अंतर्राज्यीय चोर गैंग का पर्दाफाश, सोने चांदी के जेवरात समेत चार गिरफ्तार


अंतर्राज्यीय चोर गैंग का पर्दाफाश, सोने चांदी के जेवरात समेत चार गिरफ्तार 

गैंग के सरगना शहज़ाद उर्फ़ राजा समेत जुबेर खान, अज़हर अली और सरफ़राज़ रजा चारो यूपी के बरेली के रहने वाले है  
 
अंतर्राज्यीय चोर गैंग का पर्दाफाश, सोने चांदी के जेवरात समेत चार गिरफ्तार
UT WhatsApp Channel Join Now
पुलिस ने चोरी की 350 वारदातों का खुलासा करने का दावा किया है। इनमें हिरणमगरी क्षेत्र सहित उदयपुर के कई इलाकों में की गई चोरी की वारदातें शामिल हैं। इसके अतिरिक्त उक्त गैंग ने उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणासी, प्रतापगढ़, कानपुर, बिहार में पटना, औरंगाबाद, राजस्थान में जयपुर, उदयपुर, राजसमंद, माउंट आबू व गुजरात में सांबरकांटा जिले में चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है।

उदयपुर 2 दिसम्बर 2019 । उदयपुर की हिरणमगरी थाना पुलिस ने सोमवार को अंतरराज्यीय नकबजन गैंग का खुलासा किया है। पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बरेली की नकबजनी गैंग के चार शातिरों को गिरफ्तार कर उनके कब्ज़े से आधा किलो सोने के जेवर, ढाई किलो चांदी, 48 हजार रुपए नकद, फर्जी नंबर प्लेट लगी होंडा सिटी कार व विदेशी करेंसी भी बरामद की है। 

पुलिस ने बताया की गिरफ्तार अभियुक्तों में गैंग का सरगना 52 वर्षीय शहजाद अख्तर उर्फ राजा पिता मोहम्मद अख्तर निवासी बरेली कैंट यूपी, 29 वर्षीय जुबैर खान पिता अली हुसैन खान निवासी बरेली कैंट यूपी, 21 वर्षीय अजहर अली पिता सैयद जुरकेन अली निवासी बरेली यूपी हाल मुकाम सुभाष चौक जयपुर व 64 वर्षीय सरफराज रजा पिता शाहिद हुसैन निवासी हाफिजगंज बरेली यूपी शामिल हैं। 

इन अभियुक्तों से पुलिस ने चोरी की 350 वारदातों का खुलासा करने का दावा किया है। इनमें हिरणमगरी क्षेत्र सहित उदयपुर के कई इलाकों में की गई चोरी की वारदातें शामिल हैं। इसके अतिरिक्त उक्त गैंग ने उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणासी, प्रतापगढ़, कानपुर, बिहार में पटना, औरंगाबाद, राजस्थान में जयपुर, उदयपुर, राजसमंद, माउंट आबू व गुजरात में सांबरकांटा जिले में चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है।

काम करने का तरीका 

अभियुक्त दिन में सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच ही चोरी की वारदात को अंजाम देते। सुने पड़े फ्लेटों में ही चोरी करते है। पहले फ्लेटों में घूमकर रैकी करते है फिर दिन में ताला लगा होने वाले फ्लेटों की पूरी पड़ताल करने के बाद वारदात को अंजाम देते थे। वारदात के समय एक बुजुर्ग व्यक्ति भी साथ रखते थे ताकि किसी को शक न हो। ये ताला तोड़कर अंदर घुसते थे और सोने चांदी के जेवर लेकर फरार हो जाते थे। रास्ते में बाइक या कार में चलते ही बेकार सामान को फेंक देते थे। वारदात को अंजाम देने के बाद दूसरे शहर में शिफ्ट हो जाते थे। किसी भी शहर में सस्ती होटल में किराये पर रहते थे।

नकली बालो की विग भी साथ रखते थे 

पुलिस ने बताया की गैंग के सदस्य अपने साथ नकली बालो की विग भी साथ रखते थे। ताकि अपनी असली पहचान छुपा सके। यही नहीं वारदात के समय एक बुजुर्ग व्यक्ति भी साथ रखते थे ताकि किसी को शक न हो। इस बुज़ुर्ग व्यक्ति की डॉक्टर की फाइल भी साथ रखते थे। ताकि किसी को शक न हो। पुलिस ने इनके पास से डॉक्टर के काम आने वाला स्टेथोस्कोप, विशेष रूप से बरेली निर्मित नकब, ताला तोड़ने के औज़ार इत्यादि भी बरामद किये है।  

इन वारदातों का खुलासा 

पुलिस के सामने अभियुक्तों ने उदयपुर हिरणमगरी सर्कल में साकेत कॉपलेक्स, पैराडाइज अपार्टमेंट, राजविला अपार्टमेंट, राजसमंद व नाथद्वारा में भी चोरी की वारदातों का खुलासा किया है। जयपुर में जवाहर नगर स्थित गोलमार्केट में फ्लेटों में 5 से अधिक चोरी की वारदातों का खुलासा किया है। 

पुलिस अधीक्षक कैलाशचंद विश्नोई ने बताया कि चोरी की वारदातें दर्ज होने के बाद विशेष टीम का गठन किया गया। संदिग्ध नंबरों को सर्विलांस पर रखा गया। मुखबिर की सूचना के आधार पर अभिय़ुक्तों की गिरफ्तारी हो सकी। उक्त कार्यवाही का खुलासा करने में हिरणमगरी थाना के हेड कांस्टेबल विक्रम सिंह और कांस्टेबल उपेंद्र सिंह की विशेष भूमिका रही। 

हिरणमगरी पुलिस थानाधिकारी ने बताया की हेड कांस्टेबल विक्रम सिंह और कांस्टेबल उपेंद्र सिंह ने अभियुक्तों की संदिग्ध गाडी पर नज़र रख कर उन्हें ट्रेस कर अपनी बातो में उलझाकर पुलिस टीम की मदद से धर दबोचा। गिरफ्तारशुदा अभियुक्तों से अन्य वारदातों के सम्बन्ध में भी पूछताछ की जा रही है। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal