Priest Navaratna condition very critical, 80 percent scorched body

पुजारी नवरत्न की हालत बेहद गंभीर, 80 फीसदी झुलसा शरीर

पुजारी नवरत्न की हालत बेहद गंभीर, 80 फीसदी झुलसा शरीर 

पुजारी की पत्नी की हालत में भी सुधार नहीं

 
p

राजसमंद में 20 नवंबर की रात पेट्रोल बम के हमले में बुरी तरह झुलसे 75 वर्षीय पुजारी नवरत्न प्रजापत की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच लड़ रहे हैं। सांस लेने में तकलीफ होने पर इन्हें ऑक्सिजन पर रखा गया है। गुरुवार शाम से इनकी बॉडी का मूवमेंट बहुत कम हो गया। परिवार से भी अब बातचीत नहीं कर पा रहे हैं। हालत बिगड़ती देख दो दिन पहले ही इन्हें वार्ड से आईसीयू में शिफ्ट किया था। हालत में कोई सुधार नहीं होने पर उनके परिजनों की चिंता बढ़ती जा रही है उनको हालत देखी नहीं जा रही। वे डॉक्टर से उन्हें बचाने की गुजारिश कर रहे हैं।

20 नवंबर को पुजारी और उनकी पत्नी को जिंदा जलाने के लिए करीब 10 हमलावरों ने पेट्रोल बम से हमला किया था। मामला राजसमंद में देवगढ़ का है। हमले में पुजारी नवरत्न प्रजापत का शरीर करीब 80 फीसदी झुलस चुका था। वहीं, उनकी पत्नी भी 35 फीसदी झुलस गई।

इधर, पुजारी की पत्नी की हालत में भी सुधार नहीं
एमबी हॉस्पिटल के बर्न वार्ड में भर्ती उनकी पत्नी जमनादेवी की हालत में भी कोई सुधार नहीं हो रहा है। हमले में उनका दायां पैर, दोनों हाथ और चेहरा बुरी तरह झुलस चुका था। वे दो दिन से ठीक से उठ और बैठ नहीं पा रही हैं। परिजनों के अनुसार जमनादेवी की हालत और बिगड़ रही है। एमबी हॉस्पिटल के बर्न वार्ड में भर्ती उनकी पत्नी जमनादेवी की हालत में भी कोई सुधार नहीं हो रहा है। हमले में उनका दायां पैर, दोनों हाथ और चेहरा बुरी तरह झुलस चुका था। बर्न वार्ड में बिना कैप और मास्क के प्रवेश, संक्रमण फैलने का डर बर्न वार्ड के बाहर गेट पर लिखा है कि बिना कैप और मास्क के प्रवेश नहीं है लेकिन इसके बावजूद परिजन व मरीज से मिलने आने वाले लोग बिना मास्क व कैप के अंदर जा रहे हैं। इससे संक्रमण फैल रहा है जो भर्ती मरीजों के लिए बेहद गंभीर परेशानी खड़ी कर रहा है। यहां कोई रोक-टोक नहीं है।

a

20 नवंबर को हमले में झुलसे दंपत्ती को राजसमंद से जब एमबी हॉस्पिटल में रैफर करके लाया गया था। तब उदयपुर संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट और आईजी प्रफुल्ल कुमार देखने पहुंचे थे। उन्होंने परिजनों को ये आश्वासन भी दिया था कि वे दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे लेकिन अभी तक कार्रवाई नहीं की गई।

जमीन विवाद को लेकर किया था पेट्रोल से हमला
राजसमंद में देवगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र में नेशनल हाईवे-8 कामली घाट स्थित एस्सार पेट्रोल पम्प के सामने मंदिर की जमीन है। इस जमीन पर लंबे समय से विवाद चल रहा है। जिसको लेकर 20 नवंबर रात करीब 8:30 बजे 10 से 12 लोग पुजारी परिवार की दुकान में घुसे और पुजारी व उनकी पत्नी पर पेट्रोल बम फेंक दिया। इससे वे बुरी तरह झुलस गए थे। आसपास ग्रामीणों ने पानी और मिट्टी डालकर आग बुझाई। तब तक बदमाश भाग चुके थे।

एमबी हॉस्पिटल अधीक्षक डॉ. आर.एल.सुमन ने बताया कि मरीज की हालत बेहद सीरियस है सांस लेने में तकलीफ है। पहले से वे डायबिटीज व किडनी मरीज हैं ऐसे में दिक्कत और ज्यादा होती है। हमने सर्जन, कॉर्डियोलॉजिस्ट, फिजिशियन की टीम लगा रखी है। हम पूरा ध्यान रखने की कोशिश कर रहे हैं

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on  GoogleNews | WhatsApp | Telegram | Signal

From around the web