निजी स्कूलों के "मनमानी ढंग" से फीस वसूली पर अभिभावकों का प्रदर्शन


निजी स्कूलों के "मनमानी ढंग" से फीस वसूली पर अभिभावकों का प्रदर्शन

आक्रोशित अभिभावक संघ ने कलेक्ट्री में लगाए नारे, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन 

 
abhibhavak sangh
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर 5 अप्रैल 2022। मनमाने ढंग से निजी स्कूलों द्वारा वसूली जा रही फीस के विरोध में आज मंगलवार को राजस्थान अभिभावक संघ ने कलेक्ट्री के बाहर सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर का ज्ञापन सौंपा। 

राजस्थान अभिभावक संघ ने आरोप लगाया की निजी स्कूल शिक्षा माफिया की तरह काम कर रहे है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश को भी नहीं मान रहे है। पूरे प्रदेश में यहीं हाल रहने और सरकार की ओर से कोई कार्रवाई न होने से निजी स्कूलों के संचालको के हौंसले बुलंद हो रहे है। 

राजस्थान अभिभावक संघ के संयोजक हरीश सुहालका ने बताया की कोरोना काल में निजी स्कूलों की फीस को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की खुले आम अवहेलना की जा रही है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार कोई भी स्कूल छात्र को फीस जमा नहीं होने के कारण परीक्षा से वंचित नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि निजी स्कूल संचालक मनमाने ढंग से नियम कानून बनाकर बच्चो को परीक्षा से वंचित कर रहे है। साथ ही कई बच्चो के परिणाम भी घोषित नहीं किये गए है। 

राजस्थान अभिभावक संघ के संयोजक हरीश सुहालका ने बताया की उनकी जानकारी में आया है की उदयपुर के एक सहेलियों की बाड़ी एवं तितरड़ी स्थित निजी स्कूल ने जो स्कूल लेवल फीस कमेटी बनाई है, वह पूर्णतः गैर कानूनी है।  इसके लिए स्कूल प्रबंधन ने पुरानी तारीख में जाकर बैठकों का विवरण कूटरचित रूप से तैयार किया है। उन्होंने इसकी विस्तृत जांच की मांग करते हुए आवश्यक कानूनी कार्यवाही की मांग की है।  

इस अवसर पर राजस्थान अभिभावक संघ के पदाधिकारियों के साथ कांग्रेस के पार्षद गौरव प्रताप सिंह, सहवृत मदन बाबरवाल, रविंद्र पाल सिंह कप्पू सहित कई बच्चो के अभिभावक मौजूद थे। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal