इमाम हुसैन की शहादत की याद में छड़ियों का जुलुस निकाला

इमाम हुसैन की शहादत की याद में छड़ियों का जुलुस निकाला

फैजे हुसैनी कमेटी (बड़ा ताजिया) के शाहनवाज खान ने बताया कि मंगलवार को सुबह 9ः30 बजे लोहा बाजार स्थित जामा मस्जिद से छड़ियों का जुलुस रवाना होकर अलीपुरा, रहमान कोलोनी, धोली बावड़ी, काली बावड़ी, सुरजपोल, सिन्धी सरकार की हवेली, खेरादीवाड़ा, कोठियों की गवाड़ी, अंजुमन, मोचीवाड़ा, बड़ा बाजार, घंटाघर, नावघाट, पाण्डुवाडी, नागानगरी, कल्लेसात, महावतवाड़ी, दरखानवाडी, काजीवाड़ा, कारवाड़ी, सिलावटवाड़ी, हाथीपोल होते हुए चेटक सर्कल स्थित पलटन की मस्जिद पर पहुंचा जहाँ से पुनः छड़ियां अपने-अपने गंतव्य स्थल पर रवाना हुई।

 

इमाम हुसैन की शहादत की याद में छड़ियों का जुलुस निकाला

इस्लाम के पैगम्बर हजरत मोहम्मद (स. अ.) साहब के छोटे नवासे और हज़रत अली (अ.स.) के बेटे हजरत इमाम हुसैन (अ. स.) और उनके 72 जानिसार साथियों की शहादत की याद में 18 सितम्बर को छड़ियों का जुलुस निकाला गया।

फैजे हुसैनी कमेटी (बड़ा ताजिया) के शाहनवाज खान ने बताया कि मंगलवार को सुबह 9ः30 बजे लोहा बाजार स्थित जामा मस्जिद से छड़ियों का जुलुस रवाना होकर अलीपुरा, रहमान कोलोनी, धोली बावड़ी, काली बावड़ी, सुरजपोल, सिन्धी सरकार की हवेली, खेरादीवाड़ा, कोठियों की गवाड़ी, अंजुमन, मोचीवाड़ा, बड़ा बाजार, घंटाघर, नावघाट, पाण्डुवाडी, नागानगरी, कल्लेसात, महावतवाड़ी, दरखानवाडी, काजीवाड़ा, कारवाड़ी, सिलावटवाड़ी, हाथीपोल होते हुए चेटक सर्कल स्थित पलटन की मस्जिद पर पहुंचा जहाँ से पुनः छड़ियां अपने-अपने गंतव्य स्थल पर रवाना हुई।

इमाम हुसैन की शहादत की याद में छड़ियों का जुलुस निकाला  

छड़ियों के जुलुस के दौरान विभिन्न मार्गों एवं मुस्लिम बहुल्य क्षेत्रों में सबीलें सजाई गई। जहां पर शरबत, खीर, हलवा, पुलाव एवं शीतल पेय पदार्थ तर्बरूक के रूप में वितरित किए गए।

Click here to Download the UT App

छड़ियों के जुलुस के समापन के बाद बड़ा ताजिया पर फूल, चुरमा, मलीदा, मिठाइयां, शरबत एवं विभिन्न प्रकार के तर्बरूक पर फातिहा ख्वानी भी हुई जिसमें बड़ी संख्या में शहरके अकीदतमंदो ने हिस्सा लिया।

यौम ए आशुराह, रोज़ा इफ्तार व जूलुसे हुसैनी 21 को

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी जमाअत रजाए मुस्तफा शाख-उदयपुर के तत्वावधान में ताजुश्शरीअह हाॅल, मस्जिद हुज्जतुल इस्लाम (बीच की मस्जिद) सिलावटवाड़ी में शुक्रवार प्रातः 9 बजे से आशुराह मनाया जाएगा। जिसका आगाज कलामे पाक की तिलावत से खतीब व इमाम मौलाना मुसन्ना रज़वी करेंगे। जश्न में अब्दुल अजीज, अब्दुल हफीज कादरी, गुलरेज हुसैन, अजहर जिलानी सहित शहर के नातख्वां हजरात नातिया कलाम पेश करेंगे।

जूलुसे हुसैनी बाद नमाज मगरिब

शुक्रवार को सायं मगरिब की नमाज के फौरन बाद ताजुश्शरीअह हाॅल, मस्जिद हुज्जतुल इस्लाम (बीच की मस्जिद) सिलावटवाड़ी से जूलुस निकाला जाएगा। जो कि सिलावटवाडी से होते हुए जाटवाडी, नई पुलिया होते हुए अम्बावगढ दरगाह पर पहुंचेंगा और दरगाह पर फातिहा व सलातो सलाम के साथ अमनो अमान व खुशहाली की दुआए की जाएगी। उक्त जानकारी सदर जमाअत रजाए मुस्तफा मौलाना मुसन्ना रजवी ने दी।

यौम ए आशुराह के मुख्य वक्ता खलीफा-ए-ताजुश्शरीअ़ह मुफ्ती मसीहुद्दीन हशमती उत्रोला-(उत्तरप्रदेश) एवं मौलाना सिब्तैन रज़ा अशरफी गुजरात यौमे आशुराह, तालीमाते इस्लाम व इमाम हुसैन की जीवनी व शहादत का बयान करेंगे। खलीफा-ए-ताजुश्शरीअह मौलाना मोहम्मद हुसैन जहांगीरी रौनके स्टेज होंगे। कार्यक्रम दोपहर की नमाजे जुम्आ तक चलेगा वहीं जुम्अ़ा की अजान 2.00 व नमाज 2.30 बजे पढी जाएगी।

रोजा इफ्तार प्रोग्राम

शुक्रवार को अम्बावगढ स्थित दरगाह हजरत गंजे शहीदा अम्बावगढ वाले बाबा के दरगाह परिसर में यौमे आशुराह पर रोजा रखने वाले लोगों के लिए इफ्तार का आयोजन किया जाएगा जिसमें शहर भर के विभिन्न मोहल्ले के रोजेदार अपना रोजा इफ्तार करेंगे।

सेहरी व इफ्तार का वक्त

मुर्हरम के अवसर पर दो रोजे के रखे जाते है जो कि इस्लामी तारीख 9, 10 या 10 व 11 के रखे जाते है। उदयपुर व उसके आस-पास के इलाकों के लिए सेहरी का वक्त सुबह 5 बजे तक रहेगा।

इमाम हुसैन की शहादत की याद में छड़ियों का जुलुस निकाला

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal