स्कूटी वितरण कार्यक्रम के दौरान हंगामा

स्कूटी वितरण कार्यक्रम के दौरान हंगामा

कार्यक्रम में आई कुछ छात्राओं ने स्कूटी नहीं मिलने पर नाराजगी जताई और सरकार की इस योजना पर सवाल खड़े कर दिये
 
scooty distribution

उदयपुर 26 दिसंबर 2022 । आज सोमवार को कालीबाई भील स्कूटी वितरण योजना के तहत स्कूटी वितरण कार्यक्रम के दौरान उस वक़्त हंगामा हो गया जब कार्यक्रम में आई कुछ छात्राओं ने स्कूटी नहीं मिलने पर नाराजगी जताई और सरकार की इस योजना पर सवाल खड़े कर दिये। 

इस मोके पर कार्यक्रम में मौजूद सेमारी गांव की रहने वाली छात्रा सपना मीणा ने बताया की दो दिन पूर्व उन्हें स्कूटी मिलने की जानकारी दी गई थी और कार्यक्रम में आने के लिए कहा गया था, उदयपुर पहुँचने पर उनसे कई कागजों पर साइन करवाए गए, स्कूटी की आरसी भी उनके नाम पर बन गई फिर भी आज जब वो यहाँ आई तो अचानक से स्कूटी की चाबी और आरसी दोनों छीन लिए गए और स्कूटी रखवा दी गई। 

उनका कहना है की जब 10 वी क्लास में उन्हें स्कूटी मिली थी और जब उन्होंने इस बार फॉर्म भरा तो उन्हें क्यों नहीं रोका गया, आज जब वो अपना समय बिगाड़ कर यहाँ आई तो अचानक से उनसे स्कूटी ले ली गई। साथ ही उन्होंने उनके खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज करवाने की धमकी देने की भी बात कही है।  

उनका कहना है की उन्हें जानकारी मिली है की जिस छात्रा को एक बार स्कूटी मिल जाती है उसे दोबारा नहीं दी जाती लेकिन अगर उसे 12वी क्लास में भी 75% नंबर है तो उसे आवेदन करने पर 40 हज़ार रूपए का चेक मिलता है। इसके मद्देनजर उन्हें या तो चेक दें या फिर स्कूटी। 

वहां मौजूद एक और छात्रा दिव्या मीणा ने कहा की जब वो कार्यक्रम में आई थी तब तो उन्हें स्कूटी दे दी गई थी, लेकिन फिर अचानक से वापस ले ली गई और पूछने पर कोई वजह भी नहीं बताई गई जो की बिलकुल गलत है, इसके बाद से सभी छात्रा परेशान है और उनका रो-रो कर बुरा हाल है। कुछ छात्राओं का आरोप हैं की उनके खिआफ एफआईआर भी दर्ज करवा दी गई है जिसको तुरंत हटवाया जाए और अगर स्कूटी के लिए वो एलिजिबल हैं तो स्कूटी नहीं तो 40 हज़ार रूपए नकद जो भी प्रावधान के मुताबिक हो उन्हें मिलना चाहिए। 

तो वहीँ इस स्कूटी वितरण योजना के नोडल अधिकारी बी.एस मंदोवरा का कहना था की काली बाई भील स्कूटी वितरण योजना के तहत उदयपुर की कुल 589 छात्राओं को स्कूटी दी जानी थी, जिसके चलते 21 स्कूटीयां 23 दिसंबर को प्रभारी मंत्री रामलाल जाट द्वारा महाविद्यालयों की छात्राओं को किया जा चूका था और बाकी 530 छात्राओं को सोमवार को स्कूटी वितरण होना था, जिसका आयोजन मीरा कन्या महाविधालय स्पोर्ट्स ग्राउंड पर किया गया था। 

इस दौरान पाया गया की कुछ छात्राओं को पहले ही 10वी क्लास में स्कूटी मिल गई है, जिस पर उन्हें स्कूटी नहीं दी गई। अब ऐसे में कुछ छात्राओं की आपत्तियां आई है जिन्हें आगे भेजा जाएगा, उन्होंने कहा की अभी तक कुल 38 आपत्तियां मिली है जिन्हें स्कूटी न दे कर प्रावधान के अनुसार 40 हजार रूपए की राशी दी जाएगी जो या तो सीधा उनके बैंक अकाउंट में ही ट्रान्सफर की जाएगी या फिर चेक के रूप में डी जाएगी। 

हालाँकि अब इन छात्राओं से वापस ली गई स्कूटी का इन्ही के नाम पर आरसी होने के बाद क्या होगा? क्या यह स्कूटीयां किसी और छात्राओं को दे दी जाएगी या फिर? क्या जिन छात्राओं से स्कूटी वापस ली गई है उन्हें प्रावधान के मुताबिक 40 हजार रूपए की राशी दी जाएगी ?

जानकारी के अनुसार कालीबाई एक 16 वर्षीय छात्रा थी। अंगेजो से अपने शिक्षक की रक्षा करते हुए वो शहीद हो गईं, उन्ही की याद में सरकार द्वारा कालीबाई भील स्कूटी वितरण योजना चालाई जाती है जिसके तहत 10वी क्लास में टीएडी और 12 वी क्लास में सामाजिक न्याय के तहत न्यूनतम 75% अंक हासिल करने वाली छात्राओं को स्कूटी दी जाती है। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web