राजकीय स्तर पर सम्मानित शिक्षक के समर्थन में आया समाज

राजकीय स्तर पर सम्मानित शिक्षक के समर्थन में आया समाज 

पुराना मामला उछाल कर शिक्षक का सम्मान वापस लेने की मांग का विरोध 

 
bherulal kalal

उदयपुर के एक राजकीय स्तर पर सम्मानित शिक्षक भेरू लाल कलाल की समस्या को लेकर उनके समाज के लोग आज कलेक्ट्री पहुंचे और एसपी से मिलकर भेरूलाल द्वारा दर्ज करवाए गए मामले में जल्द कार्यवाही करने की मांग करते हुए एक ज्ञापन भी सौंपा। 

पेशे से एक शिक्षक है और उदयपुर के काया उच्च प्राइमरी स्कूल के छात्रों को पढ़ाने वाले भेरूलाल कहते है की नवम्बर 2021 में उन्हें शिक्षा की फील्ड में उत्कर्ष सेवाए देने के लिए, मुख्मंत्री और शिक्षा मंत्री द्वारा जयपुर में सम्मानित किया गया। लेकिन उन्होंने सम्मान लेने से मना करते हुए अपने स्कूल में आदिवासी छात्रों के लिए क्लास 5वी से बड़ा कर 8वी तक करने की मांग की और उसको ही अपना सम्मान बताया। उनकी बात को स्वीकार करते हुए सरकार   ने भी स्कूल को अपर प्राइमरी कर दिया। 

लेकिन कुछ समय बाद एक व्यक्ति विशेष द्वारा मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री को ज्ञापन भेज कर सर्म्पक पोर्टल पर उनकी शिकायत की गई जिसमे उनपर छात्रों से अभद्र व्यावर करने का आरोप लगा होना बताकर उनका सम्मान वापस लेने की बात की गई। 

कलाल ने बताया की साल 2008 में उनके खिलाफ कुछ लोगो ने किसी कारण से ये आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया था लेकिन उस मामले में अब एफआर लग चुकी है। फिर भी इतने पुराने मामले को लेकर व्यक्ति विशेष द्वारा शिकायत कर परेशान किया गया। जिसके चलते 25 मार्च 2022 को कानूनी कार्यवाही की मांग की थी। 

उसी दिन सविना थाने में मुकदमा संख्या 116 दर्ज कर जांच अधिकारी द्वारा शिक्षक, गवाहों के बयान व विभिन्न सबूत ले लिये गये थे। इस पुरे प्रकरण से परेशान होकर कलाल का स्वास्थ भी ख़राब हो गया जिसके चलते वो कथित रूप से हॉस्पिटल में भी इलाजरत रहे और उनका कहना है की अभी भी उनका इलाज चल रहा है। 

शुक्रवार को जब इस प्रकरण के बारे में समाज के लोगों को इस बारे में जानकारी मिली तो सभी एसपी ऑफिस पहुंचे जहाँ उन्होंने उचित कार्यवाही की मांग की। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal