भारतीय शहीद सैनिकों को काव्यात्मक श्रृद्धांजलि


भारतीय शहीद सैनिकों को काव्यात्मक श्रृद्धांजलि

मेवाड़ के कलमकारों की, साहित्यिक संस्थाओं, सर्वधर्म मैत्री संघ, अदबी संगम, युगधारा, तामीर सोसायटी, हमदर्द संस्थान एवं शाद फाउण्डेशन द्वारा, सांय 3ः15 बजे, पटेल सर्कल स्थित मैत्री संघ सभागार में, जम्मु कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में हुए शहीदों को नम आँखों से भावभीनी काव्यात्मक श्रृद्धांजलि दी गई।

 
UT WhatsApp Channel Join Now

भारतीय शहीद सैनिकों को काव्यात्मक श्रृद्धांजलि

मेवाड़ के कलमकारों की, साहित्यिक संस्थाओं, सर्वधर्म मैत्री संघ, अदबी संगम, युगधारा, तामीर सोसायटी, हमदर्द संस्थान एवं शाद फाउण्डेशन द्वारा, सांय 3ः15 बजे, पटेल सर्कल स्थित मैत्री संघ सभागार में, जम्मु कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में हुए शहीदों को नम आँखों से भावभीनी काव्यात्मक श्रृद्धांजलि दी गई।

सर्वप्रथम, अकबर ‘शाद’ ने “सब लुटा देंगे, हम ऐ भारत माँ तेरे लिए” मुश्ताक़ चंचल नें “पड़ौसी, जन्म से है दरअसल, बदज़ात भारत माँ।” हबीब अनुरागी ने “हिन्द, पाक, बंगलादेश मिल बन जाए महाभारत।” डाॅ. प्रेम भंडारी ने “आज हो रहा है, जग में शर्मसार, पाकिस्तान”, खुर्शीद नवाब ने “ए हिन्द के रखवालों, दुश्मन पर नज़र रखना।”

Download the UT Android App for more news and updates from Udaipur

डा. इसहाक फ़ुर्कत ने “अपनी ग़फलत पर ए नादां, तू बहुत पछताएगा।” एडवोकेट अशफ़ाक ‘रहबर’ ने “अनक़रीब जब भी चुनाव होता है, सरहदों पर तनाव, होता है।” आखिर में डा. इकबाल सागर ने “जान जितनों ने गंवाई उन शहीदों को सलाम” तरन्नुम में गीत पेश किया। फ़ादर नारर्बट हेरमन ने नम आँखों से सबको धन्यवाद दिया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal