शादी में नाच गाना हुआ तो कोई क़ाज़ी या इमाम नहीं पढ़ेगा निकाह

शादी में नाच गाना हुआ तो कोई क़ाज़ी या इमाम नहीं पढ़ेगा निकाह

अंजुमन तालिमुल इस्लाम उदयपुर की बैठक में लिया गया फैसला

 
Anjuman Talimul islam

उदयपुर 6 मार्च 2023। शहर के अंजुमन तालिमुल इस्लाम की बैठक रविवार को अंजुमन चौक की बैठक में कई अहम् फैसले लिए गए जिनमे शादियों में फ़िज़ूलख़र्ची रोकने, नाच गानो पर लगाम लगाने और रमज़ान माह में  टाइम टेबल जारी किया जाएगा। 

शादी में फ़िज़ूलखर्ची और नाच गानो पर लगेगी लगाम 

अंजुमन तालिमुल इस्लाम की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि शादी में रातीजगा, बारात वगैरह में नाच गाना व बैंड बाजा पर सख्ती के साथ पाबंदी रहेगी।  फिर भी अगर कोई शादी में इस तरह की खुराफात करता है तो शहर का कोई भी क़ाज़ी या इमाम उनका निकाह नहीं पढ़ाएगा। 

निकाह के लिए उदयपुर शहर में अंजुमन तालिमुल इस्लाम का निकाह नामा ही मान्य होगा। निकाह पढ़ने वाले क़ाज़ी या इमाम से अपील की गई है कि अंजुमन तालिमुल इस्लाम का निकाहनामा ही इस्तेमाल करे और निकाही रसीद में दिए गए कालम को उर्दू के साथ साथ हिंदी और अंग्रेज़ी में भी पूरा भरे। निकाह नामा मोहल्ले के सदर या सक्रेटरी के पास मौजूद रहेगा। 

इसके अतिरिक्त रमज़ान माह में रोज़े के लिए सभी आलिमो की राय मशविरे से उदयपुर शहर के लिए एक ही टाइम टेबल जारी किया गया है।   

उक्त बैठक में अंजुमन तालिमुल इस्लाम के सदर मुजीब सिद्दीकी, नायब सदर मोहम्मद अशफाक खान एडवोकेट, सेक्रेटरी आबिद खान पठान, नायब  सेक्रेटरी उमर फारुख, खजांची मंज़ूर हुसैन, सहित शहर के औलमा किराम, मस्जिद और विभिन्न मोहल्लो के सदर एवं सेक्रेटरी तथा अन्य पदाघिकारी मौजूद रहे।      

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal