बाल विवाह मुक्त उदयपुर बनाने कि दिशा में कल से जिले में संचालित होगा विशेष अभियान

बाल विवाह मुक्त उदयपुर बनाने कि दिशा में कल से जिले में संचालित होगा विशेष अभियान

अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस से 16 अक्टूम्बर 2022 तक उदयपुर में चलेगा विशेष अभियान

 
child labour

उदयपुर 10 अक्टूबर 2022। अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातनाम एंव नोबल पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी के आव्हान पर पूरे राष्ट्र में ‘‘बाल विवाह मुक्त भारत‘‘ अभियान का संचालन किया जाएगा। इसी दिशा में उदयपुर जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में गायत्री सेवा संस्थान, उदयपुर कल दिनांक 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर 2022 तक उदयपुर जिले में बाल विवाह की रोकथाम एंव जन-जारूकता हेतु विशेष अभियान का संचालन करने जा रहे है।

इस अवसर पर बाल अधिकार विशेषज्ञ एंव अभियान के संयोजक डॉ. शैलेन्द्र पण्ड्या ने जानकारी देते हुए बताया कि जिस प्रकार गत माह में बालश्रम को लेकर बडी कार्यवाही उदयपुर में हुई एंव 70 से ज्यादा दोषियो के खिलाफ कुल 27 एफ.आई. आर. दर्ज हुई, उसी तर्ज पर अब बाल विवाह निषेध अधिनियम, 2006 की उदयपुर जिले में प्रभावी रूप से लागू करने की दिशा में कार्य होगा। 

डॉ. पण्ड्या ने बताया कि जन-जारूकता के साथ-साथ पूरे सप्ताह बाल विवाह की जानकारी मिलने एंव जिनका बाल विवाह हो चूका है एंव यदि वह इसे निरस्त करवाना चाहते है तो इस दिशा में भी जिला प्रशासन उदयपुर के सहयोग कार्य होगा।

गायत्री सेवा संस्थान, उदयपुर के प्रतिनिधी नितिन पालीवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियान की तैयारी को लेकर जिला कलक्टर ताराचन्द मीणा के साथ बैठक करने के साथ ही आज सेक्टर-6 स्थित गायत्री सेवा संस्थान के सभागार में विभिन्न पंचायत समितियो से आए कार्यकत्ताओ के साथ बैठक की गई।

कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन फाउण्डेशन द्वारा उदयपुर में संचालित एक्सेस टू जस्टिस कार्यक्रम की अधिकारी आशिता जैन ने बताया कि कल अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर अभियान का आगाज जनजाति अंचल लसाडिया से करने के साथ समापन 16 अक्टूबर को सराड़ा पंचायत समिति में सांयकालीन विशाल मशाल रैली के साथ किया जाएगा। अभियान से स्थानीय जनप्रतिनिधी, पंचायत के आला अधिकारी, ग्रामीण एंव बच्चे जुड़ेंगे।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal