गाँधी जयंती से शुरू करेगी कांग्रेस देश भर में भारत जोड़ो यात्रा

गाँधी जयंती से शुरू करेगी कांग्रेस देश भर में भारत जोड़ो यात्रा

हम वापसी करेंगे-सोनिया गांधी, जनता के बीच जाकर पसीना बहाना होगा - राहुल गाँधी

 
Rahul Gandhi

उदयपुर 15 मई 2022। उदयपुर में आज समाप्त हुए कांग्रेस के तीन दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर में सोनिया गांधी ने अपने उद्बोधन में कहा की गाँधी जयंती से कांग्रेस देश भर में भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत करने जा रही है। जिसमे सभी कांग्रेसजन इस यात्रा में शामिल होंगे। यह यात्रा देश में सामाजिक सद्भाव को बढ़ाने के लिए होगी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि उदयपुर नव संकल्प से नई ऊर्जा मिली है, और हम वापसी करेंगे।

सोनिया ने कहा कि जिला स्तर पर 15 जून से जनजागरण अभियान शुरू होगा। वहीँ नव संकल्प शिविर में लिए गए फैसलों को लागू किया जाएगा। 2024 के लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनावों में नव संकल्प के फैसले लागू होंगे। उदयपुर घोषणापत्र में लिए गए फैसलों को लोकसभा चुनाव से ही लागू किया जाएगा। कांग्रेस वर्किंग समिति का एडवाइजरी ग्रुप बनेगा जो समय-समय पर बैठकें करके सुझाव देगा।

sonia gandhi with ashok gehlot

सोनिया गाँधी ने कहा की कांग्रेस चिंतन शिविर में तीन दिन के मंथन के बाद तय हुए उदयपुर डिक्लेरेशन के आधार पर कांग्रेस में अब सोशल इंजीनियरिंग से लेकर पार्टी में कामकाज का तरीका भी इसी के आधार पर तय होगा। मुख्य फोकस संगठन को मजबूत करके चुनावी जीत का है। उदयपुर डिक्लेरेशन कांग्रेस को नए सिरे से खड़े होने का आधार बनाया जाएगा।

जनता के बीच जाकर पसीना बहाना होगा - राहुल गाँधी 

तीन दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर में राहुल गाँधी ने करीब आधे घंटे की स्पीच में कहा की पार्टी ने वन फैमिली-वन टिकट, संगठन में युवाओं को आरक्षण, देशभर में पदयात्रा निकालने जैसे कई अहम फैसले लिए हैं। हम फिर जनता के बीच जाएंगे, उससे अपने रिश्ते मजबूत करेंगे और यह काम शॉर्टकट से नहीं होगा। हमें कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी, पसीना बहाना पड़ेगा।

राहुल ने वरिष्ठ नेताओं में जान फूंकने की भी कोशिश की। कहा कि वह डिप्रेशन में न जाएं, क्योंकि लड़ाई लंबी है। शिविर में राहुल ने कहा कि मेरी जिंदगी का एक ही लक्ष्य है संघ और भाजपा की देश को धर्म, जाति, भाषा, क्षेत्रवाद, खानपान और पहनावे के आधार पर बाँटने वाली विचारधारा से लड़ना। उनकी लड़ाई सिर्फ किसी राजनैतिक पार्टी से नहीं है बल्कि विचारधारा से है।  राहुल ने यह भी कहा की इस लड़ाई में मुझे कोई डर नहीं है। मैंने जिंदगी में किसी से एक रूपये भी नहीं लिया, कोई भ्रष्टाचार नहीं किया। मैं सच बोलने से नहीं डरता हूं।

राहुल ने संगठन को मज़बूत बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि शॉर्टकट से नहीं बल्कि पसीना बहाना होगा, तभी वापस जनता से जुड़ेंगे। हम पैदा ही जनता के लिए हुए हैं, यह हमारा डीएनए है, यह संगठन जनता से बना है। हम फिर जनता के बीच जाएंगे। अक्टूबर में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाएगी, भारत जोड़ो यात्रा करेगी। जो जनता के साथ रिश्ता है, वह फिर से मजबूत करेंगे। यही एक रास्ता है।

राहुल बोले कि यह लड़ाई क्षेत्रीय पार्टियां नहीं लड़ सकतीं। यह लड़ाई केवल कांग्रेस ही लड़ सकती है। क्षेत्रीय पार्टियां आरएसएस और भाजपा को नहीं हरा सकती, क्योंकि उनके पास विचारधारा नहीं है, वे अलग-अलग हैं। लेकिन कांग्रेस के पास विचारधारा है।  

राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा की देश में आग लगने वाली है, मैंने आपको कोविड से पहले चेताया था, अब फिर कह रहा हूं । भाजपा नेता देश के इंस्टीट्शन काे तोड़ रहे हैं, ये जितना संस्थानों को खत्म करेंगे, उतनी ही आग लगेगी। यह हमारी जिम्मेदारी है कि देश में आग नहीं लगने दे । यह हमारे नेताओं-कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है। यह काम केवल कांग्रेस कर सकती है। इस देश में ऐसा कोई धर्म, जाति, व्यक्ति नहीं है, जो यह कह दे कि उसने कांग्रेस के लिए दरवाजे बंद कर दिए हों। कांग्रेस सबकी पार्टी है।

राहुल गांधी ने कहा कि रोजगार सृजन करने वाली रीढ़ की हड्डी को तोड़ दिया गया है। नोटबंदी और जीएसटी लागू करके इसका फायदा दो तीन उद्योगपतियों को देकर सरकार ने युवाओं के भविष्य को खत्म कर दिया। आने वाले समय में देश का युवा रोजगार नहीं पा सकेगा। महंगाई की वजह से रोजगार नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि यूक्रेन वॉर के परिणाम से बेरोजगारी बढे़गी।

वहीँ अपनी स्पीच ने राहुल गाँधी ने कहा की चुनाव से 6 महीने पहले घोषित किए जाएंगे प्रत्याशी। महिलाओं, एससी/एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यकों को टिकिट में 33% आरक्षण देंगे। कांग्रेस के मीडिया और सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर मज़बूत करने का आह्वान करते हुए कहा की कांग्रेस के खिलाफ जारी प्रोपेगेंडा के खिलाफ अब एक्शन लिया जाएगा।

वहीँ बैठक में सभी नेताओं ने राहुल गाँधी को अध्यक्ष बनाने के लिए एक सुर में रखी मांग। कार्यकर्ताओ ने नारे लगाए राहुल गांधी फिर से संभाले कांग्रेस की कमान। शिविर के अंत में धन्यवाद प्रस्ताव मेवाड़ के कांग्रेस के नेता रघुवीर मीणा ने अर्पित किया।  वहीँ सोनिया गाँधी ने राजस्थान के मेज़बानी की तारीफ करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उदयपुर जिला पुलिस प्रशासन का धन्यवाद दिया।


 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal