अस्पतालों में ऑक्सीजन के साथ आवश्यक सुविधाओं के हो पुख्ता इंतजाम-शर्मा

अस्पतालों में ऑक्सीजन के साथ आवश्यक सुविधाओं के हो पुख्ता इंतजाम-शर्मा

प्रभारी सचिव अजिताभ शर्मा पहुंचे उदयपुर, ली समीक्षा बैठक

 
अस्पतालों में ऑक्सीजन के साथ आवश्यक सुविधाओं के हो पुख्ता इंतजाम-शर्मा

कोरोना से लड़ने और बचाने के लिए मुस्तैद है सरकार व प्रशासन

उदयपुर, 22 अप्रेल 2021। राज्य सरकार ने उदयपुर जिले में कोरोना की स्थिति पर समीक्षा, नियंत्रण के उपाय व जनजागरूकता के साथ लोगों की सुरक्षा के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा नियुक्त किए गए जिले के प्रभारी सचिव अजिताभ शर्मा गुरुवार को उदयपुर पहुंचे।

प्रभारी सचिव शर्मा ने जिला परिषद सभागार में संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट व जिला कलक्टर चेतन देवड़ा सहित अन्य प्रशासनिक एवं मेडिकल विभाग के अधिकारियों के साथ अहम बैठक ली और कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा की।  

अस्पतालों में बेड बढ़ाने व ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश:

बैठक के दौरान प्रभारी सचिव शर्मा ने जिले में कोविड मैनेजमेंट की बारीकियों पर चर्चा की। ब्लॉकवार समीक्षा करते हुए उन्होंने मेडिकल, होम आइसोलेशन, कोरोना प्रोटोकॉल, जन अनुशासन पखवाड़ा, निषेधाज्ञा की पालना, माइक्रो कन्टेनमेंट जोन जैसे विषयों पर फीडबैक लिया और संसाधनों के समुचित उपयोग व आमजन को राहत के लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए पहली प्राथमिकता अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर व ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति व उपलब्धता है। चिकित्सकीय सुविधाओं के अभाव में किसी मरीज को काई परेशानी नहीं हो, इसके लिए विभिन्न आवश्यक सुविधाओं के पुख्ता इंतजाम किए जाए।

कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए करनी होगी सख्ती

वर्तमान स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए शर्मा ने कहा कि कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए हमे और अधिक सख्त होना होगा। उन्होंने कहा कि पुलिस व प्रशासन मिलकर कोविड गाइडलाइन की अवहेलना व उल्लंघन करने वालों पर लगातार अपनी कार्यवाही जारी रखंे। उन्होंने एसपी डॉ. पचार को कोरोना प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करवाने को कहा। उन्होंने कहा कि लोगों को प्रेरित करे कि बिना काम के घर से बाहर नहीं निकले और यदि कोई आवश्यक कार्य है तो मास्क पहने व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करें। कोरोना की इस चैन को तोड़ने में आमजन को अपनी अहम भूमिका निभानी होगी। उदयपुरवासियों को स्वयं सतर्क व जागरूक रहकर प्रशासन का सहयोग करना होगा तभी हम कोरोना पर नियंत्रण पा सकेंगे।

प्रभारी सचिव शर्मा ने कहा कि कोरोना पर नियंत्रण के साथ कोविड प्रोटोकॉल की पालना सुनिश्चित करवाने के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों को नियमित निर्धारित क्षेत्र का निरीक्षण करने, प्रभावी मॉनिटरिंग करने एवं कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालो नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने इस दौरान प्रभारी सचिव को कोरोना पर नियंत्रण एवं आमजन की सुरक्षा के लिए प्रशासन द्वारा की जा रही कार्यवाही एवं प्रयासों क बारे में अवगत कराया। एसपी डॉ. पचार ने जिले की सीमाओं पर की गई नाकाबंदी, शहर में स्थापित किये गये चैक पोस्ट, माइक्रो कन्टेनमेंट जोन में पुलिस की गतिविधियों एवं सम्पूर्ण जिले में पुलिस टीम द्वारा की जा रही कार्यवाही के संबंध में अवगत कराया।

ईएसआई हॉस्पीटल में व्यवस्थाओं का लिया जायजा

देर शाम प्रभारी सचिव शर्मा ने चित्रकूट नगर स्थित ईएसआई हॉस्पीटल में कोविड मरीजों के उपचार के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। संक्रमण की बढ़ती गति को देखते हुए अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई, बेड, वेंटिलेंटर सहित अन्य आवश्यक उपकरणों के बारे में जानकारी प्राप्त की। वहां उपचाराधीन मरीजों के लिए की गई व्यवस्थाओं के साथ दिए जा रहे उपचार के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने वहां सेवाएं दे रहे चिकित्साकर्मियों को पूर्ण सतर्कता बरतने एवं कोविड मरीजों के इलाज में कोई कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर देवड़ा सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी भी इस दौरान साथ रहे।

ये रहे मौजूद

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार, जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू, एडीमए सिटी अशोक कुमार, एडीएम प्रशासन ओ.पी. बुनकर, आरएसएमएम के एमडी ओम कसेरा, आबकारी आयुक्त जोगाराम, यूआईटी सचिव डॉ. अरूण कुमार हसीजा, सीएमएचओ डॉ दिनेश खराड़ी, आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.लाखन पोसवाल आदि मौजूद रहे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal