मोहता पार्क- नगर निगम शहर के बीच बना रहा हैं अर्बन फॉरेस्ट


मोहता पार्क- नगर निगम शहर के बीच बना रहा हैं अर्बन फॉरेस्ट

अर्बन फॉरेस्ट डेवलपमेंट का कार्य सर्वप्रथम मोहता पार्क में पायलट स्तर पर किया जा रहा हैं

 
mohta park
UT WhatsApp Channel Join Now

बढ़ते हुए शहरीकरण के चलते उदयपुर शहर में निरंतर ग्रीन एरिया घटते जा रहे हैं और शहर के भीतर ग्रीन एरिया डेवलपमेंट के लिए भूमि उपलब्धता भी घटती जा रही हैं। अतः शहर में नगर निगम द्वारा मियावाकी तकनीक से अर्बन फॉरेस्ट डेवलपमेंट किया जा रहा हैं। इस तकनीक द्वारा कम भूमि एवं कम समय में एक अच्छा एवं सघन वृक्षारोपण किया जा सकता हैं।

अर्बन फॉरेस्ट डेवलपमेंट का कार्य सर्वप्रथम मोहता पार्क में पायलट स्तर पर किया जा रहा हैं क्योंकि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार चेतक सर्किल पर स्थित पहाड़ी बस स्टेड, ऑटो और रोडवेज बस स्टेंड के चलते वहां वायु प्रदूषण का स्तर शहर के अन्य स्थानों की तुलना में बहुत अधिक है। दिन भर बसों और टेम्पो के चलते तथा प्रमुख चौराहा होने के कारण यहाँ वाहनों की आवाजाही भी काफी है। 

मेडिकल डिपार्ट्मन्ट की रिपोर्ट के अनुसार शहर में धीरे धीरे प्रदूषण बढ़ने और ग्रीन एरिया कम होने की वजह से श्वास जनित बीमारियाँ भी बढ़ रही हैं। इस क्रम में नगर निगम शहरी प्रदूषण को कम करने के लिए काफी सारे प्रयास कर रहा हैं उसी में यह एक पहल हैं ताकि शहरवासियों को स्वच्छ वातावरण मिल सके, जिससे रहवासियों को स्वच्छ प्राणवायु एवं स्वास्थ्य लाभ मिलेगा ही साथ ही साथ जीव जंतुओं पक्षियों को भी आश्रय मिलेगा, यह एक तरह से शहर में ईकोलाजिकल डेवलपमेंट की शुरुआत हैं।
  
वर्तमान में पार्क मे जारी सभी कार्य इसी का हिस्सा हैं। मोहता पार्क में किए जा रहे अर्बन फॉरेस्ट डेवलपमेंट पायलट के अंतर्गत “मियावाकी” तकनीक से सघन वृक्षारोपण, उनके बीच छाँव में लोगों के आराम करने, बैठने, घूमने के लिए उचित व्यवस्था की जाएगी। पार्क के अंदर फेन्सिंग भी की जाएगी ताकि वृक्षारोपण सुरक्षित रहे और असामाजिक तत्वों द्वारा पार्क में चारों और फैलाई जा रही गंदगी पर भी लगाम लगाई जा सके। भविष्य में पायलट का विस्तार शहरी स्तर पर किया जाएगा। इकली- साउथएशिया इस कार्य में नगर निगम का सहयोग “कपैसिटीज प्रोजेक्ट” के अंतर्गत कर रहा हैं।

 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal