गुजरात की लखूटी संस्कृति की झलक दिखी शिल्पग्राम में

गुजरात की लखूटी संस्कृति की झलक दिखी शिल्पग्राम में

रंगत में आया हाट बाजार

 
Shilpgram Utsav 2022
कल राजस्थान दिवस

उदयपुर 24 दिसंबर 2022। पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से आयोजित दस दिवसीय शिल्पग्राम उत्सव के चौथे दिन हाट बाजार अपने रंगत में आया तथा शहरवासियों व पर्यटकों ने जमकर खरीददारी की। शाम को मुक्ताकाशी रंगमंच पर गुजरात की मोहक व लुभावनी संस्कृति देखने को मिली।

Shilpgram Utsav 2022

उत्सव में शनिवार को हाट बाजार में दोपहर से ही लोगों की खासी भीड़ एकत्र हो गई जगह-जगह लोगों ने जमकर खरीददारी की। हर कोई शिल्पग्राम से कलात्मक वस्तु अपने घर ले जाने की आस में शिल्पग्राम पहुंचा तथा हाट बाजार में कच्छी शॉल, बाड़मेरी पट्टू, गर्म व ऊनी परिधान, जूट के बैग्स, वॉल हैगिंग्स, ज्वैलरी, बेड शीट, बैउ कवर, कॉटन साड़ी, सलवार सूट, नमदे के वॉल पीस तथा चप्पलें, लैदर की सामग्री, खुर्जा पॉटरी, थेवा शिल्प के शिल्पकारों के स्टॉल्स पर लोग कलात्मक वस्तुएँ देखते परखते और खरीदते दिखे। हाट बाजार में ही बहुरूपियों ने लोगों का मनोरंजन किया। दापहर में मुख्य द्वार के समीप कलाकारों के साथ लोग भी नृत्य करते नजर आये।

Shilpgram Utsav 2022

दोपहर में केन्द्र की ओर से मुख्य रंगमंच के समीप ‘क्ले मॉडलिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें चारू शर्मा ने प्रथम स्थान, लक्षिता ने द्वितीय तथा हीरल तलेसरा ने तृतीय स्थान अर्जित किया। प्रतियोगिता में रश्मि यादव, रूद्र प्रिय राठौड़,भावेश सुथार तथा ध्रुविका कुमावत को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। केन्द्र निदेशक किरण सोनी गुप्ता तथा गोवा के कला एवं संस्कृति विभाग के उप निदेशक अशोक परब ने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किये। प्रतियोगिता में डॉ. निर्मल यादव, छीतर मेल जोशी, अनिता दलवी, श्रुति क्षीरसागर तथा निलेश वेडे निर्णायक थे।

Shilpgram Utsav 2022

शाम को मक्ताकाशी रंगमंच पर कार्यक्रम की शुरूआत लंगा लोक गायकों के गायन से हुई इसके बाद गुजरात के कलाकारों ने माण्डव रास से गुजराती संस्कृति का यशोगान प्रारम्भ किया। कार्यक्रम में चोरवाड़ अंचल का टिप्पणी रास बहुत रास आया। निर्माण कार्य में जमीन या छत कूटते हुए महिलाएं हाथ में अिप्प्णी ले की गीत गाते हुए नृत्य करती है।। प्रस्तुति में आपसी सामंजस्य दर्शनीय बन सका। 

Shilpgram Utsav 2022

इसके बाद मिश्र रास में युवक युवतियों ने मोहक नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में दर्शकों को गुजरात के विभिन्न प्रकार के रास देखने को मिले इनमें हूड़ो रास, घाघर रास प्रमुख हैं। इस अवसर पर ही गुजरात का ढाल तलवार रास वहां के शौर्य का प्रतीक प्रस्तुति बन सकी। 

Shilpgram Utsav 2022

गुजरात के सौराष्ट्र अंचल में ढाल तलवार रास की परंपरा है जिसमें नर्तक शरनाई व ढोल की लय पर हाथ में तलवार ले कर नृत्य करते हैं। जिसमें लयकारी के साथ कलाकारों का नर्तन उत्कृष्ट बन सका।

Shilpgram Utsav 2022

इस अवसर पर ही गुजरात की जनजाति संस्कृति की झलक छोटा उदेपुर के राठवा आदिवासियों की प्रस्तुति से हुई। सिर पर मोर पंख्या धारण कर राठवा युवक युवतियों ने अपसी तालमेल दिखाते हुए आकर्षक पिरामिड की रचना कर सौम्य दृश्य प्रस्तुत किया। 

Shilpgram Utsav 2022

इस अवसर पर जनार्दन राय नागर राजस्थान विद्यापीठ के कुलपति डॉ. एस.एस.सारंगदेवोत मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम के अंत में केन्द्र निदेशक तथा कुलपति द्वारा कलाकारों को स्मृति स्वरूप पोर्ट फोलियो भेंट किये गये।

Shilpgram Utsav 2022

मेंहदी प्रतियोगिता कल 

शिल्पग्राम उत्सव के पांचवे दिन रविवार को दोपहर में केन्द्र द्वारा मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इसके लिये पंजीयन प्रतियोगिता स्थल पर भी करवाये जा सकेंगे।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal