3rd National Wheelchair Cricket Championship from 27

तीसरी राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चैम्पियनशिप 27 से

तीसरी राष्ट्रीय व्हीलचेयर क्रिकेट चैम्पियनशिप 27 से

16 टीमों के 300 खिलाड़ियों का उदयपुर पहुंचना आरम्भ

 
narayan seva

उदयपुर, 24 नवम्बर 2022। दिव्यांगों की सेवा-पुनर्वास में 38 साल से जुटी नारायण सेवा संस्थान, उदयपुर (राज.) डिफरेन्टली एबल्ड क्रिकेट कौंसिल ऑफ इण्डिया व व्हीलचेयर क्रिकेट इण्डिया एसोसिएशन के साझे में 27 नवम्बर से 3 दिसम्बर तक झीलों की नगरी उदयपुर में तीसरी राष्ट्रीय व्हीलचेयरर क्रिकेट चैम्पियनशिप - 2022 का आयोजन होगा।

नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशान्त अग्रवाल ने बताया कि हमारे दिव्यांग भाईयों में खेलों के प्रति रूचि पैदा करने और देश के समग्र विकास में उनकी भूमिका सुनिश्चित करने के लिए संस्थान हर वर्ष विभिन्न खेलों का आयोजन करता है। इस व्हीलचेयर क्रिकेट चैम्पियनशिप में राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखण्ड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बड़ौदा, गुजरात, मुम्बई, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश व तेलंगाना की कुल - 16 टीमों के 300 से अधिक व्हीलचेयर खिलाड़ी भाग ले रहे है जो 25 नवम्बर यानि आज से ही उदयपुर पहुंचना शुरू होंगे। कुछ खिलाड़ी ट्रेनों से आ रहे है तो कुछ वायुयान से।

साथ ही चैम्पियनशिप की सफलता और व्यवस्था में 100 से ज्यादा खेल अधिकारी भी आ रहे हैं। इन सबके लिए संस्थान ने 80-90 साधकों की टीम का गठन किया है। इस चैम्पियनशिप के संयोजक रविश कावड़िया रहेंगे। इस समारोह में प्रभारी रोहित तिवारी, विष्णु शर्मा हितैषी, भगवान प्रसाद गौड़ एवं बंशीलाल मेघवाल मौजुद रहे। 

उद्घाटन समारोह - आरसीए ग्राउण्ड में-

इस राष्ट्रीय खेल कुंभ का उद्घाटन समारोह सूरजपोल रोड स्थित राजस्थान कृषि महाविद्यालय (आरसीए) के ग्राउण्ड में रखा गया है। समारोह के दिन 10-10  ऑवर का मैच खेला जाएगा। खेल स्पर्धा को देखने वाले लोग, दिव्यांग खिलाड़ियों के जोश-हौसले का आनन्द उठाने के साथ चकित भी होंगे। व्हीलचेयर पर बैटिंग-बोलिंग और फिल्डिंग करना कई लोगों के लिए बिल्कुल नया और पहला अवसर होगा। राणा प्रतापनगर रेल्वे ग्राउण्ड व डबोक स्थित नारायण पैरा स्पोर्ट्स एकेडमी ग्राउण्ड पर भी लीग मैच होंगे।

उद्घाटन में अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी और अतिथि शरीक होंगे-

चैम्पियनशिप के उद्घाटन समारोह में राज्य आयुक्त विशेष योग्यजन, राजस्थान राज्य खेल परिषद के सचिव, अधिकारी सहित पैरालिम्पिक में स्वर्ण पदक विजेता व अन्तर्राष्ट्रीय प्लेयर व मंत्रीगण इन दिव्यांग खिलाड़ियों का हौसला अफजाई करेंगे।

संस्थान का चैथा नेशनल आयोजन-

नारायण सेवा संस्थान दिव्यांगों को खेल जगत में मुकाम दिलाने के लिए दो बार नेशनल पैरा स्वीमिंग का आयोजन क्रमशः 2017 व 2022 में कर चुका है तथा एक बार नेशनल ब्लाइंड क्रिकेट प्रतियोगिता करवा चुका है। जिसमें भी विभिन्न राज्यों के सैकड़ों दिव्यांगों ने अपना दमखम दिखाकर लोगों के दिल जीत लिए थे।

कुल 27 मैच होंगे-

डीसीसीआई के संयुक्त सचिव अभय प्रताप सिंह ने बताया कि व्यवस्थित और निर्धारित कार्यक्रमानुसार आयोजन सम्पन्न कराने के लिए संस्थान के साथ विभिन्न कमेटियां गठित की गई हैं। जिससे डीसीसीआई और नारायण सेवा संस्थान के अधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल संभव होगा। संस्थान द्वारा विभिन्न क्षेत्रों से आए दिव्यांग क्रिकेट्र्स को बेहतरीन एवं सुविधाजनक आवास, भोजन और यातायात सुविधाएं प्रदान की जा रही  हैं।

 
16 टीम को 4 ग्रुप में बांटा गया है :-

ग्रुप (ए) मध्य प्रदेश, बड़ौदा, हरियाणा, कर्नाटक
ग्रुप (बी) राजस्थान, गुजरात, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश
ग्रुप (सी) उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना
ग्रुप (डी) पंजाब, छत्तीसगढ़, मुम्बई, दिल्ली

24 लीग, 2 सेमीफाइनल सहित 27 मैच

व्हीलचेयर क्रिकेट के लीग मैच 28 नवम्बर से 01 दिसम्बर तक चलेंगे। प्रत्येक ग्राउण्ड पर प्रतिदिन 2 मैच होंगे यानि हर रोज 6 मैच सम्पन्न होंगे। 1 दिसंबर को ग्रुप ए वर्सेस गु्रप डी विनर से और 2 दिसंबर को ग्रुप बी वर्सेस ग्रुप सी विनर से सेमीफाइनल खेले जायेंगे।

उन्होंने कहां - अभय प्रताप सिंह - स्ववेड्रन लीडर व्हीलचेयर पर आने से पहले लोग जीवन को समाप्त प्रायः मानते थे। लेकिन दिव्यांगों को हरक्षेत्र में अपने प्रतिभा दिखाने के लिए भारत में बहुत कुछ हुआ। लेकिन अब भी इस दिशा में बहुत काम शेष है। दिव्यांग खेलों को बढ़ावा देने के लिए सुविधाओं की बहुत ज्यादा आवश्यकता है। ताकि वे हौसलों की उड़ान भर सकें।
 

विश्व दिव्यांगता दिवस पर फाइनल के साथ समापन समारोह

अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांगता दिवस 3 दिसम्बर को फाइनल मैच खेला जाएगा और समापन समारोह में विजेता टीम को ट्रोफी और बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों को सम्मानित किया जाएगा। देखना होगा कि पंजाब अपनी बादशाहियत कायम रखती है या फिर कोई ओर करेगा ट्रॉफी पर कब्जा।

इण्डिया टीम जैसी होगी जर्सी

16 टीम और खेल प्रबंधन के अधिकारियों की जर्सी का रंग व डिजाइन भी आकर्षण का केन्द्र होगा। दिव्यांग खिलाड़ियों की जर्सी की बनावट में इसका विशेष ध्यान रखा गया है कि उन्हें खेल के दौरान किसी भी तरह की असुविधा न हो। चैम्पियनशिप का समर्थक राजस्थान राॅयल्स इन खिलाडियों के मनोबल को बनाए रखने के लिए विभिन्न तरह से सहयोग करेगा।
 

विजेता टीम को 2.50 लाख

यह चैम्पियनशिप दिव्यांग क्रिकेट्र्स के लिए एक राष्ट्रीय मंच तो है ही साथ ही उन्हें आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने का एक रचनात्मक अवसर भी है। चैम्पियन (विजेता) टीम को रोलिंग ट्रॉफी के साथ 2.50 लाख रूपये जबकि उप-विजेता टीम को 1.50 लाख रूपये नकद पुरस्कार रूवरूप प्रदान किए जाएंगे। दोनों सेमीफाइनल की उप-विजेता टीमों को 50-50 हजार रूपये नकद का पुरस्कार दिया जाएगा।  रोलिंग ट्रॉफी गत विजेता पंजाब के पास है।  

20 यार्ड का पिच और 40-45 मीटर की बाउंड्री

भारतीय व्हीलचेयर क्रिकेट टीम के कप्तान  सोमजीत  सिंह बताया कि दिव्यांगों के क्रिकेट के नियम दो बदलावों के साथ सामान्य ही हैं। इसमें पिच 20 यार्ड का और बाउंड्री 40-45 मीटर की होती है। जबकि संकलांग क्रिकेट में पिच 22 यार्ड का और बाउन्ड्री 60 मीटर की होती है। नारायण सेवा संस्थान के सहयोग से दो साल बाद हो रही नेशनल व्हीलचेयर क्रिकेट प्रतियोगिता सामान्य क्रिकेट की तरह ही रोमांचक होगीं। इसमें भी खिलाड़ियों के बल्ले से चैके-छक्कों की बारिश देखने को मिलेगी। बॉलर भी कलात्मक गेंदबाजी से खिलाड़ियों को दिखायेंगे पेविलियन का रास्ता। व्हील चेयर पर क्रिकेट्र्स रन बटोरेंगे और फिल्डिंग भी करेंगे। उन्होंने कहां - सोमजीत सिंह - इंडियन टीम कप्तान एक समय था जब व्हील चेयर पर क्रिकेट को असंभव और हास्यास्पद माना जाता था किन्तु आज व्हील चेयर क्रिकेट की राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में 16 टीमें मैदान में उत्तर रही है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web