पेट्रोल बम के हमले में झुलसे पुजारी की एम बी हॉस्पिटल में मौत

पेट्रोल बम के हमले में झुलसे पुजारी की एम बी हॉस्पिटल में मौत 

पुजारी और उनकी पत्नी को जिंदा जलाने के लिए करीब 10 हमलावरों ने पेट्रोल बम से किया था हमला 

 
a

 राजसमंद जिले के देवगढ़ इलाके में 20 नवंबर को मंदिर के पुजारी के साथ हुए हादसे में 6 दिन के इलाज के बाद आज शनिवार को दौराने इलाज उनकी मृत्यु हो गई।

जानकारी के अनुसार पुजारी नवरत्न प्रजापत पर मंदिर परिसर से जुड़े विवाद के चलते कुछ लोगों ने उनके घर में घुसकर उन पर पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी, घटना के दौरान नवरत्न और उनकी पत्नी दोनों ही घायल हो गए। घटना के दौरान जहां नवरत्न जहां 80% जल गए वहीं उनकी पत्नी भी 20% प्रतिशत जल गई जिन्हें क्षेत्र के ही हॉस्पिटल में इलाज के लिए ले जाया गया और देर रात्रि उन्हें उदयपुर के एमबी चिकित्सालय में रेफर कर दिया गया।

प्रजापत के बेटे मुकेश प्रजापत ने बताया कि 20 नवंबर की रात वह अपने किराने की दुकान बंद करके अपने घर आए और अपने माता-पिता के साथ खाना खा रहे थे अभी कुछ लोग जिनमें कुछ लोग गांव के और कुछ लोग बाहर के शामिल थे वह घर में घुसे उन्होंने मुकेश को पकड़कर साइड में रस्सी से बांधकर डाल दिया और उनके पिता नवरत्न पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। उनकी मां को भी जल्दी से गंभीर चोट आई। घटना के तुरंत बाद ही सभी आरोपी मौके से फरार हो गए रस्सी से बंधे मुकेश ने जैसे-तैसे खुद को रस्सियों से मुक्त कराया और अपने पड़ोसियों की मदद से अपने माता पिता को हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। गंभीर चोट को देखते हुए स्थानीय हॉस्पिटल ने उन्हें बेहतर इलाज के लिए उदयपुर के एमबी चिकित्सालय में रेफर कर दिया। तभी से नवरत्न और उनकी पत्नी एमबी चिकित्सालय में इलाज रहा था।

उदयपुर के एमबी चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ अंशुमन ने बताया था कि नवरत्न की स्थिति गंभीर है। सीनियर डॉक्टर्स की टीम उनका इलाज कर रही है, लेकिन डॉक्टर के सभी प्रयासों के बावजूद 26 तारीख की शोभा नवरत्न अपनी आखिरी सांस ली। नवरत्न के बेटे मुकेश ने बताया था कि उनके पिता पर मंदिर की जमीन से जुड़े विवाद के चलते कुछ लोगों ने हमला किया था।

 मुकेश ने मीडिया से बात करते हुए स्थानीय विधायक और सरपंच पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। फिलहाल अब नवरत्न के सबका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम किया जाएगा, घटना की जानकारी मिलते ही उदयपुर के सभी आला अधिकारी, राजसमंद के पुलिस विभाग के भी अला अधिकारी उदयपुर मोर्चरी पहुंच गए हैं। कुछ ही देर में नवरत्न के शव का पोस्टमार्टम कर उनके परिजनों को सौंप दिया जाएगा. गौरतलब है कि घटना के दिन जब उन्हें बुलाया गया था उसके बाद, संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट, आईजी उदयपुर रेंज प्रफुल्ल कुमार भी मृतक के परिजनों से मिलने हॉस्पिटल पहुंचे थे और हॉस्पिटल प्रशासन को पीड़ित का बेहतर इलाज करने के निर्देश भी दिए थे।
 

 गौरतलब है कि इस मामले में अभी तक 7 लोगों के गिरफ्तार होने की जानकारी है, वही मुर्दा घर के बाहर भी समाज के काफी लोग इकट्ठा हुए हैं और सभी में रोष व्याप्त है मामले को 302 धारा के तहत जांच पड़ताल की जाएगी और जल्द ही उनका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal