जरूरतमंद बालिकाओं व महिलाओं की मददगार बनी पुलिस

जरूरतमंद बालिकाओं व महिलाओं की मददगार बनी पुलिस 

स्कुल की बालिकाओं को सैनेटरी नेपकीन की ज़रूरत के मद्देनजर चेनाराम पचार थानाधिकारी गोवर्धनविलास द्वारा सम्बन्धित क्षेत्र के NGO गूँज से सम्पर्क कर बालिकाओं की समस्या से अवगत कराया व व्यवस्था करने हेतु आग्रह किया। जिस पर NGO गूँज के सदस्य सुश्री स्वाती शर्मा व धीरज शर्मा ने उक्त समस्या को समझकर सहयोग करने की सहमति दी थी।
 
जरूरतमंद बालिकाओं व महिलाओं की मददगार बनी पुलिस
आदिवासी अंचल में सुदूर इलाके में सरकारी स्कूलों की छात्राओं व ज़रूरतमंद महिलाओ को द्वितीय चरण में 600 सैनेटरी नैपकिन, किट, मास्क, साबुन और  स्कूल बैग का वितरण 

उदयपुर 9 जून 2020 । ग्रामीण क्षेत्र में सरकारी विद्यालय में छात्राओं को हर माह सैनेटरी नेपकिन वगैरह दिये जाते थे परन्तु लाॅकडाउन के दौरान उक्त सामग्री विद्यालय की बालिकाओं को नहीं मिलने की जानकारी मिली थी एवं पहाडियों पर दूर - दूर मकान बने होने व आसपास ऐसी सामग्री की दुकाने नही होती एवं इस प्रकार की जरूरत होने पर भी बालिकाए आपनी समस्या संकोचवश किसी को बता नही पाती हैं और न ही खरीदने की क्षमता होती है व ग्रामीण परिवेश की इन छात्राओ व महिलाओं को सैनेटरी नैपकिन सहजता से उपलब्ध नही हो पाते है। 

स्कुल की बालिकाओं को सैनेटरी नेपकीन की ज़रूरत के मद्देनजर चेनाराम पचार थानाधिकारी गोवर्धनविलास द्वारा सम्बन्धित क्षेत्र के NGO गूँज से सम्पर्क कर बालिकाओं की समस्या से अवगत कराया व व्यवस्था करने हेतु आग्रह किया। जिस पर NGO गूँज के सदस्य सुश्री स्वाती शर्मा व धीरज शर्मा ने उक्त समस्या को समझकर सहयोग करने की सहमति दी थी।

जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई द्वारा मानवीय दृष्टिकोण रखते हुए व ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं की उक्त समस्या के समाधान हेतु अनंत कुमार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुख्यालय के निर्देशन में श्रीमती प्रेम धणदे पुलिस उप अधीक्षक वृत गिर्वा को इस कार्य हेतु मनोनित किया गया। श्रीमती प्रेम धणदे पुलिस उप अधीक्षक वृत गिर्वा, चैनाराम पचार थानाधिकारी गोवर्धनविलास मय टीम द्वारा NGO गूँज की सहायता से प्रथम चरण में दूर-दराज के गांव खजूरी, बारापाल व काया की राजकीय स्कूलो में स्कुल प्रशासन के सहयोग से प्रथम चरण में दिनांक 11.05.2020 को करीब 150 सैनेटरी नेपकीन किट वितरण किये गये थे।

प्रथम चरण से वंचित बालिकाओं व महिलाओं की सेनेटरी नेपकीन की जरूरत होने की बात सामने आई। जिसपर जिला पुलिस अधीक्षक श्री कैलाशचन्द्र विश्नोई को इनकी समस्याओं से अवगत कराया गया। जिसपर जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार पुनः NGO गूँज संस्था से सम्पर्क कर मदद के लिए आग्रह किया गया। जिसपर आज द्वितीय चरण में खजुरी, काया, बारापाल की वंचित बालिकाओं, विधवाओं एवं जरूरतमंद महिलाओं को एवं नेला स्कुल की बालिकाओं को सम्मिलित करते हुए कुल 600 सेनेटरी नेपकीन किट, मास्क, साबुन, स्कुल बेग का वितरण किया गया।

इस मौके पर सैनेटरी नेपकीन किट के साथ-साथ स्कुली छात्राओं को कोरोना महामारी के दौरान रखी जाने वाली सावधानियां व इससे बचने के उपाय बताएं व शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के बारें में भी जानकारी दी गई। श्रीमती प्रेम धणदे वृताधिकारी वृत गिर्वा एवं चेनाराम पचार थानाधिकारी गोवर्धन विलास द्वारा स्वंय को आत्मनिर्भर बनने व बालिकाओं के साथ होने वाले अपराध के बारें में खुल कर बोलने व उचित माध्यम से शिकायत पुलिस थाने तक देने के बारे में समझाया गया।

उक्त कार्य में टीम मनोहर सिंह हैड.कानि., रामस्वरूप, अमृत लाल, राजेन्द्र सिंह कानि.,दिनेश सिंह कानि., राकेश मेहता कानि., लालचंद कानि., शंकरलाल कानि., करण कुमार कानि., सुरेंद्र कुमार कानि., महिला कानि. रिया कुमारी व लक्ष्मण सिंह कानि चालक. व घनश्याम सिंह कानि. चालक व NGO गूँज संस्था के सदस्य सुश्री स्वाती शर्मा, धीरज शर्मा व स्कूल प्रशासन का अच्छा सहयोग रहा। 

उक्त सभी स्कूलों में उपस्थित बालिकाओं से पुलिस उप अधीक्षक वृत गिर्वा श्रीमती प्रेम धणदे ने समस्याएं जानी व उनके कोई भी परेशानी आने पर पुलिस को अवगत कराने हेतु बताया। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal