आयुर्वेद कॉलेज में भर्ती में आरक्षण नहीं देने आयुष प्रकोष्ठ ने जताया रोष

आयुर्वेद कॉलेज में भर्ती में आरक्षण नहीं देने आयुष प्रकोष्ठ ने जताया रोष

मदन मोहन राजकीय आयुर्वेद कॉलेज में स्थाई, अस्थाई भर्ती में एससी,एसटी, ओबीसी का आरक्षण का प्रावधान लागू नहीं किये जाने से रोष  
 
ayush prakoshth

उदयपुर 10 जून 2022 । आयुष प्रकोष्ठ अखिल राजस्थान अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़ी जाति अधिकारी कर्मचारी संयुक्त महासंघ के पदाधिकारियों ने मदन मोहन मालवीय राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में स्थाई व अस्थाई रूप से खोली गई भर्तियों में अनुसूचित जाति, जनजाति पिछड़ी जाति को आरक्षण देने की मांग की है। 

महासंघ के पदाधिकारियों ने अपने मांग को पत्र को मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा। महासंघ के पदाधिकारियों ने बताया कि महाविद्यालय में खोली गई भर्ती में आरक्षण लागू करने के साथ, आयुर्वेद विभाग में पदोन्नति के 8 माह पश्चात भी शत प्रतिशत 500 रिक्त पदों को उच्च अधिकारियों से नहीं भरा गया, इससे कई तरह की परेशानिया हो रही है उन्हें दूर करने, ग्रामीण आयुर्वेद चिकित्सकों का कैडर मर्ज नहीं करने सहित विभिन्न मांगो को सरकार तक पहुंचाने की कोशिश की है। 

आयुष प्रकोष्ठ राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.जलदीप पथिक ने बताया कि राज्य सरकार ने 2013 में आरपीएससी से चयनित चिकित्सकों को वरिष्ठता सूची में शामिल नहीं किया है इसके अलावा आयुर्वेद कॉलेज के प्राचार्य की स्नातकोत्तर (एमडी) की डिग्री फर्जी पाई जाने के मामले में महासंघ की और से जांच की मांग की जा रही है लेकिन सरकार का इस और ध्यान नहीं है। 

इस मौके पर महासंघ के प्रदेश महासचिव डॉ, राम नरेश मीणा, प्रदेश संगठन सचिव डॉ. अवधेश नागरवाल एवं संयुक्त महासभा के प्रदेश प्रतिनिधि नवल कुमार किशोर मीणा सहित कई चिकित्सक मौजूद रहे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web