सात दिवसीय अणुव्रत उद्बोधन सप्ताह प्रारम्भ


सात दिवसीय अणुव्रत उद्बोधन सप्ताह प्रारम्भ

आचार्य महाश्रमण के शिष्य मुनि प्रसन्न कुमार ने कहा कि शिक्षक वर्ग व्यक्ति निर्माण की रीढ़ तो विद्यार्थी वर्ग कच्ची मिट्टी के ढेला है। जिस प्रकार के घड़े का निर्माण करना है, वह दोनों की योग्यता पर निर्भर करता है।

 
UT WhatsApp Channel Join Now

सात दिवसीय अणुव्रत उद्बोधन सप्ताह प्रारम्भ

उदयपुर 26 सिंतबर 2019। आचार्य महाश्रमण के शिष्य मुनि प्रसन्न कुमार ने कहा कि शिक्षक वर्ग व्यक्ति निर्माण की रीढ़ तो विद्यार्थी वर्ग कच्ची मिट्टी के ढेला है। जिस प्रकार के घड़े का निर्माण करना है, वह दोनों की योग्यता पर निर्भर करता है।

वे आज अणुव्रत समिति द्वारा भुवाणा स्थित मिकार्डो स्कूल में आयोजित अणुव्रत उद्बोधन सप्ताह के प्रथम दिन प्रेरणा दिवस के अवसर पर शिक्षक-विद्यार्थी वर्ग को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अणुव्रत वर्गीय आचार संहिता निर्माण का उर्वर रो माटे रियटन तैयार कर के आचार्य तुलसी ने जनता को परोसा। इसका उपयोग कर पीढ़ी को संस्कारों से उन्नत बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि अणुव्रत आन्दोलन आजादी के बाद करीब 70 वर्षो से व्यक्ति निर्माण, यानि चारित्रिक, नैतिक एवं मानवीय मूल्यों की पुनः प्रतिष्ठा का सघन प्रयास कर रहा है।

अब पढ़ें उदयपुर टाइम्स अपने मोबाइल पर – यहाँ क्लिक करें

मुनि ने कहा कि प्रतिवर्ष अणुव्रत सप्ताह के माध्यम से इन मूल्यों का सघन प्रयास किया जाता है औैर तेरापंथ धर्म संघ की सभी संस्थाएं, साधु, साध्वी समाज से करीब 800 से अधिक साधक निःस्वार्थ भावना से हजारों किमी. पैदल एवं श्रावक विदेशों में 70 वर्षो से निरन्तर कार्य कर रहे है। विद्यार्थियों के लिये अणुव्रत के अलग से नियम है, जिसमें कहा गया कि मैं परीक्षा में अवैधानिक उपयोग का सहरा नहीं लूंगा,चुनाव में अनैतिक आचरण नहीं करूंगा, मैं हिंसात्मक तोड़फोड़़ में भाग नहीं लूंगा,खान-पान की शुद्धि एवं विनम्र बना रहूंगा।

उन्होंने कहा कि अणुव्रत ऐसा नियम है जिसमें केवल जीवन शुद्धि की बात कहीं जाती है। इस छोटी उम्र के विद्यार्थियों का समुचित विकास आवश्यक है। उन्होंने बचचों से कहा कि भविष्य में किसी भी क्षेत्र में जायेंगे, वहां अपने आदर्श जीवन की अमिट छाप छोड़ेंगे। इस छोटी उम्र का प्रशिक्षण दीर्घजीवी होता है।

इस अवसर पर विद्यालय के संस्थापक नरेन्द्र पोरवाल, अणुव्रत सिमति के नये अध्यक्ष डाॅ. निर्मल कुणावत, सचिव डाॅ. सुरेन्द्र छंगाणी, तेरापंथ सभाध्यक्ष सूर्यप्रकाश मेहता, पूर्व अध्यक्ष गणेश डागलिया, अरूण कोठारी, वर्तमान एवं निवर्तमान कार्यकर्ता मौजूद थे। अंत में आभार मीडिया प्रभारी राजेन्द्र सेन ने ज्ञापित किया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal