In view of the G-20 conference, the police is in crime killing mode, the goal is to make the city crime free

G-20 सम्मलेन के मद्देनजर पुलिस है क्राइम किलिंग मोड़ मे, शहर को अपराध मुक्त बनाने का लक्ष्य

G-20 सम्मलेन के मद्देनजर पुलिस है क्राइम किलिंग मोड़ मे, शहर को अपराध मुक्त बनाने का लक्ष्य

हिस्ट्रीशीटर और हार्ड कोर अपराधियों पर कार्यवाही तो अब लेक पेट्रोलिंग भी शुरू

 
udaipur

रात के वक्त बोट की मदद से रखी जाएगी नजर

उदयपुर 17 नवंबर 2022। उदयपुर में आगामी दिसम्बर महीने में होने वाले इंटरनेशनल सम्मेलन G 20 के मद्देनजर पुलिस इन दिनों क्राइम किलिंग मोड में काम कर रही है। इसके तहत पुलिस द्वारा शहर को यहाँ की जनता और यहाँ आने वाले प्रयटकों के लिए सुरक्षित बनाने की नियत से हर संभव प्रयास किये जा रहे है। 

जहाँ पिछले कुछ दिनों से शहर में नशेड़ियों, जुआरियो, सटोरियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाहियां की जा रही है तो पिछले दो दिनों से अवैध रूप से या बिना लाइसेंस के ऑटोरिक्शा चलने वाले लोगो के खिलाफ भी कार्यवाई जारी है और इस के तहत दो दिनों में करीब 300 अवैध रूप से संचालित ऑटो रिक्शा ज़ब्त हुए है और उनके संचालकों के खिलाफ कार्यवाहियां भी की गई है। 

इस की जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर चन्द्रशील ठाकुर ने बताया की G-20 सम्मेलन की सभी तैयारियां जोरो पर है, जहाँ प्रशासन इसी हर स्तर पर खुबसूरत बनाने में लगा हुआ है तो वहीँ पुलिस विभाग भी इस न सिर्फ यहाँ होनी वाली G20 सम्मलेन में आने वाले मेहमान बल्कि, यहाँ आने वाले पर्यटकों और आम जनता के लिए सुरक्षित और अपराध मुक्त बनाने में लगातार लगी हुई है। 

ठाकुर ने बताया की इसके तहत पुरे शहर में 24 घंटे नाकाबंदी की जा रही है जिसमे चौराहे से गुजरने वाले सभी वाहनों की चेकिंग की जा रही है। साथ ही शहर में संचालित अवैध ऑटोरिक्शा के खिलाफ भी पुलिस कार्यवाही कर रही है, और जो ऐसे चालक है जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है उनके वाहन को तुरन्त ज़ब्त किया जा रहा है। इसके तहत पिछले 2 दिनों में कुल 300 से अधिक ऑटोरिक्शा ज़ब्त किये गए है और कुछ को लाइसेंस बनाने की हिदायत दी गई है, क्योंकी एसा अक्सर देखा जाता है की ऐसे ऑटोरिक्शा चालकों द्वारा ही आपराधिक घटानाओ को कारित किया जाता है। साथ ही पुलिस नशेड़ियों को भी पकड़ रही है, इस कड़ी में पुलिस द्वारा कुछ एमडीएमए (MDMA) बेचने वाले लोगो को भी पकड़ा गया है और ये कार्यवाही लगातार जारी है। 

साथी ही पुलिस ने इस सम्मलेन की कुछ कार्यक्रम के शहर के लेक पेलेस में आयोजित होने मद्देनजर लेक पेट्रोलिंग भी शुरू कर दी है, जिसमे पुलिस की विभिन्न टीमो द्वारा रात के समय लेक पेलेस, जग मंदिर आदि के आस पास गश्त की जा रही है और किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है, इसके अलावा पुलिस द्वारा शहर के बदमाशों, हार्डकोर अपराधियों और हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ भी कार्यवाहियां जारी है। जिसमे पुलिस द्वारा इन सभी लोगो के घरों पर दबिश दी जा रही है जिसको देखते हुए कुछ बदमाश तो शहर भी छोड़ चुके है। 

सम्मलेन के बारे में बात करते हुए ठाकुर ने कहा की सम्मलेन के 3 दिनों के दौरान इस तरह की व्यवस्था की जाएगी की जिस से उदयपुर आने वाले वीआईपी को भी सम्मलेन स्थल तक पहुंचने में कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़े और नहीं आमजन और आने वाले पर्यटकों को कोई परेशानी हो, ठाकुर ने बताया की इसको ध्यान में रखते हुए जब भी वीआईपीयों की गाडियां गुजरेगी तो उस इलाके को पहले सेनेटाइज़ करवाया जाएगा (पुरे इलाके की चेकिंग और यातायात को डाइवर्ट कर दिया जाएगा). जिससे की कोई असुविधा न हो और न ही कोई जाम लगे। 

साथ ही शहर के विभिन्न इलाकों में किराये के मकान में रहने वाले लोगो का भी वेरिफिकेशन करवाया जाएगा, ताकि अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति अपनी पहचान छुपाकर या पूर्व में किसी आपराधिक घटना को अंजाम देकर अपनी पहचान बदल कर रह रहा हो तो वो सामने आ पाए। 

इसके अलावा पर्यटन स्थलों पर भी पर्याप्त मात्रा में पुलिस की टीम तैनात की जाएगी और सभी होटलों, धर्मशालाओं, मुसाफिर खानों आदि की भी लगातार चेकिंग जारी है।  ठाकुर ने कहा की इन सब के पीछे का अहम् मकसद है शहर की आबो हवा को सुरक्षित बनाना।     
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web