Fake Police Officer बन Cyber Fraud करने वाला आरोपी गिरफ्तार


Fake Police Officer बन Cyber Fraud करने वाला आरोपी गिरफ्तार

Online FIR Download कर फरियादी को फोन कर ठगता था
 
Fake Police Officer arrested Chittorgarh
UT WhatsApp Channel Join Now
District Cyber Cell & Sadar Police Station team  की संयुक्त कार्यवाही

चित्तौड़गढ़, 25 जून- जिले में घटित अपराध पर दर्ज होने वाली FIR online होने पर Cyber Fraud द्वारा Online Apps के माध्यम से FIR को डॉउनलॉड करके पुलिस अधिकारी बन फरियादी को मामले में अच्छी कार्यवाही करने का झांसा देकर Cyber Fraud करने वाले एक आरोपी को Distrcit Cyber Cell and Sadar police station की  संयुक्त कार्यवाही करते हुए एमपी-यूपी बॉर्डर पर स्थित अस्तारी गांव से गिरफ्तार किया है।

पुलिस से बचने के लिए आरोपी ने फर्जी मोबाईल सिम व फर्जी बैंक अकाउंट खुलवा रखे थे। 

SP Chittorgarh Sudhir Joshi ने बताया कि ओछडी थाना सदर चित्तौडगढ निवासी भैरुलाल गाडीया लौहार ने सदर थाने पर दी एक रिपोर्ट जिसमे बताया कि उसके बेटे विक्रम ने सदर थाने में एक परिवाद दर्ज करवाया था। उस परिवाद पर कार्यवाही के नाम पर अज्ञात मोबाईल नम्बर से फोन कर कॉलर पुलिस अधिकारी व जनप्रतिनिधी के नाम लेकर अच्छी कार्यवाही कराने का झांसा देकर 10 हजार रुपये की मांग कर रहा था। वह उसके मोबाइल पर अनजान नम्बर से फोन कर बोला कि वह पुलिस अधिकारी एसपी कार्यालय चित्तौडगढ़ से बोल रहा हैं।

उनके द्वारा दर्ज परिवाद में कोई कार्यवाही नहीं हुई हैं, जिसमें मुल्जिमों को अरेस्ट कर हवालात में डालने की बात कर खर्चा मांगने लगा, जिसके लिए लगातार फोन कर फोन पे नंबर पर पैसे डलवाने की बात कर रहा है। धोखेबाज ने स्वयं पुलिस का अनुसंधान अधिकारी बन अनुसंधान में मदद करने की भी बात कही। 

इसी तरह के कई मामले ज़िले में दर्ज कराई एफआईआर के फरियादियों से उसी अज्ञात नम्बर से फोन कर अच्छी कार्यवाही कराने के नाम पर पैसे मांगे जा रहे है।

मामले की गम्भीरता को देखते हुए ऐसे Cyber Fraud को पकडने के लिए Additional Sp Parbat Singh, Deputy SP TEJ Kumar Pathalk के supervision में ज़िले की Cyber Cell and Sadar Police Station Team का गठन किया गया। गठीत टीम द्वारा तकनीकी रुप से अनुसंन्धान करते हुए उक्त साईबर फ्रॉड कइस मामले की जानकारी जुटाई। धोखेबाज एमपी, युपी बोर्डर के जिला निवाडी (एमपी) का होना पाया गया। जिस पर police team द्वारा उनके संदिघ्ध ठिकानों पर दबिश देकर एक साईबर धोखेबाज मध्यप्रदेश के निवाडी जिले के अस्तारी गांव निवासी 25 वर्षीय कोशल यादव को अस्तारी से डिटेन कर गिरफ्तार किया गया।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस से बचने के लिए आरोपी ने फर्जी मोबाईल सिम व फर्जी बैंक अकाउंट खुलवा रखे थे। पुलिस ने ये भी बताया की अस्तारी गांव में कई लोग इस प्रकार के अपराध में लिप्त होकर उनके खिलाफ धोखाधड़ी के कई प्रकरण दर्ज हैं। आरोपी स्वयं मामले का अनुसंधान अधिकारी बन अनुसंधान में मदद करने की बात भी करके फरियादियों से ठगी करता हैं।

SP ने की आमजन से अपील 

SP Chittorgarh Sudhir Joshi आमजन से अपील कर कहा कि CYBER FRAUD करने वाले ठग अपने आप को किसी पुलिस थाने का अनुसंधान अधिकारी, पुलिस अधीक्षक कार्यालय का कर्मचारी या अन्य पुलिस अधिकारी का हवाला देकर प्रकरण में निपटारा करने की बात करें तो तत्काल साइबर पोर्टल 1930, निकटतम पुलिस थानाधिकारी, वृत्ताधिकारी या पुलिस कंट्रोल रूम व्हाट्सएप नंबर 7300453344 से सम्पर्क करें।

वर्तमान में कई तरह के CYBER FRAUD GANG सक्रिय हैं, जिनसे जागरूक रह कर उनके झांसे में न आकर बचने के लिए सतर्कता की जरूरत हैं। उन्होंने बताया कि CYBER FRAUD हर रोज नए नए तरीके अपनाकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। इसलिए अलर्ट रहना जरूरी है। 
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal