रोटरी देश में 10-10 हजार चेकडेम व वाटरबाॅडिज बनायेगाःमेहता


रोटरी देश में 10-10 हजार चेकडेम व वाटरबाॅडिज बनायेगाःमेहता

रोटरी क्लब उदयपुर द्वारा रोटरी अन्तर्राष्ट्रीय के अध्यक्ष शेखर मेहता के सम्मान में समारोह आयोजित  
 
रोटरी देश में 10-10 हजार चेकडेम व वाटरबाॅडिज बनायेगाःमेहता
UT WhatsApp Channel Join Now
शेखर मेहता ने की 12 हजार पुस्तकें देने की घोषणा

उदयपुर 3 मार्च 2020। रोटरी अन्तर्राष्ट्रीय के वर्ष 2021-22 के अध्यक्ष शेखर मेहता ने कहा कि रोटरी भारत में सेवा के 100 वें वर्ष में केन्द्र सरकार के साथ मिलकर जनहित के कार्यो से जुड़ते हुए अगले पांच वर्षो में 10-10 हजार चेकडेम व वाटर बाॅडिज बनायेगा। जिसमें 250 चेकडेम 200 वाॅटर बाॅडिज तो इस वर्ष 30 जून तक बना देगा।

वे रोटरी क्लब उदयपुर द्वारा यूसीसीआई के अरावली सभागार में आयोजित सम्मान समारोह में बाले रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत के रोटरी सेवा के 100 वें वर्ष के उपलक्ष में रोटरी भारत में विभिन्न रोटरी क्लबों के माध्यम से 2430 करोड़ के सेवा प्रोजेक्ट किये जायेंगे। सेवा कार्यो में भारत विश्व में अन्य देशों के मुकाबले बहुत आगे है। भारत में रोटरी के 250 हाॅस्पीटल चल रहे है। भारत में रोटरी ने अब तक 20 लाख सर्जरी 20 हजार हार्ट सर्जरी करवायी है। रोटरी द्वारा किये गये सेवा कार्यो को यदि दिमाग के बजाय दिल से सोचेंगे तो रोटेरियन होने पर गर्व महसूस होगा।   

मेहता ने बताया कि अगले 3 वर्षो में उनका यह प्रयास रहेगा कि रोटरी को नोबल शान्ति तथा विश्व से पोलियो उन्मूलन क्षेत्र में किये गये कार्य को लेकर नोबल चिकित्सा पुरूस्कार दिलाने के साथ ही रोटरी को सर्वश्रेष्ठ सेवा संस्था के रूप में स्थापित कराने का प्रयास रहेगा। इस अवसर पर उन्होंने रोटरी क्लब उदयपुर को 50 लाख रूपयें का ग्लोबल ग्रान्ट पार्टनर देने की भी घोषणा की। इसके लिये सर्विस प्रोजेक्ट तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि जब हम किसी इतिहास के पास जा कर खड़े होते है तो हमारें रोंगटे खड़े हो जाते है। 

रोटरी डिस्ट्रिक्ट 3054 की प्रान्तपाल बीना देसाई ने कहा कि सकारात्मकता शेखर मेहता के जीवन का मूल ध्येय रहा है और इसी कारण वे आज इस सर्वोच्च पद पर पंहुच पाये है। प्रान्तपाल निर्वाचित राजेश अग्रवाल ने कहा कि विश्व पटल पर भारतीय रोटरी की छवि में बहुत उछाल आया है। हमारा भविष्य तभी मजबूत होगा जब हमारा वर्तमान मजबूत होगा। मजबूत टीम के कारण ही मजबूत कार्य संभव हो पाते है। प्रान्तपाल मनोनीत अशोक मंगल ने कहा कि शेखर मेहता के विश्व में रोटरी सदस्यता वृद्धि के लक्ष्य में एक लाख सदस्यों की वृद्धि करनी होगी। इसमें हम सभी का सहयोग रहेगा। प्रान्तपाल मनोनीत बलवन्त चिराना ने कहा कि शेखर मेहता के इस पद पर पंहुचने के पीछे उनका सेवा भाव व सेवा करने का जूनून रहा है। 

इस अवसर पर स्वागत समिति के चेयरमेन पूर्व प्रान्तपाल निर्मल सिंघवी ने कहा कि भारत में टीच कार्यक्रम के प्रणेता के रूप में पहिचान बनाने वाले शेखर मेहता के रोटरी अन्तर्राष्ट्रीय अघ्यक्ष बनने पर हर भारतीय रोटेरियन को गर्व है। इनके अध्यक्ष बनने से रोटरी में जागृति आयी है।

क्लब अध्यक्ष डाॅ. प्रदीप कुमावत ने कहा कि जमीन से जुड़कर सेवा कार्य को प्राथमिकता देनी चाहिये। चाहे इसक लिये अपने सिद्धान्तों का भी त्याग करना पड़े। शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण, पब्लिक ईमेज जैसे क्षेत्र में रोटरी क्लब उदयपुर व आलोक संस्थान पिछले कई वर्षो से सेवा कार्य करता आ रहा है। रोटरी क्लब उदयपुर ने इस वर्ष से समरसता का कार्य प्रारम्भ किया है। 

रोटरी शताब्दी गीत का लोकार्पण - शेखर मेहता ने डाॅ. प्रदीप कुमावत द्वारा रचित एवं मनमोहन भटनागर द्वारा संगीतबद्ध किये गये रोटरी शताब्दी गीत का लोकार्पण किया। इस गीत को सुनने के बाद मेहता ने इसकी भूरि-भूरि प्रशंसा की। 

समारोह में क्लब की ओर से निर्मल सिंघवी, बीना देसाई, डाॅ. प्रदीप कुमावत, संजय भटनागर ने शेखर मेहता को अभिनन्दन पत्र भेंट किया। इसका वाचन प्रदीप कुमावत ने किया। समारोह में क्रियेशन की ओर से बालिकाओ ने राजस्थानी गीत एवं गणपति वंदना की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर रोटरी क्लब मींरा की सदस्याओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन मधु सरीन ने किया।

शेखर मेहता ने की 12 हजार पुस्तकें देने की घोषणा

रोटरी क्लब उदयपुर द्वारा दूरदराज 18 राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों के ज्ञानवृद्धि के लिये लाईब्रेरी हेतु रेलवे के सहयोग से प्रदान की जा रही पुस्तकें से प्रभावित हो कर रोटरी अन्तर्राष्ट्रीय के वर्ष 2021-22 के अध्यक्ष शेखर मेहता ने 12 हजार पुस्तकें अपनी ओर से देने की घोषणा की।

क्लब अध्यक्ष डाॅ प्रदीप कुमावत ने बताया कि क्लब ने 30 लाख रूपयें की लागत से 18 राजकीय विद्यालयों को लाईब्रेरी हेतु 430-430 पुस्तकें, बुक रखने हेतु अलमीरा, दों बैंच व टेबल प्रदान की जा रहा है। क्लब के इस सेवा कार्य से मेहता काफी प्रभावित हुए और उन्होंने तत्काल इतनी इतनी ही पुस्तकें अपनी ओर से देने की घोषणा की। इस घोषणा के पश्चात अब 18 के बजाय 36 विद्यालयों में लाईब्रेरी खोली जा सकेगी। समारोह में 18 विद्यालयों को हाथों हाथ शेखर मेहता ने 430-430 पुस्तके प्रदान की।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal