टेलीमेडिसिन में सहयोेग बढ़ाने हिन्दुस्तान जिंक ने किया एमओयू


टेलीमेडिसिन में सहयोेग बढ़ाने हिन्दुस्तान जिंक ने किया एमओयू

आरएनटी मेडिकल काॅलेज उदयपुर के साथ एमओयू से राजस्थान के 5 जिलों में ग्रामीणों के घर पहुंचेगी चिकित्सा सुविधाएं

 
HZL
UT WhatsApp Channel Join Now
कार्यक्रम कंपनी की स्वास्थ्य सेवा मोबाइल हेल्थ वैन के माध्यस से लागू किया जाएगा

उदयपुर 9 मार्च 2022 । ग्रामीण और दूरदराज के इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों और विशेष चिकित्सा सुविधा की आवश्यकता वाले लोगों के लिए टेलीमेडिसिन एक वरदान है। पैसे और उर्जा की बचत कर समय के महत्व को समझते हुए देश की एकमात्र और विश्व की सर्वोच्च एकीकृत सीसा-जस्ता-चांदी की उत्पादक कंपनियों में शामिल हिन्दुस्तान जिंक ने आरएनटी मेडिकल काॅलेज उदयपुर के साथ एक समझौते के ज्ञापन पर हस्ताक्षर (एमओयू) किया है जिससे विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा दूसरे स्तर की विशेषज्ञ जानकारी उन ग्रामीणों को मिल सकेगी जिन्हें इसकी आवश्यकता है।

यह प्रयास हिन्दुस्तान जिंक के स्वास्थ्य सेवा पहल के तहत लिया गया है जहां राजस्थान के 6 स्थानों जावर, देबारी, चंदेरिया, आगूचा और कायड़ में मोबाइल हेल्थ वैन तैनात की गई हैं। एमओयू समारोह में हिन्दुस्तान जिंक के सीईओ श्री अरूण मिश्र हिन्दुस्तान जिंक और आरएनटी मेडिकल कॉलेज उदयपुर के प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल, ए3 टेक्नोलाॅजी के अधिकारी एवं दीपक फाउंडेशन उपस्थिति थे।

इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिंक के सीईओ मिश्रा ने कहा कि हम अपने मोबाइल हैल्थ वैन के माध्यम से अपने समुदायों के दरवाजे पर गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध है। आरएनटी मेडिकल कॉलेज के साथ एमओयू से इस प्रावधान को हमारे ग्रामीण और आदिवासी समुदायों के भीतर तथा अधिक उन्नत टेलीमेडिसिन सुविधाओं के साथ आगे बढ़ाएगा। लोगों का स्वास्थ्य और देखभाल हमारे समग्र विकास के लिए अभिन्न अंग है और कार्डियोलाॅजी, ईएनटी एवं गायनोक्लाॅजी जैसी दूरस्थ चिकित्सा सूविधाओं का पहलू अंतिम मील तक उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा तक पहुँच को सक्षम करेगा।

यह एमओयू टेली मेडिकल रिमोट सुविधाओं के साथ हमारे समुदायों के घर उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य देखभाल और परामर्श पहुंचाने में सक्षम करेगा। ऐसे समय में जहां रिमोट वर्किंग और वर्चुअल कनेक्ट एक नया मानदंड बन रहा है हम इसे अपने ग्रामीण समुदायों तक सरल नवाचार और प्रौद्योगिकी के माध्यम से बढ़ा रहे हैं।

हिन्दुस्तान जिंक ने कार्यान्वयन भागीदार दीपक फाउंडेशन के साथ मिलकर समुदायों को उपचारात्मक और निवारक स्वास्थ्य देखभाल के लिए मोबाइल हेल्थ वैन (एमएचवी) की स्थापना की है। आरएनटी मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम मोबाइल हेेल्थ वैन के माध्यम से ऑन ग्राउंड चिकित्सा प्रदान करने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करेगी जो प्लांट संचालन एवं आसपास के लोगों के घर स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचाने में मदद करेगी।

आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक के सहयोग से प्लांट संचालन और आसपास के क्षेत्रों में संचालित मोबाइल हेल्थ वैन के टेकनिशियन को आरएनटी की टीम कार्डियोलोजी, ईएनटी, स्त्री रोग एवं अन्य में भी अपनी विशेषज्ञता प्रदान करेगी। साथ ही हम सुनिश्चित करेंगे कि हमारी सेवाएं और विशेषज्ञता सभी 5 जिलों के सुदूर इलाकों तक पहुंचे और हमारी सेवाओं से 154 गांव लाभान्वित हों।

हिन्दुस्तान जिंक ने ओपीडी, विशेष स्वास्थ्य शिविर और जागरूकता सत्र जैसी विभिन्न स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया है। राजस्थान के 182 गांवों और उत्तराखंड के एक गांव में कुल 8 मोबाइल हेल्थ वैन संचालित है। मोबाइल हेल्थ वैन के अलावा कंपनी द्वारा संचालित अस्पतालों और होम्योपैथिक केन्द्रों द्वारा में स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। वर्ष के दौरान हिन्दुस्तान जिंक द्वारा संचालित विभिन्न हेल्थ इनिशियेटिव और कार्यक्रमों से 20 लाख से अधिक रोगियों ने लाभ उठाया है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal