उदयपुर-जयसमंद स्टेट मेगा हाईवे बन रहा "दुर्घटना हाईवै"

उदयपुर-जयसमंद स्टेट मेगा हाईवे बन रहा "दुर्घटना हाईवै" 

जयसमंद स्टेट मेगा हाईवे पर जगह-जगह विलायती बबूल की झाड़ियां सड़क पर फैल रही हैं, और मवेशी रास्तों में भटक रहे हैं,  जिसकी वजह से दुर्घटनाएँ हो रही हैं।

 
Udaipur Jaisamand Highway Accidents

बीते 8 दिनों में हुए हादसों में 7 लोगो ने जान गवाई

उदयपुर - जयसमंद स्टेट मेगा हाईवे पर आए दिन दुर्घटना के शिकार होते लोगो की संख्या बढ़ती जा रही है।  अभी हाल ही में जिले में आयोजित ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा देकर लौट रहे युवक की दुर्घटना में मौत हो गयी। खाटीबोर परसाद निवासी धूलेश्वर (20) पुत्र नानूराम मीणा और उनके रिश्तेदार हरीश, पुत्र रमेश मीणा दोनों बांसवाड़ा में ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा देने के बाद स्कूटी पर अपने घर लौट रहे थे। सोमवार रात करीब 9 बजे जावरमाइंस थाना क्षेत्र के पलोदड़ा के समीप स्कूटी अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। हादसे में दोनों युवक घायल हो गए। दोनों को राहगीरों ने पलोदड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां धूलेश्वर मीणा की हालत गंभीर होने पर उसे उदयपुर रेफर कर दिया। युवक की अस्पताल पहुंचते ही मौत हो गई।

थाना प्रभारी बालकृष्ण ने बताया कि "ग्राम विकास अधिकारी (VDO)" की परीक्षा देकर मृतक अपने रिश्तेदार के साथ बांसवाड़ा से उदयपुर लौट रहा था।  पलोदड़ा के समीप स्कूटी अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। क्षेत्रवासियों राहगीरों ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां धूलेश्वर मीणा की हालत गंभीर होने पर उसे उदयपुर रेफर कर दिया। पुलिस ने मृतक के पिता नानूराम मीणा की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज करते हुए शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सुपुर्द किया।  

दूसरी और जयसमंद-सलूंबर स्टेट मेगा हाईवे पर मंगलवार रात करीब 9.15 बजे अनियंत्रित कार 10 फीट गहरी खाई में गिरकर पलट गई। हादसे में दो युवक घायल हो गए। ग्रामीणों ने दोनों को कार से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। इसी मार्ग पर सोमवार शाम को जयसमंद के समीप मच्छी कांटा खेराड़ के पास कार की टक्कर से परीक्षा देकर बांसवाड़ा लौट रहे बाइक सवार दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

इस रास्ते पर 8 दिनों में 7  लोगो की जान गई। हादसों में जगह-जगह विलायती बबूल की झाड़ियां सड़क एवं मोड़ में फैल रही है, लेकिन जिम्मेदारों द्वारा सफाई और कटाई नहीं करने से बड़े हादसे की खौफ बन रहता है। हादसों का एक और कारण हैं इस पूरे हाइवै पर घुतमे लावारिस मवेशी, जो सड़क पर एक तरफ से दूसरी तरफ दौड़ जाते हैं। इनमें कई मवेशी बीमार हैं जिन्हें गाड़ियों की सुधबुध नहीं रहती, और चलती गाड़ियों से टकरा जाते हैं। इन हादसों में मवेशियों का तो कुछ नहीं बिगड़ता, मगर गाड़ियाओं में नुकसान और जान लेव दुर्घटनाएं हो जाती हैं।  
  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal