दुल्हन अपहरण काण्ड में नया मोड़

दुल्हन अपहरण काण्ड में नया मोड़

उदयपुर 8 मई 2019, उदयपुर शहर में कल फ़िल्मी स्टाइल में हुए दुल्हन के अपहरण काण्ड में नया मोड़ आ गया है। कल सुबह सवीना रेलवे फाटक पर हुई घटनाक्रम में फिल्मी स्टाइल में दुल्हन को उठाकर ले जाने का एक मामला सामने आया था। उक्त घटना में दुल्हन का अपहरण करने वाला प्रियांक कोई और नहीं बल्कि दुल्हन का प्रेमी ही बताया जा रहा था। कल सोशल मीडिया पर दुल्हन का पत्र भी वायरल हुआ था जिसमे दुल्हन का अपने प्रेमी के साथ अपनी मर्ज़ी से जाना बताया जा रहा है, हालाँकि अपह्रत दुल्हन के अनुसार वह अपहरणकर्ता प्रियांक ने

 

दुल्हन अपहरण काण्ड में नया मोड़

उदयपुर 8 मई 2019, उदयपुर शहर में कल फ़िल्मी स्टाइल में हुए दुल्हन के अपहरण काण्ड में नया मोड़ आ गया है। कल सुबह सवीना रेलवे फाटक पर हुई घटनाक्रम में फिल्मी स्टाइल में दुल्हन को उठाकर ले जाने का एक मामला सामने आया था। कल सुबह जब वह तितरड़ी में विदाई के बाद एक कार में अपने पति के साथ चिंतामन जी की घाटी स्थित ससुराल जा रही थी तभी सवीना फाटक के पास एक अन्य कार में सवार अपहरणकर्ता आये और दूल्हे के साथ मारपीट कर दुल्हन का अपहरण करके ले गए थे।

उक्त घटना में दुल्हन का अपहरण करने वाला प्रियांक कोई और नहीं बल्कि दुल्हन का प्रेमी ही बताया जा रहा था। कल सोशल मीडिया पर दुल्हन का पत्र भी वायरल हुआ था जिसमे दुल्हन का अपने प्रेमी के साथ अपनी मर्ज़ी से जाना बताया जा रहा है, हालाँकि अपह्रत दुल्हन के अनुसार वह अपहरणकर्ता प्रियांक ने उनसे दो महीने पहले लिखवाया था। तब वह उनके साथ भावनात्मक तौर पर जुडी हुई थी। लेकिन उसके बाद उसने अपने घरवालों की सलाह मानकर क्षितिज से शादी करना मंज़ूर कर लिया था। जब युवती की क्षितिज के साथ शादी हो गई और वह अपने पति के साथ ससुराल जा रही थी तभी सवीना फाटक के पास प्रियांक और उनके साथियो ने उनके पति को घायल कर, उनका अपहरण कर ले गए।

पुलिस अधीक्षक कैलाश चंद्र बिश्नोई ने बताया की अपहरणकर्ता प्रियांक जीनगर और अपहर्ता युवती को जयपुर के सिंधी कैंप बस स्टैंड से दस्तयाब कर और उदयपुर लाया गया जहाँ अपहर्ता युवती ने पुलिस के समक्ष बयान दिया की वह अपनी मर्ज़ी से नहीं भागी है बल्कि उनका अपहरण किया गया है। पुलिस के युवती के बयानों के आधार पर 27 वर्षीय प्रियांक जीनगर पुत्र भागचंद जीनगर निवासी सूर्यानगर तितरड़ी को अपहरण, जानलेवा हमला करने के आरोप में जबकि 24 वर्षीय पुनीत नागदा पुत्र प्यारेलाल नागदा निवासी धोल की पाटी, 21 वर्षीय हरीश पटेल पुत्र प्रेमजी पटेल निवासी सवीना, 20 विजय सिंह राजपूत पिता राम सिंह निवासी राशमी, 22 वर्षीय उदयसिंह पिता शिवसिंह चौहान निवासी राशमी चित्तौड़गढ़ को अपराध में सहयोग करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

तरीका ए वारदात

पुलिस ने बताया की मुख्य अभियुक्त प्रियांक जीनगर ने अपने दोस्तों पुनीत नागदा, हरीश पटेल, विजय सिंह, उदयसिंह, सूरज उर्फ़ महेंद्र, अंकुर कुमावत और अन्य के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम देने के लिए एक प्लान तैयार किया जिसके तहत पुनीत ने शादी समारोह में शामिल होकर रेकी की और पल पल की खबर प्रियांक और अन्य साथियो को दी। जबकि उदयसिंह अपने साथ चित्तोड़ से अपने दोस्त की कार लाया और सुबह सवीना फाटक अंडरपास के पास देवरे पर पूर्व नियोजित प्लान के तहत दुल्हन की कार रोककर दूल्हे के साथ मारपीट कर दुल्हन को भगा कर ले गए।

यहाँ वहां भटकते हुए जयपुर पहुंचे

अपहरणकर्ता प्रियांक जीनगर और उनके साथी, अपहृता युवती को लेकर पहले सलूम्बर रोड पर भागे फिर वहां से चित्तौड़गढ़ जाकर गाडी बदली, चित्तौड़गढ़ में इनके दो साथी विजय सिंह और उदय सिंह उतर गए। जबकि प्रियांक एक अन्य साथी और अपहर्ता युवती के साथ भीलवाड़ा पहुँच कर जयपुर जाने वाली  निजी ट्रेवल्स बस में सवार हो गया। पुलिस ने इनके साथियो को डिटेन कर जयपुर पुलिस की सहायता से इन लोगो को जयपुर के सिंधी कैंप बस स्टैंड पर धर दबोचा।

अनुत्तरित सवाल जिसका नहीं कोई जवाब

मान लिया जाए की दुल्हन का अपहरण जबरन हुआ था, तो उसने बस में बैठने के बाद अपहरणकर्ता प्रियांक का विरोध क्यों नहीं किया। बस सवारियों से भरी थी, तो उसने किसी से भी मदद क्यों नहीं मांगी ? अगर युवती चाहती तो शोर मचा सकती थी। क्यूंकि अपहरणकर्ता के पास कोई धारदार या जानलेवा हथियार भी नहीं था। फिर भी युवती ने ख़ामोशी क्यों अख्तियार की ?

https://udaipurtimes.com/hindi/crime/bride-kidnap-in-filmi-style/

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal