"आधुनिक युवाओं के लिए आध्यात्मिकता" विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया

"आधुनिक युवाओं के लिए आध्यात्मिकता" विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया

आध्यात्मिकता विकल्प नहीं आवश्यकता: 'मदन गोविन्द दास'

 
FMS

प्रबंध अध्ययन संकाय, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय द्वारा "आधुनिक युवाओं के लिए आध्यात्मिकता" विषय पर एक विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस व्याख्यान के मुख्य वक्ता इस्कॉन कॉन्वे, उदयपुर के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मदन गोविंद दास जी थे।

व्याख्यान का उद्देश्य आधुनिक युवाओं के लिए आध्यात्मिकता के महत्व पर प्रकाश डालना था। गोविंद दास जी ने भौतिकवादी व्यक्ति बनने के बजाय अध्यात्मवादी व्यक्ति कैसे बनें, इस बारे में अपने बहुमूल्य अनुभव और ज्ञान को साझा किया। प्रबंध अध्ययन संकाय की निदेशक प्रो. मीरा माथुर ने स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि यह विषय आज के छात्रों के लिए भविष्य की चुनौतियों का सामना करने में उपयोगी होगा। संकाय के कोर्स डायरेक्टर प्रो. हनुमान प्रसाद द्वारा भी छात्रों को अध्यात्म के लिए प्रेरित किया गया , ताकि छात्र इसे अपने वास्तविक जीवन में ला सकें |

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता ने मन-शरीर-आत्मा की बारीकियां साझा की जिसे छात्र अपने सामान्य जीवन में अमल कर एक आध्यात्मिक व्यक्ति बन सकें | उन्होंने कहा कि छोटी उम्र से ही आध्यात्म सीखना चाहिए एवं आध्यात्म के बिना कोई नैतिकता नहीं है, आध्यात्मिकता कोई विकल्प नहीं है यह आवश्यक है| आत्मा के बिना हमारा शरीर चालक के बिना कार के समान है| कार्यक्रम का संचालन संकाय की रानू नागोरी द्वारा किया गया| व्याख्यान में कॉन्वेय के तनय मंडोवरा सहित संकाय की डॉ. सोनू नागोरी, डी. एस मेनारिया, जयंत आदि के अलावा 100 से अधिक छात्र उपस्थित रहे ।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal