बेकसूर को बच्चा चोर बताकर पीटा, न सामान चुराया न बच्चा

बेकसूर को बच्चा चोर बताकर पीटा, न सामान चुराया न बच्चा 

महिलाओं का भेस बनाकर, किन्नरों के साथ घूमकर कमाता है पैसे

 
fake information

क्या ऐसे किसी बे-गुनाह की पिटाई करना है उचित?

उदयपुर 10 अक्टूबर 2022 ।  एम.बी हॉस्पिटल में आज सोमवार सुबह एक विकलांग व्यक्ति को बच्चा चोर बताकर लोगो ने जमकर उसकी पिटाई कर दी। हालाँकि ना तो वह कोई बच्चा चोर था और न ही उसने कभी कोई बच्चा चुराया था। 

बच्चा चोर कहे जाने वाले व्यक्ति की पहचान आयड निवासी गौरव माली के रूप में हुई। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 30 वर्षीय गौरव बचपन से ही विकलांग है और कुछ किनारों के साथ रहता है, जब भी कोई बच्चा पैदा होता है तो वो किन्नरों के साथ जाकर वो बधाई देता है और थोडा नाचगाना करके कुछ पैसे कमा लेता है। 

सोमवार सुबह वो महिलाओं के कपडे पहन कर हॉस्पिटल परिसर में घूम रहा था तभी वहां मौजूद एक व्यक्ति खेमराज और उसके साथी ने उसे देखकर उसे खदेड़ना शुरू कर दिया और उस पर आरोप लगाया की वो वहां बच्चा चोरी की फ़िराक में घूम रहा है। इतना कहना था की लोगो ने उसे घेर लिया और उसकी जम कर पिटाई कर दी। 

लोग इतने समाज के ठेकेदार बने की खुद ही फैसला करने लगे और घटना की जानकारी पुलिस को भी तुरंत नहीं दी गई। लोगो से खुद को पिटता देख पीड़ित अपनी जान बचाकर भागना शुरू किया लेकिन कोर्ट चौराहे तक ही पहुंचा था की लोगो ने उसे फिर पकड़ा लिया और मारते हुए उसे एक बार फिर हॉस्पिटल परिसर में ले गए। 

अस्पताल से किसी ने पुलिस को घटना की जानकारी दी जिस पर हाथीपोल थाना पुलिस उसे अपने साथ थाने पर ले गई। लेकिन इस घटना की जानकारी जंगल में लगी आग की तरह पुरे शहर में फ़ैल गई। लेकिन जब पुलिस मामले की तह तक पहुंची तो पता चला की मानसिक रूप से परेशान, विकलांग व्यक्ति को लोगो ने बच्चा चोर समझ लिया है। 

पुलिस का कहना है की गौरव से जब पूछताछ की गई तो उसने बताया की वो एक गरीब परिवार का सदस्य है, आजीविका चलाने के लिए भेस बदलकर अपने कुछ किन्नर दोस्तों की टोली में शामिल हो कर घर घर जा कर कुछ पैसे जमा करता है। 

  • ऐसे में आप ही बताइए की क्या किसी व्यक्ति की बिना जान पहचान किये और महज किसी के द्वारा उसे बच्चा चोर कह देने से उसकी पिटाई कर देना कितना सही है?
  • क्या शंका होने पर इसकी जानकारी पुलिस को देने की जगह खुद ही फैसला कर कानून हाथ में लेना सही है?
  • क्या इस दौरान व्यक्ति को गंभीर चोट आने से उसकी मौत हो जाये तो कौन इसका जिम्मेदार होगा ?

       

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal