नाट्यांश के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से दिखाए दर्शकों को देश के आंकड़े-वांकड़े

नाट्यांश के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से दिखाए दर्शकों को देश के आंकड़े-वांकड़े

नाट्यांश सोसाइटी ऑफ ड्रामैटिक एंड परफार्मिंग आर्ट्स संस्था के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक 'आंकड़े-वांकड़े' के द्वारा दर्शको के साथ देश के विभिन्न आंकड़ो को सांझा किया। इस नुक्कड़ नाटक का फतहसागर पर दो और पिछोला पर एक शो का मंचन किया गया। नाटक में देश के विभिन्न आंकड़ो जैसे कि सड़क, बिजली, शिक्षा, इंटेरनेट, विदेशी विनिमय, नए मकानों के निर्माण, स्वरोजगार आदि के बारे में बात की गयी जो देश की तरक्की को दर्शाने के लिए हमे बताये जाते है, और दूसरी तरफ बेरोजगारी, आरक्षण, सांप्रदायिक दंगों, कर्ज़ से मौत, महिला उत्पीड़न, बलात्कार, यौन शोषण, बाल मजदूरी, अपहरण, भूमि माफिया, पेट्रोलिम के दाम, व

 

नाट्यांश के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से दिखाए दर्शकों को देश के आंकड़े-वांकड़े

नाट्यांश सोसाइटी ऑफ ड्रामैटिक एंड परफार्मिंग आर्ट्स संस्था के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक ‘आंकड़े-वांकड़े’ के द्वारा दर्शको के साथ देश के विभिन्न आंकड़ो को सांझा किया। इस नुक्कड़ नाटक का फतहसागर पर दो और पिछोला पर एक शो का मंचन किया गया। नाटक में देश के विभिन्न आंकड़ो जैसे कि सड़क, बिजली, शिक्षा, इंटेरनेट, विदेशी विनिमय, नए मकानों के निर्माण, स्वरोजगार आदि के बारे में बात की गयी जो देश की तरक्की को दर्शाने के लिए हमे बताये जाते है, और दूसरी तरफ बेरोजगारी, आरक्षण, सांप्रदायिक दंगों, कर्ज़ से मौत, महिला उत्पीड़न, बलात्कार, यौन शोषण, बाल मजदूरी, अपहरण, भूमि माफिया, पेट्रोलिम के दाम, विभिन्न क्षेत्रों में फर्जीवाड़े आदि आंकड़ो को छुपाया जाता है और फिर भी कहा जाता है कि देश तरक्की कर रहा है।

नाटक में भी कलाकारों द्वारा नाटकीय रूप से लोगों को यही मानने को मजबूर किया है कि, ये देश तरक्की कर रहा है और ये सवाल भी छोड़ता ही कि, क्या वाकई में देश तरक्की कर रहा है ? नाटक से दर्शकों को लगातार जोड़े रखने और अपनी बात को और भी आसानी से लोगो तक पहुचाने के लिए गीतों का प्रयोग भी बखूबी किया गया है।

Download the UT App for more news and information

नाटक के अंत मे सभी दर्शको ने कलाकारों के इस प्रयास को सराहा और वास्तविकता के नज़दीक लाने के लिए धन्यवाद किया। संयोजक मोहम्मद रिज़वान ने बताया कि इस नाटक लेखन और निर्देशन अशफ़ाक़ नूर खान पठान द्वारा किया गया। संगीत में साथ दिया हेमंत आमेटा ने और सहयोगियों के रूप रेखा सिसोदिया, ऋषभ यादव, अमित श्रीमाली, अब्दुल मुबीन खान ने अपनी भूमिका निभाई।

नाट्यांश के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से दिखाए दर्शकों को देश के आंकड़े-वांकड़े

नाटक में कलाकारों के रूप में महेश जोशी, चक्षु सिंह रूपावत, मोहन शिवतारे, मनीषा शर्मा, राघव गुर्जर गौड़, नेहा पुरोहित, रूबी कुमारी गुप्ता, अगस्त्य हार्दिक नागदा, कुमुद द्विवेदी, जतिन भरवानी, अक्षय, हरीश, अजय शर्मा, संगीता, शालिनी, दिपेश प्रजापत, मोहम्मद रिज़वान मंसूरी, ईशा जैन, इंद्र सिंह सिसोदिया, पलक कायस्थ, धर्मेंद्र टिलावत और अशफ़ाक़ नूर खान पठान रहे।

नाट्यांश के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से दिखाए दर्शकों को देश के आंकड़े-वांकड़े

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal