NEPCON-2022, a four-day international medical conference, begins tomorrow in Udaipur.

उदयपुर में चार दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मेडिकल कांफ्रेंस नेपकोन-2022 का आगाज़ कल

उदयपुर में चार दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मेडिकल कांफ्रेंस नेपकोन-2022 का आगाज़ कल

14 देशों के विशेषज्ञ लेंगे हिस्सा

 
gmch

उदयपुर 9 नवंबर। उदयपुर में चेस्ट विशेषज्ञों का 24वां चार दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस नेपकोन का आगाज गुरुवार 10 नंवबर को होगा। उदयपुर के गीतांजली मेडिकल कॉलेज और रवीन्द्रनाथ टैगोर मेडिकल कॉलेज में होने जा रही इस नेपकोन - 2022 की इस बार की थीम “इनकरेज प्रिसिशन मेडिसिन” है जिसका अर्थ है सही जांच करके सही दवा प्रदान करना। इस प्रकार का सम्मेलन प्रति वर्ष नेशनल कॉलेज ऑफ़ चेस्ट फिजिशीयन (एनसीसीपी) एवं इन्डीयन चेस्ट सोसायटी (आईसीएस) के तत्वावधान में होता है। इतना बड़ी मेडिकल कांफ्रेंस दक्षिण राजस्थान के इतिहास में पहली बार हो रहा है। इस कांफ्रेंस  में देश विदेश से लगभग 2200 श्वास रोग विशेषज्ञ भाग लेंगे। 10 नवंबर गुरुवार को प्रातः 8 बजे से सायं 5 बजे तक आरएनटी मेडिकल कॉलेज में 13 विषयों पर वर्कशॉप का आयोजन किया जायेगा।
 

इस कॉन्फ्रेंस के संबंध में बुधवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता में पैट्रन, नेपकोन-2022 के अंकित अग्रवाल, डॉ. एफ़.एस. मेहता, डॉ. लाखन पोसवाल, आर्गेनाइजिंग चेयरमैन, नेपकोन डॉ. एस.के लुहाडिया, गीतांजली मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के सीईओ प्रतीम तम्बोली, डॉ. महेंद्र कुमार, आर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी, नेपकोन डॉ. अतुल लुहाडिया, मीडिया मैनेजमेंट कमिटी नेपकोन के चेयरमैन डॉ. जे.के छापरवाल ने विस्तृत जानकारी दी।
 

14 देशों के विशेषज्ञ लेंगे हिस्सा:
अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस अंतर्गत 60 विदेशी डेलीगेट्स जिनमें 4 महाद्वीपों से 14 देश जैसे अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, एशिया, यूरोप इत्यादि प्रमुख हैं व लगभग 475 नेशनल फैकल्टी इसमें भाग लेंगे। इसमें कुल 2200 संभागी हिस्सा लेंगे। कांफ्रेंस में फेफड़ों की दूरबीन द्वारा जाँच (ब्रोंकोस्कोपी), ऐलर्जी टेस्ट, सी.टी. स्केन, जटिल एम.डी.आर. व एक्स. डी. आर. टी. बी., आई. एल.डी., स्लीप डिसआर्डर आदि प्रमुख है। इन वर्कशॉप में प्रतिभागी डॉक्टर्स को हैंड्स-ऑन-ट्रेनिंग भी दी जायेगी। कांफ्रेंस का उद्घाटन सत्र गुरुवार 10 नवंबर सायं 7 बजे से 8.30 बजे गीतांजली मेडिकल कॉलेज में रखा गया है। इसमें राजस्थान यूनिवर्सिटी जयपुर के कुलपति डॉ.राजीव जैन, राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ़ हेल्थ साइंसेज़ जयपुर के कुलपति डा. सुधीर भण्डारी एवं मोहनलाल सुखाडि़या यूनिवर्सिटी उदयपुर के कुलपति प्रो.आई. वी. त्रिवेदी, गीतांजली ग्रुप व चीफ पैट्रन, नेपकोन के चेयरमैन जे.पी. अग्रवाल विशिष्ठ अतिथि होंगे और एनसीसीपी के अध्यक्ष डॉ.राकेश भार्गव, सचिव डॉ.एस.एन.गॉड, आईसीएस के अध्यक्ष डॉ.डी.जे.रॉय, सचिव डॉ.राजेश स्वर्णकार व साइंटिफिक कमेटी के अध्यक्ष डॉ.एस.के.कटियार आदि भाग लेंगे।
उद्घाटन सत्र में देश के चुनिंदा वक्ष रोग विशेषज्ञों को विभिन्न अवार्ड्स के साथ से सम्मानित किया जाएगा। इनमें प्रमुख रूप से एनसीसीपी औरेशन अवार्डस के लिए डॉ.अशोक शाह, डॉ.विक्रम सरभाई, डॉ. विवेक नांगिया, डॉ.पी.आर. मोहपात्रा एवं डॉ.जे.एस.गुलेरीया को चयनित किया गया है और आईसीएस औरेशन अवार्डस के लिए पदमश्री डा. डी. बेहरा, डा. एम. एस. बर्थवाल, डा. तारीख महमूद, डा. एच. परामेश एवं डा. एन. के. जैन को चयनित किया गया है।

 

400 व्याख्यान व 980 शोध पत्र की होगी प्रस्तुति:
इस कॉन्फ्रेंस के तहत 11 व 12 नवंबर प्रातः 8 बजे से सायं 6 बजे तक व 13 नवंबर को प्रातः 8 बजे से सायं 4 बजे तक विभिन्न वैज्ञानिक सत्र गीतांजली मेडिकल कॉलेज मे 11 कांफ्रेंस हॉल में आयोजित किये जायेंगे। इन वैज्ञानिक सत्रों में लगभग 400 व्याख्यान (लेक्चर) व 980 अनुसंधान पत्र (रिसर्च पेपर) पढ़े जायेंगे। इन वैज्ञानिक सत्रों में  प्रमुख रूप से अस्थमा, क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी), न्यूमोनिया, इंटरस्टिटल लंग डिजीज (आईएलडी), वातावरण-प्रदूषण जनित बीमारियाँ, फेफड़ों का कैंसर, रेस्पिरेटरी फेलीयर, जटिल टीबी, एक्मो आदि विषयों पर विस्तृत चर्चा की जायेगी। इस कांफ्रेंस में युवा चेस्ट विशेषज्ञों में अनुसंधान के प्रति रुचि बढ़ाने हेतु एनसीसीपी एवं आईसीएस यंग साइंटिस्ट अवार्ड व आयोजकों की तरफ से हर सत्र के बेस्ट पेपर को अवार्ड सर्टिफिकेट व 5100 रुपये का चेक दिया जायेगा। इस प्रकार कुल लगभग 90 अवार्ड दिये जायेंगे। कांफ्रेंस के एक सत्र में राष्ट्रीय स्तर की पीजीक्विज का भी आयोजन होगा जिसमें देश के मेडिकल कॉलेजों के पी.जी.डाक्टर्स भाग लेंगे।

 

ये विशेषज्ञ लेंगे हिस्सा:
इस कांफ्रेंस में देश विदेश से ख्याति प्राप्त चेस्ट विशेषज्ञ भाग लेंगे । इनमें अमेरिका से डॉ.अतुल सी मेहता ‘लंग ट्रांसप्लांट’, डॉ. आशुतोष सचदेवा, डॉ. वैनकीम होल्डन ‘मैनेजमेंट ऑफ़ न्युमोथोरैक्स’, डॉ. पॉल ट्रेवलोस, इंग्लैण्ड से डॉ. एम.मुनावर, डॉ.राकेश पंचाल,  होंगकोंग से डॉ.डेविड लैम, तुर्की से डॉ. नूरदन कौकतूर्क ‘हाउ टू अप्लाई प्रिसिशन मेडिसिन इन सीओपीडी’ एवं 45 अन्य विदेशी फैकल्टी व्याख्यान देंगी एवं भारत के दिल्ली एम्स के पूर्व निदेशक पद्मश्री डा. रणदीप गुलेरिया इनसाइड स्टोरी ऑफ़ इंडोर एयर पलयूशन, पटेल चेस्ट इंस्टीटयूट के वर्तमान निदेशक डा. राज कुमार, पदमश्री डा. दिगम्बर बेहरा भाग लेंगे।
 इस कांफ्रेंस का आयोजन डॉ. एस. के. लुहाडि़या, विभागाध्यक्ष वक्ष एवं क्षय रोग विभाग, गीतांजली मेडिकल कॉलेज की अध्यक्षता में गठित आयोजन समिति द्वारा किया जा रहा है। इस समिति में मुख्य संरक्षक जे.पी.अग्रवाल, संरक्षक डॉ. लाखन पोसवाल, डा. महेन्द्र कुमार बैनारा व् डॉ.अतुल लुहाडि़या आयोजन सचिव, डा. ऋषि कुमार शर्मा कोषाध्यक्ष, डा. गौरव छाबड़ा, डा. शुभकरण शर्मा ,डा. अमित गुप्ता, डा. नितिन जैन, डा. महेश माहिच,डा.जी. एल. डाड़, डा. दिवाक्ष ओझा आदि प्रमुख हैं।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web