सीए के हस्ताक्षर कानून के समानः विक्रमसे


सीए के हस्ताक्षर कानून के समानः विक्रमसे

चार्टर्ड अकाउन्टेन्ट की दो दिवसीय 41 वीं रिजनल काॅन्फ्रेन्स सम्पन्न

 
सीए के हस्ताक्षर कानून के समानः विक्रमसे
UT WhatsApp Channel Join Now

आईसीएआई की सेन्ट्रल इण्डिया रिजनल कोन्सिल द्वारा पहली बार उदयपुर के यूसीसीआई के पी.पी.सिंघल सभागार में फिजिकल एवं वर्चुअल रूप में आयोजित की जा रही दो दिवसीय 41 वीं रिजनल वार्षिक काॅन्फे्रेन्स

उदयपुर। आईसीएआई के पूर्व अध्यक्ष एवं पीएनबी हाउसिंग के निदेशक निलेश विक्रमसे ने कहा कि वर्तमान में चार्टर्ड अकाउन्टेन्ट के हस्ताक्षर की महत्ता सिर्फ टू एण्ड फेयर तक ही नहीं रह गयी है। जैसे ही सीए के हस्ताक्षर किसी डाॅक्यूमेन्ट पर होते है तो यह मान लिया जाता है कि कि सब कुछ कानून के अनुरूप हुआ है, कहीं कोई गडबड़ी नहीं है।

वे आज आईसीएआई की सेन्ट्रल इण्डिया रिजनल कोन्सिल द्वारा पहली बार उदयपुर के यूसीसीआई के पी.पी.सिंघल सभागार में फिजिकल एवं वर्चुअल रूप में आयोजित की जा रही दो दिवसीय 41 वीं रिजनल वार्षिक काॅन्फे्रेन्स के समापन समारोह में तकनीकी सत्र में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि अब सीए को क्लान्ट के साथ-साथ सरकार के प्रति भी जवाबदेही बढ़़ी है। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि गलत बात के लियेे क्लाइन्ट का पक्ष लेना सीए को कानूनी परेशानियों में डाल सकता है। सत्र की अध्यक्षता सेन्ट्रल कोन्सिल की सदस्य सीए किमिषा सोनी ने की।

मीडिया प्रभारी सीए दीपक एरन ने बताया कि द्वितीय तकनीकी सत्र में मुंबई के इनवेस्टमेन्ट विशेषज्ञ सीए विजय मंत्री ने केपिटल मार्केट के बारें में विस्तृत चर्चा करते हुए निवेशक को डेब्ट व इक्विटी का का संतुलन बनाकर चलना चाहिये। यदि मार्केट में इनवेस्ट करना है तो करेक्शन का इंतजार ना करें क्योंकि बिकवाली के भय से आप निवेश नहीं कर पायेंगे। वेल्यू एवं ग्रोथ सेक्टर में निवेश करने का प्रयास करना चाहिये। उन्होंने कहा कि आने वाला दशक भारतीय अर्थव्यवस्था का होगा और मार्केट में समझदारी से निवेश किया जायें तो वह लम्बे समय में परमपरागत निवेश के साधन यथा एफडी, पोस्ट ऑफिस डिपोजिट के मुकाबलें कई गुणा तक रिटर्न दे सकता है।

कॅान्फे्रन्स निदेशक सीए अनिल शाह ने बताया कि अंतिम तकनीकी सत्र में सीए प्रमोद जैन ने केन्द्रीय बजट 2021 की बारीकियों को बताते हुए कहा कि यूं तो बजट में टेक्स प्रावधान में कोई परिवर्तन दिखाई नहीं देता है लेकिन गहनता से देखा जायें ऐसे परिवर्तन है जिनकी अव्हलेना भारी पड़ सकती है। उन्होंने माल खरीद पर टीडीएस के बारें में भी विस्तृत चर्चा की।

समापन समारोह में जिसमें काॅन्फ्रेन्स निदेशक सीए अनिल शाह, सलाहकार मंडल में शामिल सीए सतीश जैन, सीए निर्मल सिंघवी, मीडिया कमेटी चेयरमैन सीए दीपक एरन, फूड कमेटी के सीए पंकज नेवटिया, सीेनियर कमेटी के मुकेश खूबचंदानी, लाॅजिस्टिक  के सीए विमल सुराणा, टेक्निकल कमेटी के सीए सुरेन्द्र सिंह खनूजा, स्वागत समिति के सीए निर्मल धाकड़, डिजिटल कमेटी के सीए इन हाउस के सीए नरेश माहेश्वरी, मास्टर ऑफ़ सेरेमेनी अरुणा गेलडा, प्रिन्टिंग कमेटी के सीए दिलीप कोठारी, तम्बू और सजावट के नवदीप आमेटा व पंजीकरण समिति के सीए आनन्द गर्ग को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर सेन्ट्रल रिजनल कोन्सिल मेम्बर सीए प्रमोद जैन व प्रमोद बूब की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। प्रारम्भ में सीआईआरसी चेयरमैन सीए देवेन्द्र सोमानी ने सेमिनार के सफल आयोजन के लिये के सभी के प्रति आभार ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि यह सेमिनार आने वाले समय मे एक मील का पत्थर साबित होगी। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal