थाई प्रशिक्षण केंद्र सामुदायिक भवन पुलिस लाइन परिसर में 7 दिन का कोर्स चलाया जा रहा है। 40 से 50 के समूह द्वारा आवेदन करने पर मास्टर ट्रेनर उस संस्था में जाकर भी यह प्रशिक्षण दे सकते है। अब तक 150 से अधिक आवेदन आ चुके है। 

उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान जिला उदयपुर के अतिरिक्त अधीक्षक, वृत्ताधिकारी एवं थानाधिकारी के अतिरिक्त महिला एवं बाल अधिकारिता विभाग, जतन संस्थान, जागृति पब्लिक स्कूल, नारी शाला, महिला सुरक्षा एवं सलाह केंद्र विभाग, साक्षी वन स्टॉप केंद्र एवं पुलिस कर्मियों के परिवारों समेत करीब 250 लोग शामिल हुए।     

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal