गीतांजली में EMG  एवं NCS की एडवांस कार्यशाला का आयोजन


गीतांजली में EMG  एवं NCS की एडवांस कार्यशाला का आयोजन

गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल द्वारा इलेक्ट्रो इलेक्ट्रोमायोग्राफी (EMG) और नर्व कंडक्शन स्टडी (NCS) पर चिकित्सको के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन 13 दिसम्बर 2019 को किया गया।  
 
गीतांजली में EMG  एवं NCS की एडवांस कार्यशाला का आयोजन
UT WhatsApp Channel Join Now
इस विस्तृत प्रशिक्षण के द्वारा भाग ले रहे डाक्टर्स को इलेक्ट्रो डायग्नोस्टिक स्टडी जिसे की इलेक्ट्रोमायोग्राफी (EMG) एवं नर्व कंडक्शन स्टडी (NCS) भी कहा जाता है, की जानकारी दी गयी।  इन तकनीकों से मांसपेशियों और नाड़ियों में आई अस्वाभाविकता या एब्नॉर्मलिटी को परखा जा सकता है। इस जांच से अस्थि रोग, नाड़ी रोग और फिजियोथेरेपी के द्वारा निदान में सहायता मिलती है। 

गीतांजली मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल द्वारा इलेक्ट्रो इलेक्ट्रोमायोग्राफी (EMG) और नर्व कंडक्शन स्टडी (NCS) पर चिकित्सको के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन 13 दिसम्बर 2019 को किया गया।  

इस विस्तृत प्रशिक्षण के द्वारा भाग ले रहे डाक्टर्स को इलेक्ट्रो डायग्नोस्टिक स्टडी जिसे की इलेक्ट्रोमायोग्राफी (EMG) एवं नर्व कंडक्शन स्टडी (NCS) भी कहा जाता है, की जानकारी दी गयी।  इन तकनीकों से मांसपेशियों और नाड़ियों में आई अस्वाभाविकता या एब्नॉर्मलिटी को परखा जा सकता है। इस जांच से अस्थि रोग, नाड़ी रोग और फिजियोथेरेपी के द्वारा निदान में सहायता मिलती है। 

डॉ. मनजिंदर कौर ,प्रोफेसर एवं हेड ऑफ़ फिजियोलॉजी जी.एम.सी.एच, इस कार्यशाला की कार्यकारी सचिव, ने NCS पर व्याख्यान दिया।

इस अवसर पर डीन डॉ. एफ. एस. मेहता, डॉ सुमन शर्मा- रिसोर्स फेकल्टी, डॉ. जितेंद्र योगी, डॉ. रेणु खमेसरा और राजस्थान मेडिकल कौंसिल के ऑब्जर्वर डॉ. बी के बीनावरा उपस्थित थे। 35 से अधिक डॉक्टर्स ने इस कार्यशाला में भाग लिया एवं लाभान्वित हुए।

डॉ. रेणु खमेसरा, नाड़ी रोग विशेषज्ञ  ने अपने अनुभव साझा करते हुए तकनीकों को प्रयोग करना सिखाया। इस सफल आयोजन के बाद चिकित्सको ने अपने अस्पतालों में इनके प्रयोग के प्रति रुचि और सहमति जताई। जो समाजोपयोगी होने के साथ ही सफल भी मानी जाती है। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal