शिक्षकों ने गैर शैक्षणिक कार्यो से मुक्त करने सहित पांच सूत्रीय मांग को लेकर किया प्रदर्शन

शिक्षकों ने गैर शैक्षणिक कार्यो से मुक्त करने सहित पांच सूत्रीय मांग को लेकर किया प्रदर्शन

प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन

 
teachers protest

उदयपुर 15 सितंबर 2022 । आज राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ के प्रदेश व्यापी चरणबद्ध आंदोलन के तहत प्रदेश के सभी जिला कलेक्ट्रेट कार्यालयों के बाहर शिक्षको ने धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपे। 

चरणबद्ध आन्दोलन के तहत आज उदयपुर जिले के शिक्षको ने जिला कलेक्टरी के बाहर संगठन के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष शेर सिंह चौहान के नेतृत्व में जोरदार प्रदर्शन करते हुए शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यो से मुक्त करने सहित पांच सूत्रीय मांग को लेकर प्रदर्शन कर मुंख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपा।

चौहान ने बताया कि निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिनियम तथा माननीय सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट निर्देश के अनुसार शिक्षको को केवल पांच कामों मे ही लगाने का प्रावधान है, फिर भी प्रशासन शिक्षको को बीएलओ जैसे गैर शैक्षणिक कार्य में पूरी तरह झोंक रखा है जिससे बालकों की पढाई पूरी तरह से बाधित हो रही है जबकि निर्वाचन आयोग ने भी बीएलओ कार्य हेतु शिक्षकों से पहले अन्य राज्य कर्मचारियों कों लगाने का आदेश दे रखा है परन्तु इस आदेश का भी पालन नही हो रहा है। अगर भविष्य में शिक्षको को बीएलओ सहित सभी गैर शैक्षणिक कार्यो से मुक्त नही किया जाता है तो शिक्षक भविष्य में सभी गैर शैक्षणिक कार्यो के बहिष्कार सहित माननीय न्यायालय में गुहार लगाएगे। 

साथ ही टीएसपी से नॉन टीएसपी क्षेत्र में शिक्षकों के समायोजन व तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण करने हेतु राज्य सरकार बार बार आंनलाईन आवेदन तो मांग रही है परन्तु पिछले पन्द्रह बीस साल से इन शिक्षको का ना तो समायोजन किया है और बिना राजनैतिक पहुंच के स्थानान्तरण किए है, इनमें कई शिक्षक अपने सेवानिवृति के नजदीक आ गए है, गंभीर बिमारी से ग्रस्त, विधवा व एकल महिलाए अपने घर से से पांच सौ सात सौ किलोमीटर अपने घर से दूर सेवा देने को मजबुर है। 

सरकारी विद्यालयों में नवसृजित उप प्रधानाचार्य के 50% पद सीधी भर्ती से भरने, प्रबोधक की पुरानी सेवा की गणना करते हुए उनका नाम सामान्य शिक्षक करते हुए समस्त परिलाभ देने व पिछले बीस तीस साल से अपनी सेवाएं मात्र दस हजार रुपए के मानदेय पर पर देने वाले शिक्षाकर्मी व पैरा टीचर को सरकारी सेवा में समायोजित करने तथा पीडी मद से वेतन प्राप्त करने वाले  शिक्षकों का आहरण वितरण अधिकारी एक करने जैसी 5 सूत्री मांगो को शामिल किया। 

प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष शेर सिंह चौहान ने बताया कि  जब तक सभी मांगे पूरी नहीं हो जाती है तब तक प्रदेश भर में चरणबद्ध आंदोलन जारी रहेगा। आगामी  29 सितम्बर को जयपुर में शिक्षा संकुल पर राज्य भर के शिक्षक इन्ही मांगो को लेकर  धरना प्रदर्शन करेगे। 

प्रदर्शन में सतीश जैन , नवीन व्यास, योगेंद्र सिंह भाटी, भेरूलाल कलाल, स्वरूपसिंह शक्तावत, रूप लाल मीणा , महेंद्र सिंह शक्तावत, चन्द्रशेखर परमार, कमलेश शर्मा, ईश्वर सिंह राठौड़, धनेश्वरी वैष्णव, अरविन्द मीणा, सुरेश कलाल, गोपाल लक्षकार, तुलसीराम सुथार, ललित पालीवाल, देवेन्द्र मीणा, राजेन्द्र सिंह शक्तावत, रईस खान, प्रेम सिंह भाटी, अशोक मीणा, बसन्त तिवारी, नानक राम बैरवा आदि सैकड़ो शिक्षक प्रदर्शन में शामिल थे। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal